NDTV Khabar

ये हैं घर में पॉजिटिव एनर्जी को बरकरार रखने के आसान उपाय

सामान्य तौर यदि घर में या घर के आस-पास कोई ऐसी संरचना, पेड़े-पौधे, वस्तु आदि जिनसे नेगेटिव एनर्जी में वृद्धि होती है, तो वह वास्तुशास्त्र के अनुसार गंभीर वास्तुदोष माना जाता है.

1Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ये हैं घर में पॉजिटिव एनर्जी को बरकरार रखने के आसान उपाय
भारतीय वास्तुशास्त्र जिस मौलिक सिद्धांत पर काम करता है, वह है घर और जीवन में पॉजिटिव एनर्जी में वृद्धि और नेगेटिव एनर्जी को नष्ट करना. सामान्य तौर यदि घर में या घर के आस-पास कोई ऐसी संरचना, पेड़े-पौधे, वस्तु आदि जिनसे नेगेटिव एनर्जी में वृद्धि होती है, तो वह वास्तुशास्त्र के अनुसार गंभीर वास्तुदोष माना जाता है. इन वास्तुदोषों को दूर कर घर और जीवन को बुरे प्रभावों से बचाया जा सकता है और पॉजिटिव एनर्जी को बरकार रखा जा सकता है:
  • यदि आप अपने ड्रॉइंगरूम में ताजे फूलों का गुलदस्ता रखते हैं या उसे सजाते हैं, तो ध्यान रखें कि ये सही समय पर बदले जाएं. हो सके तो इन्हें रोज बदलें. वास्तुशास्त्र के अनुसार, जब ये फूल मुरझा जाते हैं तो इनसे घर में नेगेटिव एनर्जी बढ़ने लगती है. 

  • प्राय: घरों में सही चुनाई और प्लास्टरिंग न होने की वजह से कमरों की दीवारों पर सीलन पैदा होने लगती है. भारतीय वास्तुशास्त्र के अनुसार यह शुभ नहीं माना जाता है. सीलन से बनी भद्दी आकृतियां नेगेटिव एनर्जी को बढ़ाती है. इसलिए सुझाव है कि ऐसी दीवारों को जल्द-से-जल्द ठीक करवा लें.

  • घर के आंगन में लगे पेड़-पौधे अगर सूख जाएं, तो उन्हें तुरंत हटवा दें. ये न केवल भद्दे लगते हैं, बल्कि ये पेड़ जीवन की समाप्ति को दर्शाते है और नकारात्मक ऊर्जा में वृद्धि करते हैं.

  • इंटीरियर डेकोरेशन के लिए कुछ ऐसी पेंटिंग और कलाकृतियों का इस्तेमाल किया जाता है, जो मृतप्राय पेड़-पौधों और जीव-जंतुओं के अवशेषों से बने होते हैं. ये सभी मृतप्राय सजावटी कलाकृतियां और वस्तुएं, शंख, सीपी, मूंगा को छोड़कर, वास्तुशास्त्र के दृष्टिकोण से शुभ नहीं माने जाते हैं. इसलिए इनका उपयोग करने बचें.

  • यदि बेडरूम की खिड़की और मकान के मेन गेट से सूखा पेड़, फैक्ट्री की चिमनी से निकलता हुआ धुआं, ट्रांसफॉर्मर आदि जैसे दृश्य दिखाई देते हों, तो इनसे से बचने के लिए खिड़कियों और दरवाजों पर पर्दा डाल दें. ऐसे दृश्य नकारात्मकता में वृद्धि करते हैं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement