NDTV Khabar

Rath Yatra 2018: भगवान जगन्नाथ की 141वीं यात्रा शुरू, पीएम मोदी ने लोगों को दी शुभकामनाएं

भगवान जगन्नाथ की 141 वीं रथ यात्रा आज सुबह कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शुरू हुई. लाखों की संख्या में लोग भगवान के दर्शन के लिए 18 किलोमीटर लंबे यात्रा मार्ग के दोनों तरफ इकट्ठा हुए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Rath Yatra 2018: भगवान जगन्नाथ की 141वीं यात्रा शुरू, पीएम मोदी ने लोगों को दी शुभकामनाएं

जगन्नाथ रथ यात्रा प्रारंभ, मोदी ने दी लोगों को शुभकामनाएं

नई दिल्ली: भगवान जगन्नाथ की 141 वीं रथ यात्रा आज सुबह कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शुरू हुई. लाखों की संख्या में लोग भगवान के दर्शन के लिए 18 किलोमीटर लंबे यात्रा मार्ग के दोनों तरफ इकट्ठा हुए. इस दौरान गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने ‘पाहिंद’ विधि पूरी की. यह एक धार्मिक रीति है जिसमें रथ के निकलने वाले मार्ग को सोने की झाड़ू से साफ किया जाता है. भगवान जगन्नाथ उनके भाई बलभद्र और बहन सुभद्रा को लेकर रथ 400 वर्ष पुराने जगन्नाथ मंदिर से रवाना हुआ.  

Rath Yatra 2018: पुरी की रथ यात्रा शुरू, जानिए अपनी मौसी के घर में क्‍या करते हैं भगवान जगन्नाथ?

इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी लोगों को शुभकामनाएं दी और उम्मीद जताई कि भगवान जगन्नाथ की कृपा से देश विकास की नई ऊचांइयों को छुएगा. मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘रथ यात्रा के पावन अवसर पर लोगों को शुभकामनाएं. भगवान जगन्नाथ की कृपा से हमारा देश विकास की नई ऊंचाइयों पर पहुंचे. प्रत्येक भारतीय खुशहाल और समृद्ध बने. जय जगन्नाथ.’’

जब रुक जाता है भगवान जगन्नाथ का रथ

रथ यात्रा शुरू होने से पहले तड़के भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मंदिर में ‘‘मंगल आरती’’ की. इस विशाल रथ यात्रा में भगवान जगन्नाथ, भाई बलभद्र और बहन सुभद्रा के रथों के अलावा आठ सजे - धजे हाथी, 101 झांकियां, 30 धार्मिक समूहों के सदस्य तथा भजन कीर्तन की 18 मंडलियां शामिल हैं.

कहां है पुरी के जगन्नाथ मंदिर के खजाने की चाभी, किसी को नहीं है इसकी जानकारी!
 
हिंदू कैलेंडर के अनुसार असाढ़ माह के दूसरे दिन असाढ़ी बिज के दौरान प्रति वर्ष रथ यात्रा निकाली जाती है. शहर के विभिन्न मार्गों से गुजरने के बाद यह जुलूस रात साढे आठ बजे मंदिर लौट आएगा. किसी भी अप्रिय स्थिति से बचने के लिए 18 किलोमीटर लंबे यात्रा मार्ग के अहम स्थानों पर शहर पुलिस, होम गार्ड, राज्य रिजर्व पुलिस बल तथा अर्ध सैनिक बलों के 20,200 जवानों को तैनात किया गया है.

जगन्नाथ मंदिर में बढ़ाई जाएगी सुरक्षा, परिसर के अंदर लगेंगे 23 सीसीटीवी


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement