NDTV Khabar

जानें शनिदेव की पूजा करने की विधि, बचें इन कामों से

कोई भी बुरा काम उनसे छिपा नहीं, शनिदेव हर एक बुरे काम का फल मनुष्य को ज़रूर देते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जानें शनिदेव की पूजा करने की विधि, बचें इन कामों से

कैसे की जाती है शनि देव की पूजा

खास बातें

  1. शनिदेव को सरसों का तेल चढ़ाएं
  2. शनि चालीसा का जाप करें
  3. शनि पूजा के बाद हनुमान जी की पूजा करें
नई दिल्ली: शनि देवता को न्याय का देवता कहा जाता है. ऐसी मान्यता है कि वह सभी के कर्मों का फल देते हैं. कोई भी बुरा काम उनसे छिपा नहीं, शनिदेव हर एक बुरे काम का फल मनुष्य को ज़रूर देते हैं. जो गलती जानकर की गई उसके लिए भी और जो अंजाने में हुई, दोनों ही गलतियों पर शनिदेव अपनी नजर रखते हैं. इसीलिए उनकी पूजा का बहुत महत्व है.

शनिवार के दिन भूलकर भी न खरीदें ये सामान, वरना...

हर शनिवार शनि देवता कि पूजा की जाती है. मान्यता है कि अगर पूजा सही तरीके से की जाए तो इससे शनिदेव की असीम कृपा मिलती है और ग्रहों की दशा भी सुधरती है. यहां जानिए कि हर शनिवार शनिदेव की पूजा कैसे की जाती है. 

... जानिए क्यों शनिवार के दिन पीपल के पेड़ पर चढ़ाया जाता है कच्चा दूध

1. हर शनिवार मंदिर में सरसों के तेल का दीया जलाएं. ध्यान रखें कि यह दीया उनकी मूर्ति के आगे नहीं बल्कि मंदिर में रखी उनकी शिला के सामने जलाएं और रखें. 

2. अगर आस-पास शनि मंदिर ना हो तो पीपल के पेड़ के आगे तेल का दीया जलाएं. अगर वो भी ना हो तो सरसों का तेल गरीब को दान करें. 

जानें क्यों शनि की पूजा में होता सरसों के तेल का इतना महत्व

3. शनिदेव को तेल के साथ ही तिल, काली उदड़ या कोई काली वस्तु भी भेंट करें. 

4. भेंट के बाद शनि मंत्र या फिर शनि चालीसा का जाप करे.

5. शनि पूजा के बाद हनुमान जी की पूजा करें. उनकी मूर्ति पर सिन्दूर लगाएं और केला अर्पित करें. 

टिप्पणियां
6. शनिदेव की पूजा के दौरान इस मंत्र का जाप करें: ॐ प्रां प्रीं प्रौं स: शनैश्चराय नम: 

देखें वीडियो - पूजा-पाठ के नाम पर शोषण, बंगले से छुड़ाए गए 28 बच्चे, दो गिरफ्तार
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement