NDTV Khabar

Navratri 2018: मां दुर्गा का पांचवा रूप है स्कंदमाता, जानिए इनकी खास आरती

मान्यता है कि स्कंदमाता की पूजा करने वाले माता के भक्तों की सभी इच्छाएं पूरी होती हैं. यहां जानिए मां दुर्गा के इस रूप के बारे में सबकुछ.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Navratri 2018: मां दुर्गा का पांचवा रूप है स्कंदमाता, जानिए इनकी खास आरती

Navratri 2018: मां दुर्गा का पांचवा रूप है स्कंदमाता, जानिए इनकी खास आरती

नई दिल्ली: नवरात्रि के पांचवें दिन मां स्कंदमाता की पूजा की जाती है. चार भुजाओं वाली मां दुर्गा के रूप के गोद में विराजमान होते हैं कुमार कार्तिकेय. इन्हें मोक्ष के द्वार खोलने वाली माता भी कहा जाता है. मान्यता है कि स्कंदमाता की पूजा करने वाले माता के भक्तों की सभी इच्छाएं पूरी होती हैं. यहां जानिए मां दुर्गा के इस रूप के बारे में सबकुछ. बता दें, इस बार शारदीय नवरात्रि 10 अक्टूबर से 18 अक्टूबर तक मनाई जाएगी और 19 अक्टूबर को विजय दशमी होगी. 

कौन हैं मां स्कंदमाता?
चार भुजाओं वाली मां स्कंदमाता के दो हाथों में कमल और एक हाथ में कुमार कार्तिकेय बैठे रहते हैं. कुमार कार्तिकेय को देवताओं का सेनापति कहा जाता है. देवताओं के इसी सेनापति का एक नाम स्कंद भी है. इन्हीं स्कंद की माता हैं स्कंदमाता.

मां स्कंदमाता का रूप 
शेर पर सवार, चार भुजाएं और गोद में कुमार कार्तिकेय, ये है स्कंदमाता का रूप. यह कमल पर भी विराजमान रहती हैं इसीलिए इन्हें पद्मासना के नाम से भी जाना जाता है.  

कैसे करें स्कंदमाता की पूजा
मां स्कंदमाता का पूजन सफेद रंग के वस्त्र पहन कर करें और उन्हें मूंग के दाल के हलवे का भोग लगाए और प्रसाद में बांटे. मान्यता है कि स्कंदमाता रोगों से मुक्ति दिलाती हैं और घर में सुख शांति लाती हैं. 

टिप्पणियां
स्कंदमाता की आरती

जय तेरी हो अस्कंध माता 
पांचवा नाम तुम्हारा आता 
सब के मन की जानन हारी 
जग जननी सब की महतारी 
तेरी ज्योत जलाता रहू मै 
हरदम तुम्हे ध्याता रहू मै 
कई नामो से तुझे पुकारा 
मुझे एक है तेरा सहारा 
कही पहाड़ो पर है डेरा 
कई शेहरो मै तेरा बसेरा 
हर मंदिर मै तेरे नजारे 
गुण गाये तेरे भगत प्यारे 
भगति अपनी मुझे दिला दो 
शक्ति मेरी बिगड़ी बना दो 
इन्दर आदी देवता मिल सारे 
करे पुकार तुम्हारे द्वारे 
दुष्ट दत्य जब चढ़ कर आये 
तुम ही खंडा हाथ उठाये 
दासो को सदा बचाने आई 
'भक्त' की आस पुजाने आई

नवरात्रि से जुड़ी बाकी खबरें

Navratri 2018: आखिर क्यों 'शेर' पर सवार रहती हैं मां दुर्गा, जानिए कैसे जंगल का राजा बना शेरावाली का वाहन
नवरात्रि स्पेशल व्रत रेसिपी 2018: 3 सबसे आसान और लाइट स्नैक्स, जो झटपट बनें और मन खुश कर दें
बिना करवट 21 कलश सीने पर लिए 9 दिनों तक भूखे-प्यासे लेटे हैं ये बाबा, ऐसे कर रहे हैं मां दुर्गा की आराधना
Navratri Jau Pujan: नवरात्रि के दौरान क्यों बोए जाते हैं जौ, जानिए धार्मिक महत्व
मां दुर्गा के 9 रंग, जानिए कन्या पूजन और नवरात्रि के आखिरी पहनें कौन-सा कलर
नवरात्रि के दौरान हर घर में बजती हैं मां दुर्गा की ये 7 आरतियां, YouTube पर भी देख चुकें हैं करोड़ों लोग
Navratri 2018: नवरात्रि पर मां के भक्तों को भेजें ये शानदार मैसेजेस, ऐसे कहें Happy Navratri
Navaratri 2018: कलश स्‍थापना क्‍यों और कैसे की जाती है, जानिए सामग्री और शुभ मुहूर्त भी
Navratri 2018: शारदीय नवरात्रि हुए शुरू, जानिए पूरे 9 दिनों मां दुर्गा के किन रूपों की होगी पूजा
Navratri 2018: नवरात्रि शुरू, जानिए शुभ मुहूर्त, कलश स्‍थापना की विधि, व्रत विधान और दुर्गा पूजा का महत्‍व
Happy Navratri 2018: नवरात्रि के इन 9 दिनों में ऐसा होना चाहिए आपका Facebook और Whatsapp Status
नवरात्र 2018: जहां तवायफ के कोठे की मिट्टी से तैयार होती हैं दुर्गा मां की मूर्तियां
Navratri 2018: नवरात्रि व्रत के दौरान इन 10 बातों का रखें ध्यान, जानिए नवरात्र उपवास के सभी नियम
Navratri 2018: नवरात्रि में मां दुर्गा को खिलाएं उनका मनपसंद खाना, नौ दिनों में चढ़ाएं नौ तरह का भोग
Navratri 2018: नवरात्रि के पहले दिन ऐसे करें मां शैल पुत्री की पूजा, जानिए मंत्र, कवच और स्तोत्र पाठ
Navratri 2018: मन में शांति लाता है मां दुर्गा का दूसरा रूप, जानिए ब्रह्मचारिणी के बारे में सबकुछ
Navratri 2018: नवरात्रि का तीसरा दिन, मां चंद्रघंटा की पूजा में 'घंटा' का है बेहद महत्व

Navratri 2018: नवरात्रि का चौथा दिन, मां कूष्माण्डा की पूजा करते वक्त जरूर पढ़ें ये आरती
सिर्फ वैष्णों देवी ही नहीं, मां दुर्गा के ये 7 मंदिर भी हैं बेहद प्रसिद्ध




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement