NDTV Khabar

खाटू श्याम मंदिर में दिखा अनोखा नजारा, 1101 दीपों से बनाया गया ओम, स्वास्तिक और कलश

गुड़ी पड़वा और नए वर्ष के मौके पर मां गोमती के तट पर स्थित खाटू श्याम मंदिर पर दीपों का नजारा मन को मोह लेने वाला था. 

47 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
खाटू श्याम मंदिर में दिखा अनोखा नजारा, 1101 दीपों से बनाया गया ओम, स्वास्तिक और कलश

लखनऊ में हिन्दू नववर्ष की पूर्व संध्या पर 1101 दीपों से बना ओम

नई दिल्ली: नववर्ष के मौके पर खाटू श्याम मंदिर को 1101 दीपों से ओम, स्वास्तिक व कलश के रूप में सजाया गया, जो कि भारतीय संस्कृति को दर्शाता है. मां गोमती के तट पर स्थित इस मंदिर पर दीपों का नजारा मन को मोह लेने वाला था.  

Navratri: क्यों मनाई जाती है चैत्र नवरात्रि? क्या है इसका महत्व और क्यों इसे कहते हैं राम नवरात्रि

भजन संध्या कार्यक्रम में शहर के जाने-माने लोगों ने बढ चढ़ कर उपस्थित होकर भजन कीर्तन का रसपान किया. राजधानी लखनऊ के आकाशवाणी के सुप्रसिद्ध कलाकारों द्वारा एक से बढ़कर एक सुन्दर भजन की प्रस्ततियां दी गई. इस अवसर पर लखनऊ विश्वविद्यालय की प्रो. डॉ. ऊषा बाजपेयी ने भजन संध्या गाकर मंत्र मुक्त कर दिया.

Gudi Padwa 2018: इन मैसेजेस को भेज खुशियों से करें इस नए साल की शुभ शुरुआत

नववर्ष चेतना समिति के अध्यक्ष डॉ. गिरीश गुप्ता ने नववर्ष पर लोगों को बधाई व हिन्दू नववर्ष को पर्व के रूप में मनाने की अपील की और समस्त भारतीयों द्वारा राष्ट्रीय गौरव के प्रतीक भारतीय नव-संवत्सर (चैत्र शुक्ल प्रतिपदा) को मनाने एवं प्राचीन भारतीय मान्यताओं को बनाये रखने पर जोर दिया. (इनपुट - आईएएनएस)

टिप्पणियां
देखें वीडियो - महाराष्ट्र में गुड़ी पड़वा की धूम




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement