NDTV Khabar

श्रद्धालुओं के लिए केदारनाथ धाम के कपाट खुले, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

छह माह के शीतकालीन अवकाश के बाद केदारनाथ धाम के कपाट श्रद्धालुओं के लिए दोबारा खोल दिए गए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
श्रद्धालुओं के लिए केदारनाथ धाम के कपाट खुले, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

शीतकालीन अवकाश के बाद केदारनाथ धाम के कपाट श्रद्धालुओं के लिए दोबारा खोल दिए गए.

केदारनाथ: छह माह के शीतकालीन अवकाश के बाद केदारनाथ धाम के कपाट श्रद्धालुओं के लिए दोबारा खोल दिए गए. यहां के गर्भ गृह के कपाट को सुबह सवा छह बजे खोला गया. पहले गर्भ गृह की सफ़ाई की गई उसके बाद भगवान शिव का जलाभिषेक किया गया. तड़के 4 बजे से ही यहां पूजन शुरू हो गया था. इस मौक़े पर यहां हज़ारों श्रद्धालु जुटे. इस मौक़े पर उत्तराखंड के राज्यपाल केके पॉल भी मौजूद थे. इन्होंने सबसे पहले दर्शन किए. पहले दिन हज़ारों श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंचे हैं. 
 
इससे पहले, फूलों से सजी पालकी में बाबा केदार की प्रतिमा उनके शीतकालीन प्रवास स्थल उखीमठ के ओंकारेश्रर मंदिर से केदारनाथ लाई गई और वैदिक मंत्रोच्चार के बीच मंदिर के गर्भगृह में स्थापित की गई.
 
kedarnath

केदारनाथ मंदिर के खुलने के मौके पर पिछले साल की भांति इस बार भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आने की संभावना व्यक्त की जा रही थी. हालांकि, माना जा रहा है कि केदारनाथ पुनर्निर्माण और विकास कार्यों का लगातार जायजा ले रहे प्रधानमंत्री मोदी आने वाले दिनों में केदारनाथ आ सकते हैं.

VIDEO : केदारनाथ धाम के कपाट खुले, उमड़ी भक्तों की भीड़


टिप्पणियां
सोमवार को बदरीनाथ मंदिर के कपाट भी श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जायेंगे. वहीं, गढ़वाल हिमालय के चारधामों के रूप में मशहूर अन्य दो धामों गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट पहले ही खुल चुके हैं. चारों धामों के कपाट खुल जाने के बाद चारधाम यात्रा की रौनक और बढ़ने की उम्मीद है. उच्च हिमालयी क्षेत्रों में स्थित चारों धामों के सर्दियों में भारी ठंड और बर्फवारी की चपेट में रहने के कारण उन्हें श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिया जाता है तथा अगले साल अप्रैल-मई में दोबारा खोल दिया जाता है.

(इनपुट : भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement