NDTV Khabar

Kumbh 2019: कुंभ तीर्थयात्रियों को आने-जाने में अब नही होगी दिक्कत, शुरू हुई कैब सेवा

उत्तर प्रदेश सरकार ने यहां जारी कुंभ मेले (Kumbh Mela) के दौरान पर्यटकों और तीर्थयात्रियों को आने-जाने की सुविधा प्रदान करने के लिए देश की प्रमुख आउटस्टेशन टैक्सी कंपनी-गोजो कैब्स के साथ करार किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Kumbh 2019: कुंभ तीर्थयात्रियों को आने-जाने में अब नही होगी दिक्कत, शुरू हुई कैब सेवा

उप्र सरकार ने कुंभ के लिए गोजो कैब्स के साथ किया करार

प्रयागराज:

Kumbh Mela 2019: उत्तर प्रदेश सरकार ने यहां जारी कुंभ मेले (Kumbh Mela) के दौरान पर्यटकों और तीर्थयात्रियों को आने-जाने की सुविधा प्रदान करने के लिए देश की प्रमुख आउटस्टेशन टैक्सी कंपनी-गोजो कैब्स के साथ करार किया है. उत्तर प्रदेश सरकार के पर्यटन विभाग के साथ हुए करार के बाद भारत के 1000 से अधिक शहरों में सक्रिय गोजो कैब्स ने प्रयागराज में जारी 50 दिवसीय कुंभ मेले (Kumbh 2019) के दौरान तीर्थयात्रियों और पर्यटकों के लिए एकमात्र टैक्सी प्रदाता बन गया है. इस साझेदारी के अनुसार गोजो कैब्स का उद्देश्य प्रयागराज तथा आसपास के शहरों और पर्यटन स्थलों तक लाखों पर्यटकों के लिए परिवहन को आसान बनाना है.

Kumbh 2019 Photos: कुंभ मेले के पास मौजूद हैं ये प्रसिद्ध 11 जगहें, जाएं तो घूमें जरूर


तीर्थयात्रियों की बेहतर सेवा करने के लिए, गोजो कैब्स के पास पूरे प्रयागराज में ऑफलाइन बुकिंग सेंटर होंगे, जो उपभोक्ताओं को बुकिंग, पूछताछ और भुगतान के मामले में सहायता प्रदान करेंगे। गोजो कैब्स के प्लेटफॉर्म पर 25,000 से अधिक कैब हैं.

मेले के दौरान, गोजो कैब्स अपने टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म का लाभ उठाते हुए तीर्थयात्रियों और पर्यटकों की भारी संख्या में परिवहन से जुड़ी चुनौतियों का मुकाबला करेंगे. गोजो कैब्स ने किसी भी समस्या का तेजी से समाधान निकालने के लिए समर्पित ऑनलाइन और ऑफलाइन कस्टमर सर्विस टीमों का गठन किया है. तीर्थयात्रियों की जरुरतों को पूरा करने और सभी के लिए सुगम आवागमन सुनिश्चित करने का ध्येय ध्यान में रखते हुए गोजो कैब के ड्राइवरों को प्रशिक्षित किया गया है.

Kumbh Mela 2019 Quiz: क्या महिलाएं नागा साधु बन सकती हैं?

उपभोक्ता मोबाइल ऐप, यूपी टूरिज्म की वेबसाइट और कुम्भ मेला मैदान में इंद्रप्रस्थ टेंट सिटी और संगम टेंट कॉलोनी स्थित ऑफलाइन बुकिंग सेंटर के माध्यम से गोजो कैब्स बुक कर सकते हैं. कुंभ के लिए प्रयागराज की यात्रा करने वालों के लिए गोजो कैब्स ने विशेष पैकेज भी बनाए हैं. इस वर्ष इस 50-दिवसीय कार्यक्रम में 15 करोड़ से अधिक लोगों के भाग लेने की उम्मीद है, जो 32 वर्ग किमी के क्षेत्र में आयोजित हो रहा है है और 4 मार्च तक जारी रहेगा.

उत्तर प्रदेश पर्यटन विकास निगम (यूपीटीडीसी) के प्रबंधक नीरज पाहूजा ने बताया, "हमने भारत भर में गोजो कैब्स की व्यापक पहुंच, उनकी तकनीकी विशेषज्ञता और विभिन्न निकटवर्ती शहरों में भारी मात्रा में मांग के अनुसार टैक्सी उपलब्ध कराने की उनकी क्षमता को ध्यान में रखते हुए उनके साथ साझेदारी करने का फैसला किया है, ताकि हम प्रयागराज में और प्रयागराज के बाहर तीर्थयात्रियों के लिए सुचारू परिवहन सेवा उपलब्ध करा सकें."

