Happy Dussehra 2020 Date and Time: कब मनाया जाएगा दशहरा ? जानिए, रावण दहन, विजय दशमी का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Happy Dussehra 2020: दशहरा (Dussehra, Dusshera) या विजयदशमी (Vijaydashmi) हिन्‍दुओं का प्रमुख त्‍योहार है. यह असत्‍य पर सत्‍य और बुराई पर अच्‍छाई की विजय का प्रतीक है.

Happy Dussehra 2020 Date and Time: कब मनाया जाएगा दशहरा ? जानिए, रावण दहन, विजय दशमी का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Happy Dussehra 2020 Date and Time: कब मनाया जाएगा दशहरा ? जानिए, रावण दहन, विजय दशमी का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Happy Dussehra 2020: दशहरा (Dussehra, Dusshera) या विजयदशमी (Vijaydashmi) हिन्‍दुओं का प्रमुख त्‍योहार है. यह असत्‍य पर सत्‍य और बुराई पर अच्‍छाई की विजय का प्रतीक है. मान्‍यता है कि भगवान श्री राम (Sri Ram) ने दशमी के दिन 10 सिर वाले अधर्मी रावण (Ravana) को मार गिराया था. यही नहीं इसी दिन मां दुर्गा (Maa Durga) ने महिषासुर नाम के दानव का वध कर उसके आतंक से देवताओं को मुक्‍त किया था. नवरात्रि (Navratri) के नौ दिनों के बाद 10वें दिन नौ शक्तियों के विजय के उत्‍सव के रूप में विजयदशमी (Vijay Dashmi)  या दशहरा (Dussehra) मनया जाती है.

कब है दशहरा ?
शारदीय नवरात्रि के 10वें दिन और दीपावली से ठीक 20 दिन पहले दशहरा आता है. हिन्‍दू कैलेंडर के अनुसार आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की दशमी को विजयदशमी या दशहरे का त्‍योहार मनाया जाता है. इस बार दशहरा 25 अक्‍टूबर 2020 को है. 

Navratri 2020 Day 8: अष्‍टमी के दिन होती है महागौरी की आराधना, जानें पूजा विधि, मंत्र और आरती

दशहरा की तिथि और शुभ मुहूर्त 
दशमी तिथि प्रारंभ: 25 अक्‍टूबर 2020 को सुबह 07 बजकर 41 मिनट से
दशमी तिथि समाप्‍त: 26 अक्‍टूबर 2020 को सुबह 09 बजे तक

विजय मुहूर्त: 25 अक्‍टूबर 2020 को दोपहर 01 बजकर 57 मिनट से दोपहर 02 बजकर 42 मिनट तक.
कुल अवधि: 45 मिनट 
अपराह्न पूजा का समय: 08 अक्‍टूबर 2020 को दोपहर 01 बजकर 12 मिनट से दोपहर 03 बजकर 27 मिनट तक. 
कुल अवधि: 02 घंटे 15 मिनट

Bhojpuri: नवरात्रि पर पवन सिंह के देवी गीत का धमाका, 2 करोड़ से ज्यादा बार देखा गया Video

दशहरा के दिन पूजा की परंपरा

दशहरा का विजय मुहूर्त सर्वकार्य सिद्धिदायक होता है. मान्‍यता है कि शत्रु पर विजय प्राप्‍त करने के लिए इसी समय निकलना चाहिए. विजय मुहूर्त में गाड़ी, इलेक्‍ट्रॉनिक सामान, आभूषण और वस्‍त्र खरीदना शुभ माना जाता है. ऐसा माना जाता है कि इस मुहूर्त में कोई भी नया काम किया जाए तो सफलता अवश्‍य मिलती है. इस दिन शस्‍त्र पूजा के साथ ही शमी के पेड़ की पूजा की जाती है. साथ ही रावण दहन के बाद थोड़ी सी राख को घर में रखना शुभ माना जाता है.

Durga Puja 2020: दुर्गा पूजा के दौरान देवी मां का प्रसन्न करने के लिए क्या चढ़ाया जाता भोग

नवरात्रि से जुड़ी बाकी खबरें...

Navratri 2020: इस फेस्टिवल सीजन घर पर बनाएं संदेश स्वीट, यहां जानें विधि

Kanya Pujan 2020: कन्या पूजन करते समय इन बातों का रखें ध्यान, ऐसे करेंगे पूजा तो होगी शुभ फल की प्राप्ति

अष्टमी और महानवमी पर क्यों किया जाता है कंजक पूजन, इस बार कन्या भोज में बनाएं ये खास व्यंजन

Navratri 2020: जानिए, क्या है देवी दुर्गा द्वारा धारण किए गए विभिन्न शस्त्रों का महत्व ?

Navratri 2020: नवरात्रि व्रत में कैसे बनाएं व्रत फ्रेंडली अरबी कढ़ी? यहां जानें विधि

Navratri 2020 Fast Recipe: नवरात्रि में रखा है नौ दिनों का व्रत, तो जरूर बनाएं 5 मिनट में ये टेस्टी स्नैक्स

Navratri 2020 Kanya Pujan: अष्टमी के दिन ऐसे करें कन्या पूजन, जानें क्या है कंजक पूजा का महत्व और नियम

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com