NDTV Khabar

रमजान के पाक महीने से जुड़ी इन मान्यताओं के बारे में जानते हैं आप...

रहमतो और बरकतों का ये महीना अच्छे कामों का सबब देने वाला होता है. इसी वजह से इस माह को नेकियों का माह भी माना जाता है. इस माह को कुरान शरीफ के नाजिल का महीना भी माना जाता है. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रमजान के पाक महीने से जुड़ी इन मान्यताओं के बारे में जानते हैं आप...
टिप्पणियां
रमजान का पाक महीना शुरू हो गया है. रमजान का चांद दिखने के साथ ही मुकद्दस का रमजान इस शुरू माना जाएगा. इस साल पहला रोजा 27 या 28 मई को होगा. लेकिन भरी गर्मी में रोजा कर पाना किसी इम्तिहान से कम साबित नहीं होगा. इस बार पहला रोजा ही 15 घंटे लंबा होगा. रहमतो और बरकतों का ये महीना अच्छे कामों का सबब देने वाला होता है. इसी वजह से इस माह को नेकियों का माह भी माना जाता है. इस माह को कुरान शरीफ के नाजिल का महीना भी माना जाता है. 

मान्यताएं
  • माना जाता है कि रमजान के पाक महीने में जन्नत के दरवाजे खोल दिए जाते हैं. इसलिए इस माह में किए गए अच्छे कर्मों का फल कई गुना ज्यादा बढ़ जाता है और ऊपर वाला अपने बंदों के अच्छे कामों पर नजर करता है उनसे खुश होता है. 

  • कहते हैं कि रमजान के पाक माह में दोजख यानी नर्क के दरवाजे बंद कर दिए जाते हैं.

  • रमजान के पाक महीने में अल्लाह से अपने सभी बुरे कर्मों के लिए माफी भी मांगी जाती है. महीने भर तौबा के साथ इबादतें की जाती हैं. माना जाता है कि ऐसा करने से इंसान के सारे गुनाह धुल जाते हैं. 

  • माहे रमजान में नफिल नमाजों का शबाब फर्ज के बराबर माना जाता है. 

  • रमजान में रोजा रखा जाता है. रोजादार भूखे-प्यासे रहकर खुदा की इबादत करते हैं. वे सिर्फ सहरी और इफ्तार ही ले सकते हैं. रोजादार को झूठ बोलना, चुगली करना, गाली-गलौज करना, औरत को बुरी नजर से देखना, खाने को लालच भरी नजरों नहीं देखना चाहिए.

  • माना जाता है कि पाक रमजान माह में फर्ज नमाजों का शबाब 70 गुणा बढ़ जाता है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement