NDTV Khabar

सिख तीर्थयात्रियों के लिए अच्छी खबर, बिना वीजा कर सकेंगे गुरुद्वारा दरबार साहिब के दर्शन

पाकिस्तान सिख तीर्थयात्रियों के लिए करतारपुर बार्डर खोल देगा जिसके बाद तीर्थयात्री बिना वीजा के गुरुद्वारा दरबार साहिब के दर्शन कर सकेंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सिख तीर्थयात्रियों के लिए अच्छी खबर, बिना वीजा कर सकेंगे गुरुद्वारा दरबार साहिब के दर्शन

सिख तीर्थयात्रियों के लिए अच्छी खबर, जल्द खुल सकती है करतारपुर बॉर्डर क्रॉसिंग

नई दिल्ली: पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने कहा है कि उनका देश भारत से लगा करतारपुर बॉर्डर क्रॉसिंग जल्द ही खोलेगा ताकि सिख तीर्थयात्री बिना वीजा के ऐतिहासिक गुरुद्वारा जा सकें. चौधरी ने बताया कि सिखों के गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर के दर्शन के लिए एक तंत्र विकसित किया जा रहा है और ‘‘जल्द ही कुछ कदम उठाने की अपेक्षा है.’’

उन्होंने आगे कहा, ‘‘पाकिस्तान सिख तीर्थयात्रियों के लिए करतारपुर बार्डर खोल देगा जिसके बाद तीर्थयात्री बिना वीजा के गुरुद्वारा दरबार साहिब के दर्शन कर सकेंगे.’’ करतारपुर बार्डर खोलने का पहला संकेत पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल जावेद बाजवा ने कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथग्रहण समारोह में दिया था.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री Imran Khan की तीन शादियां और 4 अफेयर्स, जानिए उनकी पूरी LOVE लाइफ

करतारपुर गुरुद्वारा भारतीय सीमा के निकट पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के नारोवाल जिले में स्थित है. माना जाता है कि गुरू नानक देव का देहावसान यहीं हुआ था. चौधरी ने कहा कि पाकिस्तान सरकार और फौज दोनों ही शांति के लिए भारत से बातचीत करने के खाहिशमंद हैं लेकिन भारत सरकार ने अब तक इस मुद्दे पर कोई सकारात्मक संकेत नहीं दिया है.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री खान ने चुनाव जीतने के बाद भारत को सकारात्मक संकेत दिए. उन्होंने अपने शपथग्रहण समारोह में पूर्व भारतीय क्रिकेटरों को न्योता दिया और अपने पहले संबोधन में बातचीत की पेशकश की. उन्होंने भारत के प्रति सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ और पिछली सरकार की नीतियों के बीच के फर्क के बारे में एक सवाल के जवाब में कहा कि मुख्य फर्क यह है कि अभी सभी संस्थाओं की एक राय और एक समझ है.

हाथों में छड़ी और चेहरे पर मुस्कान के साथ कैलाश यात्रा पर दिखे राहुल गांधी, देखिए सभी तस्वीरें और VIDEO

टिप्पणियां
उन्होंने कहा, ‘‘नवाज शरीफ की विदेश नीति की तरह यह इमरान खान की विदेश नीति नहीं है. यह पाकिस्तान की विदेश नीति है.

VIDEO: क्या पाकिस्तान में बदलाव ला पाएंगे इमरान खान?
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement