NDTV Khabar

Parsi New Year 2018: पारसी लोग ऐसे मनाते हैं 360 दिन का अपना नया साल, बाकी 5 दिन करते हैं 'गाथा'

Parsi New Year: पारसी धर्म में एक साल 360 दिन का होता है बाकि का 5 दिन वो लोग 'गाथा' करते हैं. गाथा का अर्थ है अपने पूर्वजों को याद करने का दिन.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Parsi New Year 2018: पारसी लोग ऐसे मनाते हैं 360 दिन का अपना नया साल, बाकी 5 दिन करते हैं 'गाथा'

पारसी नया साल

नई दिल्ली: पारसी नया साल (Parsi New Year) को खोरदाद साल, जमशेदी नवरोज, नवरोज और पतेती नाम से भी जाना जाता है. साल 2018 में इस नए साल को 17 अगस्त के दिन मनाया जा रहा है. पारसियों के लिए यह नया साल बेहद ही खास होता है. क्योंकि बाकि धर्मों से उलट पारसी धर्म में ज्यादा त्योहार नहीं होते. पारसियों के साल में तीन मुख्य त्योहार होते हैं. पहला खोरदाद साल, दूसरा भगवान प्रौफेट जरस्थ्रु का जन्मदिन और तीसरा 31 मार्च. 

Bakrid 2018: बकरीद पर जानवरों की कुर्बानी क्यों दी जाती है?

पारसी धर्म में एक साल 360 दिन का होता है बाकि का 5 दिन वो लोग 'गाथा' करते हैं. गाथा का अर्थ है अपने पूर्वजों को याद करने का दिन. पारसी लोग नया साल शुरू होने का जश्न मनाने के 5 दिन पहले से ही पूर्वजों के लिए पूजा-पाठ करते हैं. ये लोग रात में 3.30 बजे खास पूजा-अर्चना करते हैं. जिस तरह हिंदू धर्म में श्राद किए जाते हैं ठीक उसी तरह पारसी इन 5 दिनों के दौरान अपने पूर्वजों की आत्मा की शांति के लिए पूजा करते हैं. 

Bakrid 2018: 23 नहीं 22 अगस्त को मनाई जाएगी बकरीद, जानिए पहली बार क्यों हुई ऐसी गलती

आज के दिन पारसी समुदाय के लोग अग्नि मंदर (आगीयारी) में जाकर पूजा-पाठ करते हैं. वहीं, ईरान के कुछ हिस्सों में रहने वाले पारसी नया साल 31 मार्च को मनाते हैं.

अमिताभ बच्चन, सचिन तेंदुलकर, अक्षय कुमार और हेमा मालिनी जैसी हस्तियों ने भी सभी लोगों को पारसी नव वर्ष की बधाई दी.

टिप्पणियां
बाहर टहल रही थीं लड़कियां, पीछे से आया बकरा और किया ये काम

VIDEO: भारतीय समाज पर पारसी इफेक्ट
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement