Rath Yatra 2020: केंद्र सरकार ने दी पुरी में रथ बनाने की इजाजत, कहा- "रथ यात्रा पर ओडिशा सरकार लेगी फैसला"

Rath Yatra: मंत्रालय ने कहा कि 'रथ कला' में कोई धार्मिक समागम नहीं होना चाहिए और यह स्थान पूरी तरह पृथक रहना चाहिए.

Rath Yatra 2020: केंद्र सरकार ने दी पुरी में रथ बनाने की इजाजत, कहा-

Rath Yatra: पुरी में भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा आगामी 23 जून को प्रस्तावित है.

नई दिल्ली:

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को स्पष्ट किया कि पुरी में रथ यात्रा (Rath Yatra) निकालने पर फैसला ओडिशा सरकार कोविड-19 के मौजूदा हालात को देखकर लेगी, हालांकि मंत्रालय ने यात्रा के लिए रथ निर्माण की मंजूरी दे दी.

ओडिशा सरकार को लिखे पत्र में गृह मंत्रालय ने कहा कि शर्तें पूरी होने के साथ 'रथ कला' में रथ निर्माण के लिए इजाजत दे दी गई है, जो जगन्नाथ मंदिर कार्यालय और श्री नाहर महल के सामने ग्रांड रोड के दोनों ओर स्थित है.
 
मंत्रालय ने कहा कि 'रथ कला' में कोई धार्मिक समागम नहीं होना चाहिए और यह स्थान पूरी तरह पृथक रहना चाहिए.

पत्र में कहा गया है कि वार्षिक रथ यात्रा निकालने का फैसला राज्य सरकार उस समय मौजूदा स्थिति को देखते हुए लेगी जो आगामी 23 जून को प्रस्तावित है.

लॉकडाउन के लिए जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार लोगों का जमा होना पूरी तरह प्रतिबंधित है.

मंत्रालय ने कहा कि श्री जगन्नाथ मंदिर की प्रबंध समिति ने सोमवार को एक बैठक के बाद 'रथ कला' में रथ निर्माण की अनुमति देने का अनुरोध किया था.

समिति ने कहा कि 'रथ कला' में कोई समागम नहीं होता क्योंकि यह कार्यस्थल है और सार्वजनिक स्थल नहीं है जहां आम जनता आ सके.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

हालांकि मंदिर समिति ने कहा कि कोविड-19 के प्रभावी प्रबंधन के लिए 'रथ कला' को पास की ग्रांड रोड और आसपास के भवनों से कपड़ा लगाकर पृथक रखा जाएगा ताकि आम जनता की पहुंच वहां नहीं हो.

गृह मंत्रालय के पत्र के अनुसार, समिति ने कहा कि कोविड-19 के प्रबंधन के लिए राष्ट्रीय स्तर पर जारी दिशा-निर्देशों का पूरी तरह पालन किया जाएगा.