NDTV Khabar

गुरू गोविंद सिंह की 350वीं जयंती, 'वाहे गुरू' के नारे से गुंजायमान हुआ पटना

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुरू गोविंद सिंह की 350वीं जयंती, 'वाहे गुरू' के नारे से गुंजायमान हुआ पटना

फाइल फोटो

पटना:
टिप्पणियां

सिखों के दसवें गुरू गुरूगोविंद सिंह की जन्मस्थली पटना में तख्त श्री हरमंदिर पटना साहिब से मंगलवार बड़ी प्रभात फेरी निकाली गई. सुबह करीब साढ़े चार बजे पंच प्यारे की अगुआई में निकली इस प्रभात फेरी में 'जो बोले सो निहाल', 'वाहे गुरू' के नारों से पूरा माहौल भक्तिमय हो गया. बड़ी प्रभात फेरी निकलने के साथ ही 11 दिनों से प्रतिदिन सुबह निकल रही प्रभात फेरी का समापन हो गया.
 
बड़ी प्रभात फेरी चार बजे सुबह श्री हरमंदिर जी पटना साहिब से बैंडबाजा, रोशनी, पंथ के झूलते निशान साहिब के साथ पंज प्यारों की अगुवाई में निकली. प्रभात फेरी में आगे पंच प्यारे और पीछे श्रद्घालु भजन-कीर्तन करते चल रहे थे.
 
इस प्रभात फेरी में पंच प्यारे दशमेश गुरु का गुणगान करते हुए पटना के कई रास्तों से गुजरे. प्रभात फेरी में 'जो बोले सो निहाल, सत श्री अकाल' 'वाहे-वाहे गुरु गोविंद सिंहजी', आपे गुरु चेला आदि नारों की गूंजता रहा. इस प्रभात फेरी में बड़ी संख्या में संगत शामिल हुए. प्रभात फेरी पटना साहिब स्टेशन और गुरू गोविंद सिंह पथ होते हुए तख्त श्री हरिमंदिर साहिब लौटी.
 
इस बड़ी प्रभात फेरी में आगे-आगे हाथी, घोड़े और ऊंट भी चल रहे थे.
 
350वें प्रकाशोत्सव का मुख्य समारोह पांच जनवरी को मनाया जाएगा. वहीं चार जनवरी को गांधी मैदान से नगर कीर्तन निकाली जाएगी.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement