NDTV Khabar

Radha Ashtami 2017: आज है राधाष्टमी, बरसाने में मची धूम

राधाष्टमी पर श्रद्धालुओं को शीशमहल के विशिष्ट दर्शन का सौभाग्य भी मिलेगा, जो वर्ष में केवल एक बार राधाष्टमी के मौके पर ही मिलता है. इसके अलावा तो शीशमहल हरियाली तीज के मौके पर एक हिण्डोले के रूप में तथा शरद पूर्णिमा के दिन सोने के महल के रूप में देखने के मिलता है.’आपको बता दें कि इस त्‍योहार को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के ठीक 15 दिन बाद मनाया जाता है.

40 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
Radha Ashtami 2017: आज है राधाष्टमी, बरसाने में मची धूम

Radha Ashtami 2017: आज होगी मन की इच्‍छा पूरी

भगवान कृष्ण की आल्हादिनी शक्ति राधारानी का जन्म उत्सव आज बरसाना के लाडिली मंदिर सहित संपूर्ण ब्रज में बड़ी ही धूमधाम से मनाया जा रहा है. इस उत्‍सव के लिए मंदिर प्रबंधकों सहित जिला प्रशासन ने भी सभी तैयारियां की हैं.भाद्रपद मास में शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को राधाजी के प्रकट होने का दिवस माना जाता है. आपको बता दें कि इस त्‍योहार को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के ठीक 15 दिन बाद मनाया जाता है.

मंदिर के सेवायत रासबिहारी गोस्वामी ने बताया, ‘वृषभान नंदिनी का प्राकट्य आज खोल दिया गया है. भोर बेला में राधारानी की चल प्रतिमा का दूध, दही, घी, बूरा, शहद आदि पंचामृत से करीब एक घण्टे तक मंत्रोच्चारण के बीच अभिषेक किया जाएगा.’
 
radha ashtami 2015
राधाष्टमी पर बरसाने में जमकर धूम होती है
 
उन्होंने बताया, ‘इस अवसर पर श्रद्धालुओं को शीशमहल के विशिष्ट दर्शन का सौभाग्य भी मिलेगा, जो वर्ष में केवल एक बार राधाष्टमी के मौके पर ही मिलता है. इसके अलावा तो शीशमहल हरियाली तीज के मौके पर एक हिण्डोले के रूप में तथा शरद पूर्णिमा के दिन सोने के महल के रूप में देखने के मिलता है.’

जिलाधिकारी अरविन्द मलप्पा बंगारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक स्वप्नि ममगई ने बताया, ‘राधाष्टमी के अवसर पर बरसाना आने वाले श्रद्धालुओं के लिए सभी जरूरी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं. बरसाना की ओर जाने वाले सभी मार्गों पर चौपहिया वाहनों का प्रवेश प्रतिबंधित कर पार्किंग व्यवस्था कर दी गई है.’ उन्होंने बताया, ‘श्रद्धालुओं की हर प्रकार से सुरक्षा एवं सुचारू व्यवस्था बनाए रखने के लिए क्षेत्र को 2 जोन एवं 6 सेक्टरों में विभाजित कर 3 पुलिस अधीक्षक, 9 उपाधीक्षक, 14 इंस्पेक्टर, 85 सब-इंस्पेक्टर सहित कुल 2000 सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं. इनके अलावा डॉग स्वाकॉड, बम निरोधक दस्ता, स्वाट टीम आदि विशेष दस्तों को भी लगाया गया है.’
 
आस्‍था की और खबरों के लिए क्लिक करें


(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement