NDTV Khabar

गुरु ग्रंथ साहिब के प्रकाशन के लिए गुरुद्वारा रकाब गंज में लगेगी प्रिंटिंग प्रेस, कीमत आठ करोड़ रुपये

गुरु ग्रंथ साहिब जी के प्रकाशन के लिए आठ करोड़ रुपये की लागत से गुरद्वारा रकाब गंज साहिब कॉम्प्लेक्स में पूरी तरह मल्टी कलर अल्ट्रा मॉडर्न प्रिंटिंग प्रेस लगाई जाएगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुरु ग्रंथ साहिब के प्रकाशन के लिए गुरुद्वारा रकाब गंज में लगेगी प्रिंटिंग प्रेस, कीमत आठ करोड़ रुपये

गुरुद्वारा रकाब गंज

खास बातें

  1. गुरुद्वारा रकाब गंज में नई प्रिंटिंग प्रेस स्‍थापित की जाएगी
  2. इस प्रिंटिंग प्रेस की कीमत आठ करोड़ रुपये है
  3. प्रिंटिंग प्रेस से गुरु ग्रंथ साहिब का प्रकाशन होगा
नई दिल्‍ली: दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति सिख के पावन श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी के प्रकाशन के लिए आठ करोड़ रुपये की लागत से गुरद्वारा रकाब गंज साहिब कॉम्प्लेक्स में पूरी तरह मल्टी कलर अल्ट्रा मॉडर्न प्रिंटिंग प्रेस स्थापित करेगा. इसका मकसद सिख धार्मिक परम्पराओं का अनुसरण करते हुए पावन श्री गुरु ग्रन्थ साहिब जी का प्रकाशन करना है. नई प्रिंटिंग प्रेस रोजाना लगभग 15 हजार रंगीन पन्ने प्रकाशित करने की क्षमता रखती है और इससे पावन श्री गुरु ग्रन्थ साहिब जी की सिख समुदाय विशेष कर अप्रवासी भारतियों में बढ़ रही मांग को पूरा करने में मदद मिलेगी. इससे विदेशों में रहने वाले सिखों को खास तौर पर लाभ मिलेगा. नई मशीन 20 साल पुरानी दो रंगों की पुरानी प्रिंटिंग प्रेस का स्थान लेगी जिसमें पावन श्री गुरु ग्रन्थ साहिब जी की लगभग एक लाख प्रतियां प्रकाशित की गई हैं.

खुशखबरी! दिल्‍ली का गुरुद्वारा बंगला साहिब बना विदेशी सैलानियों का पसंदीदा स्‍थल

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबन्धक समिति के अध्यक्ष सरदार मंजीत सिंह ने बताया कि नई मशीन की स्थापना की कार सेवा बाबा कश्मीर सिंह भूरीवाले जी करेंगे और प्रिंटिंग प्रेस के लिए एक नया परिशर 'ग्रन्थ साहिब भवन' के नाम से स्थापित किया जाएगा.

उन्होंने कहा कि अल्ट्रा मॉडर्न मशीन की स्थापना से उत्पादन लागत में कमी आएगी, समय की बचत होगी और गुणवत्ता में सुधार होगा. उन्होंने कहा कि पावन श्री गुरु ग्रन्थ साहिब जी सिख श्रद्धलुओं को वास्तविक लागत से काम दरों में भेंट पर प्रदान किए जाएंगे तथा नई प्रिंटिंग प्रेस में पावन ग्रन्थ के अलाबा सिख साहित्य, प्रचार सामग्री, डायरियां तथा कैलेंडर भी प्रकाशित किए जाएंगे. 1430 पन्नों के पावन श्री गुरु ग्रन्थ साहिब जी को सिख परंपरा मर्यादा के अनुसार पूरी तरह प्रशिक्षित सिख कुशल विशेषज्ञों द्वारा ही प्रकाशित किया जाएगा.

भाईचारे की मिसाल! यहां मस्जिद की देख-देख करता है गुरुद्वारे का ग्रंथी

टिप्पणियां
सिखों के पावन श्री गुरु ग्रन्थ साहिब जी के प्रमाणिक प्रकाशन के लिए विश्व में शिरोमणी गुरद्वारा प्रबन्धक समिति अमृतसर और दिल्ली सिख गुरद्वारा प्रबन्धक समिति ही कानूनी तौर पर अधिकृत है. शिरोमणी गुरुद्वारा प्रबंधक समिति अमृतसर और दिल्ली सिख गुरद्वारा प्रबंधक समिति दुनिया में सिख धर्म की प्रचार सामग्री के सबसे बड़े प्रकाशक हैं. 

Video: लोकतंत्र का साथी गुरुद्वारा बंगला साहिब


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement