माघ मेला में पहली बार अपना शिविर लगाएगा किन्नर अखाड़ा

कुंभ मेला 2019 में पहली बार भाग लेने के बाद, जूना अखाड़े के हिस्से के रूप में सम्मिलित किन्नर अखाड़ा इस साल आगामी माघ मेला 2020 में पहली बार अपना शिविर लगाएगा.

माघ मेला में पहली बार अपना शिविर लगाएगा किन्नर अखाड़ा

किन्नर अखाड़ा ट्रांसजेंडरों की एक धार्मिक मंडली है.

खास बातें

  • किन्नर अखाड़ा माघ मेला में पहली बार अपना शिविर लगाएगा.
  • अखाड़ा 1 जनवरी से 9 फरवरी तक रहेगा.
  • किन्नर अखाड़ा ने कुंभ मेला 2019 में पहली बार भाग लिया था.
नई दिल्ली:

कुंभ मेला 2019 में पहली बार भाग लेने के बाद, जूना अखाड़े के हिस्से के रूप में सम्मिलित किन्नर अखाड़ा इस साल आगामी माघ मेला 2020 में पहली बार अपना शिविर लगाएगा. किन्नर अखाड़ा ट्रांसजेंडरों की एक धार्मिक मंडली है. उन्होंने इस साल की शुरुआत में कुंभ मेला में भी भव्य तरीके से 'देवत्य यात्रा' के जरिए अपनी उपस्थिति दर्ज कराई थी. किन्नर अखाड़ा को सेक्टर पांच में शिविर की अनुमति दी गई है. अखाड़ा के प्रमुख महामंडलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी ने कहा कि अखाड़ा के सदस्य आधिकारिक रूप से मेला शुरू होने के दस दिन पहले यानि 1 जनवरी से शिविर में रहना शुरू कर देंगे. यह अखाड़ा 9 फरवरी तक रहेगा.

इस बार माघ मेला कई मामलों में महत्वपूर्ण है, क्योंकि इस बार संत और ऋषि न सिर्फ हरिद्वार में 2021 में होने वाले कुंभ मेले की तैयारियों पर चर्चा करेंगे, बल्कि प्रस्तावित राम मंदिर और उसके निर्माण की संभावित तारीख पर भी चर्चा करेंगे. वहीं, अखाड़ा सूत्रों का कहना है कि वे सदस्यों के सुरक्षा के लिए अपने शिविर में सीसीटीवी का एक नेटवर्क स्थापित करेंगे.

यह कदम अखाड़ा शिविर में बड़ी संख्या में आने वाले आगंतुकों को ध्यान में रखते हुए उठाया जाएगा. अखाड़ा निजी सुरक्षा गार्ड भी तैनात करेगा जो मेला प्रशासन द्वारा तैनात पुलिस कर्मियों के अतिरिक्त होगा.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com