NDTV Khabar

Muharram 2018: आज है मुहर्रम, अपनों को शेयर करें ये मैसेजेस

Muharram 2018: मुहर्रम से जुड़ी हुई शायरी और विचार बता रहे हैं जिन्हें आप अपने करीबियों या फिर दोस्त को भी भेज सकते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Muharram 2018: आज है मुहर्रम, अपनों को शेयर करें ये मैसेजेस

Muharram 2018: आज है मुहर्रम, अपनों को शेयर करें ये मैसेजेस

नई दिल्ली:

Muharram 2018: आज मुहर्रम है. मुहर्रम के 10वें दिन खासकर शिया मुसलमान ताजिया निकालकर शोक मनाते हैं. माना जाता है कि आज ही के दिन बादशाह यजीद ने अपनी सत्ता कायम करने के लिए हजरत इमाम हुसैन और उनके परिवार को बेदर्दी से मौत के घाट उतार दिया था. उसी शहादत को याद करते हुए मुस्लिम ताजिया के साथ काले कपड़े पहन या हुसैन बोलते हुए जुलूस निकालते हैं. यानी मुसलमानों के लिए मुहर्रम का दिन शोक की घड़ी है. इस दौरान वे अपनी खुशियां त्याग देते हैं. यहां पर हम आपको मुहर्रम से जुड़ी हुई शायरी और विचार बता रहे हैं जिन्हें आप अपने करीबियों या फिर दोस्त को भी भेज सकते हैं.

यह भी पढ़ें:जानिए मुहर्रम के बारे में सबकुछ

क्‍या हक अदा करेगा ज़माना हुसैन का 
अब तक ज़मीन पर कर्ज़ है सजदा हुसैन का 
झोली फैलाकर मांग लो मुमीनो 
हर दुआ कबूल करेगा दिल हुसैन का


टिप्पणियां

गुरुद्वारे में शख्स ने अदा की नमाज, Facebook पर वायरल हो रहा है VIDEO
 

0lgesul

Muharram 2018

सलाम या हुसैन
अपनी तकदीर जगाते हैं मातम से 
खून की राह बिछाते हैं तेरे मातम से 
अपने इज़हार-ए-अकीदत का सलीका ये है
हम नया साल मनाते हैं तेरे मातम से

 
ibulp6qg

Muharram 2018

जन्‍नत की आरज़ू में 
कहां जा रहे हैं लोग 
जन्‍नत तो करबला में 
खरीदी हुसैन ने 
दुनिया-ओ-आखरात में 
जो रहना हो चैन से 
जीना अली से सीखो 
मरना हुसैन से

 
jr3n2p8g

Muharram 2018

नज़र गम है नज़रों को बड़ी तकलीफ होती है
बगैर उनके नज़रों को बड़ी तकलीफ होती है 
नबी कहते थे अकसर के अकसर ज़‍िक्र-ए-हैदर से
मेरे कुछ जान निसारों को बड़ी तकलीफ होती है

यह भी पढ़ें:मुहर्रम के जुलूस पर लगा प्रतिबंध
 

vstcin18

Muharram 2018

सजदा से करबला को बंदगी मिल गई 
सबर से उम्‍मत को ज़‍िंदगी मिल गई
एक चमन फातिमा का गुज़रा 
मगर सारे इस्‍लाम को ज़‍िंदगी मिल गई.

 
esvl8mgg

Muharram 2018

कत्‍ल-ए-हुसैन असल में मार्ग-ए-यजीद है
इस्‍लाम ज़‍िंदा होता है हर करबला के बाद

 
c3ogv95o

Muharram 2018

जब भी कभी ज़मीर का सौदा हो
कायम रहो दोस्‍तों हुसैन के इंकार की तरह

 
fo31cafg

Muharram 2018

सिर गैर के आगे न झुकाने वाला 
और नेजे पर भी कुरान सुनाने वाला 
इस्‍लाम से क्‍या पूछते हो कौन हुसैन? 
हुसैन है इस्‍लाम को बनाने वाला 

 
0djnq6k

Muharram 2018

न हिला पाया वो रब की मेहर को 
भले जीत गया वो कायर जंग 
पर जो मौला के दर पर शहीद हुआ 
वही था असली और सच्‍चा पैगम्‍बर

 
glmkeif8

Muharram 2018

क्‍या जलवा कर्बला में दिखाया हुसैन ने
सजदे में जाकर सिर कटाया हुसैन ने 
नेजे पर सिर था और जबान पर आयतें 
कुरान इस तरह सुनाया हुसैन ने

 
0gcu8iio

Muharram 2018

Muharram 2018: आज है मुहर्रम, जानिए क्‍यों शहीद हो गए थे हजरत इमाम हुसैन?

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement