NDTV Khabar

अट्टकल पोंगल त्यौहार हुआ खत्म, लाखों महिलाओं ने चढ़ाया पोंगल

अट्टकल भगवती मंदिर में 2009 में एक ही दिन रिकॉर्ड 25 लाख महिलाओं ने अनुष्ठान में हिस्सा लिया था. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अट्टकल पोंगल त्यौहार हुआ खत्म, लाखों महिलाओं ने चढ़ाया पोंगल

केरल : अट्टुकल पोंगल में शामिल हुईं लाखों महिलाएं

खास बातें

  1. 10 दिन चला अट्टकल पोंगल त्योहार
  2. लाखों महिलाओं ने हिस्सा लिया
  3. ट्रांसजेंडर (किन्नर) समुदाय भी हुआ शामिल
नई दिल्ली:

केरल में आयोजित अट्टकल पोंगल त्योहार पर होने वाले धार्मिक अनुष्ठान में लाखों महिलाओं ने हिस्सा लिया. किसी धार्मिक अनुष्ठान में सर्वाधिक महिलाओं की भागीदारी के कारण वर्ष 2009 में इस त्योहार को गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड की सूची में शामिल किया गया था. यहां स्थित अट्टकल भगवती के मंदिर में 10 दिनों तक चलने वाले वार्षिक पर्व के यह समापन का अवसर था. 

अट्टुकल मंदिर में बच्चों को ऐसे किया जाता है प्रताड़ित, लेकिन...

यहां 2009 में एक ही दिन रिकॉर्ड 25 लाख महिलाओं ने अनुष्ठान में हिस्सा लिया था. 

अट्टकल भगवती का यह मंदिर नगर के मध्य में अवस्थित है. मान्यता है कि तमिल महाकाव्य 'सिलप्पथीकारम' की मुख्य पात्र कन्नकी का यहां अवतार हुआ था. पोंगल अनुष्ठान का आयोजन यहां 10 दिन चलने वाले अट्टकल पोंगल त्योहार के आखिरी दिन से एक दिन पहले होता है. 

यहां भक्तों को मिलता है रक्त में डूबे हुए कपड़े का प्रसाद, जानिए कामाख्या मंदिर की पूरी कहानी


श्रद्धालु यहां मंदिर परिसर में ईंट जोड़कर बने चूल्हे पर पाक तैयार करते हैं, जिसे देवी को प्रसाद के रूप में चढ़ाते हैं. 

मंदिर प्रशासन के मुताबिक, इस साल लाखों महिलाओं की भीड़ यहां जमा हुई. मंदिर के चारों ओर महिलाएं 13 वर्ग किलोमीटर के दायरे में पाक तैयार कर रही थीं. केरल के राज्यपाल पी. सतशिवम की पत्नी ने भी इस अनुष्ठान में हिस्सा लिया. 

...तो इसीलिए आज भी अधूरी है पुरी के जगन्‍नाथ की मूर्ति

टिप्पणियां

ट्रांसजेंडर (किन्नर) समुदाय के 10 लोगों के एक समूह की भी इस त्योहार में सक्रिय भागीदारी देखी गई. 

देखें वीडियो - मंदिर के खजाने पर किसका हक?
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement