NDTV Khabar

शुक्रवार को पूजी जाती हैं मां संतोषी, जानिए उनकी पूजा विधि और नियम

मां सतोंषी को भोग भी गुड़ और चने का चढ़ाया जाता है. साथ ही यही गुड़ और चने का प्रसाद गाय को भी खिलाया जाता है. अगर आप भी हर शुक्रवार संतोषी माता का व्रत रखना चाहती हैं तो यहां जान लें इस व्रत से जुड़ी सभी बातें. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शुक्रवार को पूजी जाती हैं मां संतोषी, जानिए उनकी पूजा विधि और नियम

संतोषी माता की पूजा

नई दिल्ली:
टिप्पणियां

शुक्रवार का दिन मां संतोषी के नाम होता है. इस दिन कई महिलाएं माता संतोषी का व्रत रखती हैं और पूजा-पाठ करती हैं. इस व्रत में आपने देखा होगा गुड़ और चने का प्रसाद खास होता है. माना जाता है कि मां सतोंषी को भोग भी गुड़ और चने का चढ़ाया जाता है. साथ ही यही गुड़ और चने का प्रसाद गाय को भी खिलाया जाता है. अगर आप भी हर शुक्रवार संतोषी माता का व्रत रखना चाहती हैं तो यहां जान लें इस व्रत से जुड़ी सभी बातें. 

मां संतोषी माता का व्रत
1. सबसे पहले मां संतोषी की प्रतिमा को मंदिर या पूजा स्थान पर स्थापित करें.
2. उनकी प्रतिमा के सामने एक जल भरा कलश रखें.
3. कलश के ऊपर ही कटोरे में गुड़-चना रखें.
4. माता के नाम का एक घी का दीपक जलाएं.
5. संतोषी माता को अक्षत, फूल, इत्र और लाल चुनरी अर्पित करें.
6. अब मां संतोषी को गुड़-चने का भोग लगाएं.
7. अब संतोषी माता की जय बोलकर माता की कथा पढ़ना शुरू करें.
8. कथा पढ़ते वक्त हाथ में गुड़ और चना रखें.
9. कथा पूरी पढ़ने के बाद मां की आरती करें.
10. अब कटोरे में रखे गुड़-चने को प्रसाद के तौर पर सभी को खिलाएं और गाय को भी खिलाएं.
11. मान्यता है कि पूरे दिन व्रत के दौरान कोई खट्टी चीज़ ना खाएं. 
12. व्रत समाप्ति तक मीठा ही खाएं.  




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... दिल्ली दंगों के मामले में जमानत छूटे लोगों की SIT ने लगाई क्लास, समझाया कि क्या है CAA और NRC?

Advertisement