NDTV Khabar

तेलंगाना के CM चंद्रशेखर राव ने कनक दुर्गा को अर्पित की हीरे की नथ

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने इंद्रकिलाद्री पहाड़ियों के शीर्ष पर स्थित देवी कनक दुर्गा के मंदिर में हीरे जड़ित नथ अर्पित की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तेलंगाना के CM चंद्रशेखर राव ने कनक दुर्गा को अर्पित की हीरे की नथ

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने देवी कनक दुर्गा को हीरे की नथ अर्पित की.

खास बातें

  1. चंद्रशेखर राव ने कनक दुर्गा को हीरे की नथ अर्पित की.
  2. पांच साल पुरानी मनौती पूरी होने के बाद केआर राव ने यह भेंट चढ़ाई.
  3. इंद्रकीलाद्री पर्वत पर बना कनक दुर्गा मां का मंदिर अत्यंत प्राचीन है.
नई दिल्ली: तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने यहां इंद्रकिलाद्री पहाड़ियों के शीर्ष पर स्थित देवी कनक दुर्गा के मंदिर में हीरे जड़ित नथ अर्पित की. अपनी पांच साल पुरानी मनौती पूरी होने के बाद उन्होंने यह भेंट चढ़ाई. अलग राज्य की मांग के लिए आंदोलन करने के दौरान केसीआर ने देवी कनक दुर्गा को नथ चढ़ाने की मन्नत मांगी थी. 

Amarnath Yatra 2018: 'बम-बम भोले' से गूंज उठा अमरनाथ, शिव भक्‍त बोले- 'डर से ऊपर आस्‍था'

इसी के लिए वह आज दोपहर अपनी पत्नी एवं परिवार के अन्य सदस्यों के साथ शहर आए और अपना वादा पूरा किया. 
देवी का सबसे महत्त्वपूर्ण श्रृंगार मानी जाने वाली नथ 11.27 ग्राम सोने से बनी है जिसमें अलग-अलग रंग के 57 हीरे जड़े हुए हैं और इसपर तेलंगाना के राज्य पक्षी पाला पित्ता की नक्काशी है.

टिप्पणियां
Amarnath Yatra 2018: 'बम-बम भोले' से गूंज उठा अमरनाथ, शिव भक्‍त बोले- 'डर से ऊपर आस्‍था'

इंद्रकीलाद्री पर्वत पर बने कनक दुर्गा मां का मंदिर अत्यंत प्राचीन है. मान्यताओं के मुताबिक, यहां पर कनक दुर्गा मां की प्रतिमा ‘स्वयंभू’ है. पौराणिक कथाओं में कहा गया है कि कनक दुर्गा ने अपने एक श्रद्धालु ‘कीलाणु’ को पर्वत बनकर स्थापित होने का आदेश दिया, जिस पर वे निवास कर सकें. यह मंदिर राज्य के मुख्य मंदिरों में दूसरा सबसे बड़ा मंदिर है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement