छत्तीसगढ़ के राजिम कुंभ पर्व के साथ अगले वर्ष जुड़ जाएगा 'कल्प' शब्द

छत्तीसगढ़ के राजिम कुंभ पर्व के साथ अगले वर्ष जुड़ जाएगा 'कल्प' शब्द

फाईल फोटो

रायपुर:

राजिम कुंभ 2016 का शुभारंभ करते हुए छत्तीसगढ़ के धर्मस्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि देश और दुनिया में छत्तीसगढ़ को साहित्यिक और धार्मिक पहचान मिले, इसके लिए सकारात्मक प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि शंकराचार्य स्वामी के आदेश और आशीर्वाद से अब राजिम कुंभ में 'कल्प' शब्द को अगले वर्ष से जोड़ा जाएगा। 

अग्रवाल ने कहा, "राजिम कुंभ की भव्यता और दिव्यता को बढ़ाने का निर्णय हमने लिया है। राजीव लोचन मंदिर से लेकर कुलेश्वरनाथ महादेव के मंदिर व लोमष ऋषि आश्रम तक लक्ष्मण झूला बनाया जाएगा।" 

गांव-गांव में होती है नवधा रामायण
उन्होंने यह भी कहा कि मुरूम की सड़क की वजह से नदी के बिगड़ते हालात की ओर ध्यान आकर्षित कराया गया है। अगले बजट में इसके लिए 20 करोड़ रुपये रखा जा रहा है। उम्मीद है कि धीरे-धीरे यह व्यवस्था ठीक हो जाएगी। 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने यह भी कहा कि छत्तीसगढ़ की धरती एक ऐसी धरती है, जहां भगवान श्री राम ने भ्रमण किया। माता जानकी ने कुलेश्वर मंदिर बनाया। यह रत्नगर्भा धरती है। गांव-गांव में नवधा रामायण होती है। मां कौशल्या की यह जन्मभूमि है। भगवान श्रीराम यहां के भांजा हैं। 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है)