सावन महीने में इस मंदिर में मुस्लिमों ने बांटे शिव भक्तों को फल और दूध

खबर कानपुर से है जहां सावन के पहले सोमवार के दिन शिव मंदिर में कुछ मुस्लिम लोगों ने शिव भक्तों को फल, जूस, दूध और पानी बांटे.

सावन महीने में इस मंदिर में मुस्लिमों ने बांटे शिव भक्तों को फल और दूध

कानपुर:

कुछ दिन पहले ही अयोध्या के श्री राम सीता मंदिर में इफ्तार का आयोजन किया गया था. फिर मेरठ में मौजूद जामा मस्ज़िद में मुसलमानों ने शिव भक्तों के लिए भंडारे का खाना बनवाया. अब खबर कानपुर से है जहां सावन के पहले सोमवार के दिन शिव मंदिर में कुछ मुस्लिम लोगों ने शिव भक्तों को फल, जूस, दूध और पानी बांटे.

श्रावण या सावन के पहले सोमवार के दिन मंदिरों में बहुत भक्त आते हैं. कई इस दिन भगवान शिव के लिए व्रत रखते हैं और पूजा-पाठ करते हैं. इस दौरान मंदिर के बाहर मुस्लिम लोगों ने शिव भक्तों को फल और दूध खिलाकर मिसाल कायम की. 

अयोध्या में लगाई जाएगी विश्व की सबसे ऊंची भगवान राम की प्रतिमा, योजना शुरू

बाते दें, सावन का पहला सोमवार 22 जुलाई को था. इस दिन देश भर के शिव मंदिरों के बाहर श्रद्धालुओं की लंबी कतारें लगीं. लोग बड़ी संख्या में मंदिरों में जलाभिषेक करने के लिए पहुंचे और पूजा-अर्चना की. सावन (Sawan) के पहले सोमवार को वाराणसी, इलाहाबाद, मेरठ, आगरा, गोरखपुर, लखीमपुर, कानपुर, लखनऊ, गोंडा और उत्तर प्रदेश के अन्य प्रमुख शहरों में बड़ी संख्या में भक्त मंदिरों में उमड़े.

सावन के सोमवार का महत्‍व
मान्‍यता है कि सावन के महीने में शिवलिंग की विशेष पूजा-अर्चना करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं. कहा जाता है कि जो महिलाएं सावन के सोमवार का व्रत रखती हैं उनके पति को लंबी आयु प्राप्‍त होती है. साथ ही अविवाहित लड़कियों को मनपसंद जीवनसाथी मिलता है. 

Newsbeep

VIDEO: देशभर में सावन के पहले दिन की धूम, बोलबम के नारे से गूंजा वाराणसी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com