गोजो कैब्स के सह-संस्थापक संजय कुमार ने कहा, "हम उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा यह अवसर उपलब्ध कराये जाने से बेहद सम्मानित महसूस कर रहे हैं और इस शुभ आयोजन पर पर्यटकों, आगंतुकों और तीर्थयात्रियों की सेवा के लिए अपनी तकनीक का उपयोग करने के लिए हम उत्साहित हैं. ये सेवा जहां तीर्थयात्रियों के लिए, सस्ती टैक्सी सेवा और परेशानी मुक्त यात्रा सुनिश्चित करेगी वहीं ड्राइवरों के लिए, उनकी कमाई को बढ़ावा देने के लिए अपने वाहनों का कुशलतापूर्वक उपयोग करने का अवसर प्रदान करेगी. यात्री हमारे प्लेटफार्म पर निजी सेवा के अलावा साझा सेवा (गोजोशेयर) के लिए भी टैक्सी बुक कर सकते है जो शहरों के बीच किफायती परिवहन को सक्षम कर सकेगी." 

कुंभ से जुड़ी खबरें पढ़ें यहां

Kumbh 2019: कुंभ मेले में शामिल होने पर क्या करें और क्या ना करें, जानिए यहां

कुंभ 2019: जानिए मकर संक्रांति से महा शिवरात्रि तक, कुंभ मेले की सभी प्रमुख स्नान तिथियां 

कुंभ जाने वालों के लिए 4 सबसे बढ़िया पैकेज, कीमत के साथ जानें पूरी डिटेल

Kumbh 2019 Photos: कुंभ मेले के पास मौजूद हैं ये प्रसिद्ध 11 जगहें, जाएं तो घूमें जरूर

कुंभ मेला 2019 में श्रद्धालु अब क्रूज़ की सवारी से कर सकेंगे दर्शन

कुंभ मेले से जुड़ेंगे 12 करोड़ से अधिक तीर्थयात्री, 450 वर्षों बाद मिलेगा भक्तों ये खास मौका

कुंभ श्रद्धालुओं के लिए Air India का तोहफा, इस दिन मिलेंगी ये खास Flights

कुंभ मेले को स्वच्छ Kumbh बनाने के लिए दिन-रात काम कर रहे हैं ये "स्वच्छता दूत"

कुंभ में पौष पूर्णिमा पर हजारों लोगों ने संगम में किया स्नान, देखें तस्वीरें

कुंभ में भीड़ के आंकड़ों की बाजीगरी, मकर संक्रांति पर 2 करोड़ लोगों के स्‍नान करने पर उठे सवाल

Kumbh Mela 2019: अयोध्‍या में बने राम मंदिर इसलिए प्रयागराज में रोज जल रहे हैं 33 हजार दीए

 

कुंभ क्विज़

Kumbh Mela Quiz 1: कुंभ मेले का आयोजन उत्‍तर प्रदेश के किस शहर में होता है?

Kumbh Mela Quiz 2: किस मेले में बिछड़ने की कहानियां बहुत प्रचलित हैं?

Kumbh Mela Quiz 3: 'कुंभ' का शाब्‍द‍िक अर्थ क्‍या होता है?

Kumbh Mela Quiz 4: कुंभ में शामिल होने वाले 'शैव अखाड़े' के इष्‍ट देव कौन हैं?

Kumbh Mela Quiz 5: कुंभ का पहला स्नान किस पर्व के दिन होता है?

Kumbh Mela Quiz 6: प्रयागराज में किन तीन नदियों का संगम होता है?

Kumbh Mela Quiz 7:  वैष्‍णव अखाड़े से जुडें साधु-संतों के इष्‍टदेव कौन हैं?

Kumbh Mela 2019 8: कुंभ मेले का आखिरी स्नान किस दिन होगा?

Kumbh Mela Quiz 9: 450 साल बाद किस वृक्ष के दर्शन के लिए प्रयागराज के ओडी किले में आम लोगों को जाने की अनुमति मिली?

Kumbh Mela Quiz 10: प्रयागराज के बाद अब अगला कुंभ मेला किस शहर में लगेगा?

Kumbh Mela Quiz 11: किस चीज़ को प्राप्त करने के लिए देवताओं और दानवों के बीच युद्ध हुआ था?

Kumbh Mela Quiz 12: इस बार कुंभ मेले की क्या टैग लाइन दी गई है?

Kumbh Mela Quiz 13: कुंभ मेले का अगला स्नान किस दिन है?

 

टिप्पणियां

 

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement