NDTV Khabar

Hajj 2018: हज यात्रा शुरू, अराफात की पहाड़ी पर दुआओं के लिए उठे हाथ

सऊदी अरब में मक्का के पास मीना में रविवार को तरवियाह की रस्म के साथ हज की शुरुआत हो गई. इसमें 19 लाख 66 हजार 461 श्रद्धालुओं ने हिस्सा लिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Hajj 2018: हज यात्रा शुरू, अराफात की पहाड़ी पर दुआओं के लिए उठे हाथ

हज यात्रा

खास बातें

  1. हज यात्रा शुरू हो गई है
  2. अराफात की पहाड़ी पर दुआएं मांगी गई
  3. सऊदी अरब हज के लिए मुफ्त स्लीपिंग पॉड्स की शुरुआत करेगा.
रियाद: Hajj pilgrimage in Saudi Arabia: सऊदी अरब में मक्का (Mecca) के पास मीना में रविवार को तरवियाह की रस्म के साथ हज की शुरुआत हो गई. इसमें 19 लाख 66 हजार 461 श्रद्धालुओं ने हिस्सा लिया. समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, जनरल अथारिटी फॉर स्टेटिक्स ने सऊदी प्रेस एजेंसी से कहा कि कुल हजयात्रियों की संख्या अराफात के दिन शाम को घोषित की जाएगी. अराफात, हज की सबसे महत्वपूर्ण रस्म है.

अपने खास को ये 10 'ईद मुबारक' मैसेज भेजकर दें बकरीद की बधाई 

हज यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए रस्म संबंधी जगहों के बीच लोगों के परिवहन के लिए व्यापक सुरक्षा योजना बनाई गई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने हज यात्रियों के स्वास्थ्य के लिए 25 अस्पतालों और 155 स्वास्थ्य केंद्रों का सभी स्थलों पर आवंटन किया है. इन 155 केंद्रों की क्षमता 5 हजार बिस्तरों, 180 एंबुलेंस और 100 वाहनों की है.

अराफात पहाड़ी पर इकट्ठा हुए जायरीन
सालाना हज के आखिरी चरण के लिए मुस्लिम जायरीन सऊदी अरब के माउंट अराफात की पहाड़ी में एकत्र हुए. सोमवार तड़के ही करीब 20 लाख जायरीन यहां दुआ मांगने के लिए एकत्र हुए. माना जाता है कि माउंट अराफात पर इस दिन दुआ मांगने से जीवन में नई शुरुआत होती है. यह स्थान मक्का से करीब 20 किलोमीटर दूर है.

हज के लिए मुफ्त स्लीपिंग पॉड्स
सऊदी अरब हज के लिए मुफ्त स्लीपिंग पॉड्स की शुरुआत करेगा. हाजी और मुतामेर गिफ्ट चैरिटेबल एसोसिएशन ने कहा कि हजयात्रियों को आगामी छह दिनों के लिए मुफ्त में नींद लेने के लिए 18 से 24 मॉडर्न होटल कैप्सूल पेश किए जाएंगे.

23 नहीं 22 अगस्त को मनाई जाएगी बकरीद, जानिए पहली बार क्यों हुई ऐसी गलती

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, ये मुफ्त स्लीपिंग पाड्स पवित्र शहर मक्का के पास पश्चिमी शहर मीना में होंगे. हर पॉड की लंबाई तीन मीटर से कम और ऊंचाई एक मीटर से ज्यादा है.

टिप्पणियां
पॉड्स में हजयात्री अपने कपड़े बदल सकते हैं, स्नान कर सकते हैं और अपने सामान व कीमती चीजें रख सकते हैं. यह सीमित साधनों वाले हजयात्रियों के लिए एक समाधान है, जो मौकास्थल पर होटल बुक कराने में समर्थ नहीं है, लेकिन उन्हें हज के दौरान फौरी तौर पर आराम की जरूरत होती है.

एक व्यक्ति तीन घंटे तक पॉड्स का इस्तेमाल कर सकता है. जब हजयात्री प्रार्थना के समय उठेंगे तो पॉड्स को किसी दूसरे व्यक्ति को सौंपने से पहले कार्यकर्ता इसकी सफाई करेंगे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement