Navratri 2020 4th Day: नवरात्रि के चौथे दिन होती है मां कूष्माण्डा की आराधना, जानें पूजा विधि और आरती

Navratri 2020: नवरात्रि के चौथे दिन मां दुर्गा के कूष्माण्डा रूप की पूजा की जाती है. आठ भुजाओं वाली मां दुर्गा के इस रूप को लेकर मान्यता है कि इन्होंने ही संसार की रचना की. इसीलिए इन्हें आदिशक्ति के नाम से भी जाना जाता है.

Navratri 2020 4th Day: नवरात्रि के चौथे दिन होती है मां कूष्माण्डा की आराधना, जानें पूजा विधि और आरती

Navratri 2020: नवरात्रि के चौथे दिन होती है मां कूष्माण्डा की आराधना, जानें पूजा विधि और आरती

Navratri 2020 4th Day: नवरात्रि के चौथे दिन मां दुर्गा के कूष्माण्डा रूप की पूजा की जाती है. आठ भुजाओं वाली मां दुर्गा के इस रूप को लेकर मान्यता है कि इन्होंने ही संसार की रचना की. इसीलिए इन्हें आदिशक्ति के नाम से भी जाना जाता है. इन्हें शैलपुत्री (Shailputri), ब्रह्मचारिणी (Brahmacharini) और चंद्रघंटा (Chandraghanta) के बाद पूजा जाता है. यहां जानिए क्या है माता कूष्माण्डा का रूप और उनकी खास आरती.

कौन हैं मां कूष्माण्डा ?

चेहरे पर हल्की मुस्कान लिए माता कूष्माण्डा को सभी दुखों को हरने वाली मां कहा जाता है. मान्यता है कि मां कूष्माण्डा ने ही इस सृष्टि की रचना की. इनका निवास स्थान सूर्य है. इसीलिए माता कूष्माण्डा के पीछे सूर्य का तेज दर्शाया जाता है. मां दुर्गा का यह एकलौता ऐसा रूप है जिन्हें सूर्यलोक में रहने की शक्ति प्राप्त है. इनके अलावा माता कोई भी रूप सूर्यलोक में नहीं रहता.

Navratri Bhog For Nine Days 2020: नवरात्र प्रसाद में मां दुर्गा को लगाएं ये नौ अलग-अलग भोग, यहां देखें रेसिपी

मां कूष्माण्डा का रूप

चेहरे पर हल्की मुस्कान और सिर पर बड़ा-सा मुकूट. आठों हाथों में अस्त और शस्त्र जिसमें सबसे पहले कमल का फूल, तीर, धनुष, कमंडल, मटकी, चक्र, गदा और जप माला. सवारी है इनकी शेर. लाल साड़ी और हरा ब्लाउज हैं इनके वस्त्र.

कैसे करें मां कूष्माण्डा की पूजा ?

कूष्माण्डा माता की पूजा नारंगी रंग के कपड़े पहनकर करें.

मान्यता है कि इस दिन प्रसाद में हलवा शुभ माना जाता है.

घर में सौभाग्य लाने के लिए कूष्माण्डा माता की पूजा के बाद मेवे या फल दान करें.

Navratri 2020: नवरात्रि में इस बार ट्राई करें यह व्रत स्पेशल साबुदाना बोंडा- Recipe Video inside

कूष्मांडा माता की आरती

कुष्मांडा जय जग सुखदानी

मुझ पर दया करो महारानी

पिंगला ज्वालामुखी निराली

शाकम्बरी माँ भोली भाली

लाखो नाम निराले तेरे

भगत कई मतवाले तेरे

भीमा पर्वत पर है डेरा

स्वीकारो प्रणाम ये मेरा

संब की सुनती हो जगदम्बे

सुख पौचाती हो माँ अम्बे

तेरे दर्शन का मै प्यासा

पूर्ण कर दो मेरी आशा

माँ के मन मै ममता भारी

क्यों ना सुनेगी अर्ज हमारी

तेरे दर पर किया है डेरा

दूर करो माँ संकट मेरा

मेरे कारज पुरे कर दो

मेरे तुम भंडारे भर दो

तेरा दास तुझे ही ध्याये

'भक्त' तेरे दर शीश झुकाए

जानें नवरात्रि के तीसरे दिन का महत्व, देवी चंद्रघंटा को किसका लगाएं भोग

नवरात्रि से जुड़ी बाकी खबरें

Navratri Fasting Tips: नवरात्रि में उपवास के दौरान डाइट में जरूर शामिल करें ये एक चीज, मिलेंगे 7 कमाल के फायदे!

Navratri 2020: मां चंद्रघंटा हैं मां दुर्गा का तीसरा स्वरूप, जानिए उनके बारे में 5 खास बातें

Navratri 2020: खाली पेट ये छोटी सी गलतियां बना सकती हैं आपको बीमार, भूलकर भी न खाएं ये 4 चीजें!

Navratri 2020: नवरात्रि के तीसरे दिन ऐसे करें मां चंद्रघंटा की पूजा, जानें, मंत्र, स्तोत्र पाठ और आरती

Navratri 2020: नवरात्रि के 9 दिन मां दुर्गा के इन 9 रूपों की भक्त करते हैं आराधना

Navratri 2020: नवरात्रि पर क्यों जलाते हैं अखंड ज्योति ? क्या हैं नियम ?

Newsbeep

Navratri 2020: नवरात्रि के दूसरे दिन होती है मां ब्रह्मचारिणी की पूजा, जानें मंत्र, कथा और आरती

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Navratri 2020: नवरात्रि के पहले दिन भक्तों ने इस तरह किए मां के दर्शन, देखें अलग-अलग शहरों का नज़ारा