अपनी नई पुस्तक में ‘कर्म’ पर विवेचना करेंगे सद्गुरु

आध्यात्मिक शिक्षक सद्गुरु (Sadhguru) अगले साल प्रकाशित होने वाली अपनी पुस्तक के जरिये कर्म और उसके विभिन्न पक्षों को उद्घाटित करने का प्रयास करेंगे.

अपनी नई पुस्तक में ‘कर्म’ पर विवेचना करेंगे सद्गुरु

अपनी नई पुस्तक में ‘कर्म’ पर विवेचना करेंगे सद्गुरु

नई दिल्ली:

आध्यात्मिक शिक्षक सद्गुरु (Sadhguru) अगले साल प्रकाशित होने वाली अपनी पुस्तक के जरिये कर्म और उसके विभिन्न पक्षों को उद्घाटित करने का प्रयास करेंगे. पेंगुइन रैंडम हाउस (penguin random house) के इंप्रिंट पेंगुइन आनंद से प्रकाशित होने वाली इस पुस्तक का शीर्षक “कर्मा: ए योगीज गाइड टू क्रिएटिंग योर ओन डेस्टिनी” रखा गया है. प्रकाशकों के अनुसार पुस्तक में कर्म और उसके परिणामों पर एक नए दृष्टिकोण से गहन विवेचना की गई है जिससे लोगों को अपने जीवन और नियति को समझने का अवसर मिलेगा.
 

सद्गुरु ने अपनी आगामी पुस्तक के बारे में कहा, “जब मैंने ‘कर्म' के विषय पर फैली ढेर सारी भ्रांतियों के बारे में जाना तब पता चला कि यह जीवन का ऐसा पहलू है जिसे सबसे ज्यादा गलत समझा गया. लोगों को यह समझना होगा कि कर्म कोई बंधन नहीं है बल्कि इसके द्वारा मुक्ति भी संभव है. इस प्रक्रिया को लेकर यह पुस्तक लिखी गई है.” पेंगुइन रैंडम हाउस इंडिया में प्रकाशक (एबरी एंड विंटेज पब्लिशिंग) मिली ऐश्वर्या ने कहा कि सद्गुरु में बेहद कठिन चीजों को सरलता से समझाने की क्षमता है इसीलिए उनकी पहुंच वैश्विक है और उनकी पुस्तकें दीर्घकालिक प्रभाव डालती हैं. सद्गुरु की पुस्तक 2021 की शुरुआत में अमेरिका और भारत दोनों देशों में एक साथ प्रकाशित होगी.

यह भी पढ़ें- धार्मिक नहीं, भारतीय नहीं, लेकिन योग सिर्फ फिटनेस की गारंटी भी तो नहीं



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com