NDTV Khabar

सावन महीने में इस मंदिर में मुस्लिमों ने बांटे शिव भक्तों को फल और दूध

खबर कानपुर से है जहां सावन के पहले सोमवार के दिन शिव मंदिर में कुछ मुस्लिम लोगों ने शिव भक्तों को फल, जूस, दूध और पानी बांटे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सावन महीने में इस मंदिर में मुस्लिमों ने बांटे शिव भक्तों को फल और दूध
कानपुर:

कुछ दिन पहले ही अयोध्या के श्री राम सीता मंदिर में इफ्तार का आयोजन किया गया था. फिर मेरठ में मौजूद जामा मस्ज़िद में मुसलमानों ने शिव भक्तों के लिए भंडारे का खाना बनवाया. अब खबर कानपुर से है जहां सावन के पहले सोमवार के दिन शिव मंदिर में कुछ मुस्लिम लोगों ने शिव भक्तों को फल, जूस, दूध और पानी बांटे.

श्रावण या सावन के पहले सोमवार के दिन मंदिरों में बहुत भक्त आते हैं. कई इस दिन भगवान शिव के लिए व्रत रखते हैं और पूजा-पाठ करते हैं. इस दौरान मंदिर के बाहर मुस्लिम लोगों ने शिव भक्तों को फल और दूध खिलाकर मिसाल कायम की. 

अयोध्या में लगाई जाएगी विश्व की सबसे ऊंची भगवान राम की प्रतिमा, योजना शुरू

बाते दें, सावन का पहला सोमवार 22 जुलाई को था. इस दिन देश भर के शिव मंदिरों के बाहर श्रद्धालुओं की लंबी कतारें लगीं. लोग बड़ी संख्या में मंदिरों में जलाभिषेक करने के लिए पहुंचे और पूजा-अर्चना की. सावन (Sawan) के पहले सोमवार को वाराणसी, इलाहाबाद, मेरठ, आगरा, गोरखपुर, लखीमपुर, कानपुर, लखनऊ, गोंडा और उत्तर प्रदेश के अन्य प्रमुख शहरों में बड़ी संख्या में भक्त मंदिरों में उमड़े.


सावन के सोमवार का महत्‍व
मान्‍यता है कि सावन के महीने में शिवलिंग की विशेष पूजा-अर्चना करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं. कहा जाता है कि जो महिलाएं सावन के सोमवार का व्रत रखती हैं उनके पति को लंबी आयु प्राप्‍त होती है. साथ ही अविवाहित लड़कियों को मनपसंद जीवनसाथी मिलता है. 

टिप्पणियां

VIDEO: देशभर में सावन के पहले दिन की धूम, बोलबम के नारे से गूंजा वाराणसी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement