NDTV Khabar

आर्थिक परेशानी से राहत देने लिए भारतीय वास्तुशास्त्र में बताए गए हैं ये उपाय

भारतीय वास्तुशास्त्र के अनुसार, घर में टूटे बर्तन नकारात्मक ऊर्जा को बढावा देते हैं और धन-वृद्धि में रुकावट डालते हैं. इसलिए ऐसा करने से बचें. बर्तन को बेच दें. बेहतर यही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आर्थिक परेशानी से राहत देने लिए भारतीय वास्तुशास्त्र में बताए गए हैं ये उपाय

आज हर कोई अच्छे से कमाना चाहता है और साथ ही बचत करना चाहता है. लेकिन वर्तमान जिंदगी में महंगाई के साथ खर्चे इतने अधिक हैं कि लोगों के हाथ में आमदनी, सैलरी आदि कब आती है और कब ख़त्म हो जाती है. पता ही नहीं चल पाता. भारतीय वास्तुशास्त्र में इन समस्याओं से बचाव और निजात के लिए अनेक उपाय बताये गए है. कहते हैं, यदि इन वास्तु टिप्स को उचित तरीके से अपनाया जाए तो ये जातक को अनेक प्रकार की आर्थिक परेशानी में राहत देते हैं.
 
भारतीय वास्तुशास्त्र के अनुसार, सबसे पहले घर में धन कहां रखते हैं, यह तय करना बहुत जरूरी है. धन रखने की जगह का मुंह उत्तर दिशा की ओर होना चाहिए. ऐसे में धन की वृद्धि होती है, ऐसा माना जाता है. यदि घर में नल से पानी टपकता हो, तो नल से टपकते पानी, को दुरुस्त करें. क्योंकि भारतीय वास्तुशास्त्र के अनुसार यदि नल से पानी टपकता है तो आपका धन भी पानी की तरह बह जाता है.
 

भारतीय वास्तुशास्त्र के अनुसार, घर में टूटे बर्तन नकारात्मक ऊर्जा को बढावा देते हैं और धन-वृद्धि में रुकावट डालते हैं. इसलिए ऐसा करने से बचें. बर्तन को बेच दें. बेहतर यही है. घर में पानी कहां से बाहर जाए, यह भी आपके धन की गति पर निर्भर करता है. भारतीय वास्तुशास्त्र के अनुसार, यदि जल निकासी के लिए दक्षिण व पश्चिम स्थान चुनते हैं. तो वास्तु के लिहाज से बेहतर है. कहते हैं, ऐसे में आर्थिक समस्याओं से संबंधित किसी भी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है.
 
आस्था सेक्शन से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.
 
टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement