Krishna Janmashtami पर ऐसे सजाएं ठाकुर जी और उनके झूले को

Krishna Janmashtami: कई लोग बाज़ारों से सोने-चांदी और महंगे मेटल्स का झूला लाते हैं. आप अपने बजट के हिसाब से बाज़ार से झूला लाएं और इस तरह सजाएं.

Krishna Janmashtami पर ऐसे सजाएं ठाकुर जी और उनके झूले को

जन्माष्टमी पर कान्हा जी और उनके झूले को सजाने का शानदार तरीका

नई दिल्ली:

कृष्ण जन्माष्टमी (Krishna Janmashtami) 23 और 24 अगस्त को मनाई जा रही है. इस दिन भगवान श्रीकृष्ण (Krishna) ने रात 12 बजे जन्म लिया था. श्रीकृष्ण भगवान विष्णु के आठवें अवतार हैं. खास भगवान कृष्ण का जन्मदिन मनाने के लिए मंदिरों और कृष्ण भक्तों के घरों में जोरो-शोरों से तैयारियां चलती हैं. माखन-मिश्री के भोग के साथ-साथ तमाम तरह के प्रसाद, फूल, सजावट के सामानों से बाल गोपाल सजे-धजे रहते हैं. बाज़ारों में भी तरह-तरह के कृष्ण जी की मूर्तियां मिलती हैं, जिन्हें उनके भक्त जन्माष्टमी (Janmashtami) के दिन घर में लाते हैं. लेकिन कई भक्त अपने लड्डू गोपाल को खुद अपने हाथों से सजाना पसंद करते हैं. अगर आप भी उन्हीं में से हैं तो दी गई सामग्रियों से अपने कान्हा जी को खुद से सजा सकते हैं. 

Krishna Janmashtami पर इन मैसेजेस से दें कान्हा जी के जन्मदिन की बधाई

झूला सजाने के लिए सामग्री
कई लोग बाज़ारों से सोने-चांदी और महंगे मेटल्स का झूला लाते हैं. आप अपने बजट के हिसाब से बाज़ार से झूला लाएं और इस तरह सजाएं. इसके लिए आपको चाहिए फूल, लाल मखमल या रेशमी कपड़ा, झूला, कान्हा जी का स्थान (कुर्सी), स्थान पर रखने के लिए लाल छोटा तकिया या गद्दा और झूला सजाने के लिए लेस या झालर.

ऐसे सजाएं ठाकुर जी का झूला 
1. बाज़ार से एक झूला लाएं.
2. झूले के बाहरी कोनों पर झालर या लेस लगाएं.
3. अब इस झूले में लाल मखमल या रेशमी कपड़ा बिछाएं.
4. झूले में चारों तरफ फूल फैलाएं. 
5. अब कान्हा जी का स्थान रखें. 
6. स्थान पर छोटा तकिया और गद्दा रखें.
7. अब कान्हा जी को तैयार कर झूले में बैठाएं. 

ठाकुर जी को सजाने के लिए सामग्री
झूला बनाने के साथ-साथ कान्हा जी को भी अपने हाथों से इस तरह सजाएं, यहां पहले नोट कीजिए ठाकुर जी को सजाने के लिए जरूरी सामग्री. कान्हा जी के लिए सुंदर ड्रेस, बांसुरी, पगड़ी, हाथों के कड़े, पैरों की पजेब, पग में लगाने के लिए मोर पंख, माला, टीका और काजल.

ठाकुर जी को ऐसे सजाएं 
1. सबसे पहले कान्हा जी को सुंदर ड्रेस पहनाएं.
2. अब उन्हें सिर पर पगड़ी पहनाएं और उसमें मोर पंख लगाएं.
3. कान्हा जी के हाथों में कड़े डालें और पैरों में पजेब पहनाएं.
4. अब ठाकुर जी को माला पहनाएं.
5. उनके हाथों में बांसुरी लगाएं.
6. चाहें तो ठाकुर जी के माथे पर टीका और आंखों में काजल भी लगा सकते हैं.

संबंधित ख़बरें 
जानिए जन्‍माष्‍टमी की तिथि, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्‍व

इस दिन करें जन्‍माष्‍टमी का व्रत

जन्‍माष्‍टमी के दिन कृष्‍ण को चढ़ाएं इस एक चीज का भोग

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कृष्‍ण की ये बातें संवार देंगी आपकी जिंदगी

जब कृष्ण ने दुर्योधन से कहा - ‘बांधने मुझे तो आया है, जंजीर बड़ी क्या लाया है?'