NDTV Khabar

Kumbha Sankranti 2019: सूर्य ने किया कुंभ राशि में प्रवेश, जानिए कुंभ संक्रांति का शुभ मुहूर्त, व्रत और पूजा विधि

Kumbha Sankranti 2019: आज के दिन सूर्य कुंभ राशि में प्रवेश कर रहा है, इस बदलाव को कुंभ संक्रांति के नाम से जाना जाता है. इसी वजह से आज के दिन सूर्य भगवान की खास पूजा और पवित्र नदियों में स्नान किया जाता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Kumbha Sankranti 2019: सूर्य ने किया कुंभ राशि में प्रवेश, जानिए कुंभ संक्रांति का शुभ मुहूर्त, व्रत और पूजा विधि

Kumbha Sankranti 2019 से जुड़ी खास बातें

नई दिल्ली:

Kumbha Sankranti 2019: हिंदू कैलैंडर के मुताबिक 13 फरवरी से 11वें महीने की शुरुआत हो रही है. आज के दिन सूर्य कुंभ राशि में प्रवेश कर रहा है, इस बदलाव को कुंभ संक्रांति के नाम से जाना जाता है. इसी वजह से आज के दिन सूर्य भगवान की खास पूजा और पवित्र नदियों में स्नान किया जाता है. वहीं. प्रयागराज में चल रहे कुंभ मेले में भी ब्रह्म मुहूर्त से ऋद्धालु सूर्य देव को अर्घ्य दे रहे हैं.

Kumbh Mela 2019 Quiz: उज्‍जैन में किस नदी के किनारे कुंभ का आयोजन होता है?


कब है कुंभ संक्रांति?
इस बार 13 फरवरी 2019 को सूर्य कुंभ राशि में प्रवेश कर रहा है. हिंदू कैलेंडर के मुताबिक यह 11वें महीने की शुरुआत है. कुंभ संक्रांति के दौरान गाय को खाना खिलाना पुण्य माना जाता है. इसके साथ ही इस दिन पवित्र नदी खासकर त्रिवेणी गंगा में स्नान करना बेहद शुभ माना जाता है. 


कुंभ संक्रांति का शुभ मुहूर्त
पुण्य काल मुहूर्त - 07:05 से 09:03 तक (1 घंटा 58 मिनट)
महापुण्य मुहूर्त -  08:39 से 09:03 तक (23 मिनट)

Kumbh Mela Quiz 3: 'कुंभ' का शाब्‍द‍िक अर्थ क्‍या होता है?

क्या है कुंभ संक्रांति?
संक्रांति सूर्य की राशि बदलने से आती है. सूर्य जब भी राशि बदलते हैं, उसके साथ संक्रांति नाम जुड़ जाता है. जैसे सूर्य जब मकर राशि में प्रवेश करते हैं तो उसे मकर संक्रांति कहते हैं. ठीक इसी तरह कुंभ संक्रांति से समय सूर्य कुंभ राशि में प्रवेश करता है. बता दें, एक राशि से दूसरी राशि में जाने के लिए सूर्य को लगभग एक महीने का समय लगता है. साल के 12 महीनों में सूर्य अलग-अलग राशियों में जाता है. इसे सौर मास भी कहते हैं.

कुंभ संक्रांति का व्रत और पूजा विधि
सुबह ब्रह्म मुहूर्त में सूर्य भगवान की उपासना करें और उन्हें अर्घ्य दें.
अर्घ्य देने के बाद आदित्‍य ह्रदय स्त्रोत का पाठ करें. 
सूर्य देव की पूजा करें
पवित्र नदी में नहाएं. 
गरीबों और ब्राह्मणों को खाने की वस्तुएं और कपड़ें दान करें.
इसके अलावा कुंभ संक्रांति के दिन गोदान करना भी बेहद शुभ माना जाता है. 
 

कुंभ क्विज़

Kumbh Mela Quiz 1: कुंभ मेले का आयोजन उत्‍तर प्रदेश के किस शहर में होता है?

Kumbh Mela Quiz 2: किस मेले में बिछड़ने की कहानियां बहुत प्रचलित हैं?

Kumbh Mela Quiz 3: 'कुंभ' का शाब्‍द‍िक अर्थ क्‍या होता है?

Kumbh Mela Quiz 4: कुंभ में शामिल होने वाले 'शैव अखाड़े' के इष्‍ट देव कौन हैं?

Kumbh Mela Quiz 5: कुंभ का पहला स्नान किस पर्व के दिन होता है?

Kumbh Mela Quiz 6: प्रयागराज में किन तीन नदियों का संगम होता है?

Kumbh Mela Quiz 7:  वैष्‍णव अखाड़े से जुडें साधु-संतों के इष्‍टदेव कौन हैं?

Kumbh Mela 2019 8: कुंभ मेले का आखिरी स्नान किस दिन होगा?

Kumbh Mela Quiz 9: 450 साल बाद किस वृक्ष के दर्शन के लिए प्रयागराज के ओडी किले में आम लोगों को जाने की अनुमति मिली?

Kumbh Mela Quiz 10: प्रयागराज के बाद अब अगला कुंभ मेला किस शहर में लगेगा?

Kumbh Mela Quiz 11: किस चीज़ को प्राप्त करने के लिए देवताओं और दानवों के बीच युद्ध हुआ था?

Kumbh Mela Quiz 12: इस बार कुंभ मेले की क्या टैग लाइन दी गई है?

Kumbh Mela Quiz 13: कुंभ मेले का अगला स्नान किस दिन है?

Kumbh Mela Quiz 14: क्या महिलाएं नागा साधु बन सकती हैं?

Kumbh Mela Quiz 15: मौनी अमावस्या के दिन व्रत रखने वालों को किस एक नियम का पालन करना चाहिए?

Kumbh Mela Quiz 16: कुंभ में किस राजा ने लगातार 75 दिनों तक दान दिया था?

Kumbh Mela Quiz 17: मौनी अमावस्या के बाद अब कुंभ मेले में अगला स्नान कब है?

Kumbh Mela Quiz 18: बसंत पंचमी को किस देवी का जन्मदिवस माना जाता है?

Kumbh Mela Quiz 19: बसंत पंचमी के दिन किस रंग के कपड़े पहनना शुभ माना जाता है?

Kumbh Mela Quiz 20: किन्नर अखाड़ा की प्रमुख का नाम क्या है?

टिप्पणियां

Video: लोग अब योग के साथ सूर्य का स्वागत करते हैं: पीएम मोदी


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement