NDTV Khabar

कांवड़ मेला शुरू, तीन करोड़ कांवडियों के लिए हरिद्वार में ऐसे किए गए सुरक्षा इंतजाम

कांवडिए हर साल सावन के महीने में हरिद्वार के मुख्य घाट हर की पौडी तथा अन्य घाटों से पव़ित्र गंगा जल लेने आते हैं और उन्हें अपने गांव या घर के पास शिवालयों में अर्पित करते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांवड़ मेला शुरू, तीन करोड़ कांवडियों के लिए हरिद्वार में ऐसे किए गए सुरक्षा इंतजाम

कांवड़ मेला कल से शुरू होगा, सुरक्षा कड़ी 

हरिद्वार:

वार्षिक कांवड़ मेला सावन के पहले दिन से शुरू हुआ, जिसके मद्देनजर शिवभक्त कांवड़ियों द्वारा प्रयुक्त किये जाने वाले मार्गों पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है. कांवडिए हर साल सावन के महीने में हरिद्वार के मुख्य घाट हर की पौडी तथा अन्य घाटों से पव़ित्र गंगा जल लेने आते हैं और उन्हें अपने गांव या घर के पास शिवालयों में अर्पित करते हैं.

प्रदेश के पुलिस महानिदेशक, कानून और व्यवस्था, अशोक कुमार ने बताया कि कांवड़ियों द्वारा प्रयुक्त किए जाने वाले मार्गों पर करीब दस हजार पुलिस और अर्धसैनिक बल तैनात किये गए हैं. इसके अलावा, बम निरोधी तथा आतंकवादी निरोधी दस्ते की भी तैनाती की गई है.

उन्होंने बताया कि मेला क्षेत्र में चयनित स्थानों पर कडी निगाह रखने के लिये सीसीटीवी तथा ड्रोन कैमरे भी लगाये गए हैं. कुमार ने बताया कि संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखने के लिए मेले के दौरान संवेदनशील स्थानों पर सादे कपडों में भी पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे. बारह अगस्त को संपन्न होने वाले कांवड़ मेले के दौरान इस साल तीन करोड़ कांवडियों के आने की संभावना है.


Sawan 2019: सावन का महीना शुरू, कांवड़ लेकर निकले शिव भक्‍त, बोल बम से गूंज उठा माहौल

भीड नियंत्रण के लिए हरिद्वार को 12 सुपर जोन, 31 जोन और 133 सेक्टरों में विभाजित किया गया है. सेक्टर मजिस्ट्रेटों को संबोधित करते हुए पुलिस अधिकारी ने कांवड़ियों को व्यवस्थाओं तथा मार्गों के बारे में जानकारी देने के लिये उन्हें सोशल मीडिया मंच का भरपूर उपयोग करने के निर्देश दिये ताकि किसी प्रकार का कुप्रबंधन न हो.

हाल में ऋषिकेश में लक्ष्मणझूला को सुरक्षा की दृष्टि से आवागमन के लिए बंद किये जाने के चलते कांवड़ मार्ग में भी थोड़ा बदलाव किया गया है. गढवाल रेंज के पुलिस महानिरीक्षक अजय रौतेला ने बताया कि पैदल जाने वाले कांवड़ियों को रामझूला तथा मौनी बाबा की गुफा से होकर नीलकंठ महादेव के मंदिर तक भेजा जाएगा जबकि वापसी में उन्हें ऋषिकेश बैराज से होकर आना होगा.

टिप्पणियां

लक्ष्मण झूला हुआ बंद, विशेषज्ञ बोले - अब और अधिक भार सहन नहीं कर सकता ये पुल

पुलिस ने शिव भक्तों से शराब या अन्य नशीली चीजों के सेवन से दूर रहने को कहा है. कांवड़ियों से दुपहिया या चारपहिया पर क्षमता से ज्यादा सवारियां बैठाने तथा रेलगाडियों की छतों पर बैठकर सफर करने से भी बचने को कहा है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement