Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

आखि‍र शनिवार को किसकी पूजा होती है, शनि देव की या हनुमान की...

वह यह कि कुछ लोग इस दिन को शनि देव के नाम पर मनाते हैं, तो कुछ इसे हनुमान का वार मानते हैं. आखि‍र यह वार किस देवता के नाम पर है.

ईमेल करें
टिप्पणियां
आखि‍र शनिवार को किसकी पूजा होती है, शनि देव की या हनुमान की...
हिंदुओं में सप्ताह का हर दिन किसी न किसी देव को समर्पित है. हर दिन किसी एक देवता या भगवान के पूजन को महत्व दिया जाता है. इसी तरह शनिवार का भी दिन है. लेकिन इस दिन पर कुछ भक्तों को एक बात पर थोड़ी सी कन्फ्यूजन होती है. वह यह कि कुछ लोग इस दिन को शनि देव के नाम पर मनाते हैं, तो कुछ इसे हनुमान का वार मानते हैं. आखि‍र यह वार किस देवता के नाम पर है. इस दिन किसे पूजना हिंदू धर्म के अनुसार सही है. यह हम बताते हैं आपको कि हिंदू मान्यताओं में शनि और हनुमान की किन समानताओं के चलते इस दिन दोनों की पूजा संभव मानी जाती है- 
  • मान्यता के अनुसार श्रीहनुमान रुद्र अवतार हैं और शनिदेव ही एक नाम रुद्र है, तो दोनों ही देवों में समानता के चलते भी इस दिन दोनों को पूजा जाता है. 

  • शनिवार के दिन को दोनों ही देवताओं को पूजना हिंदू धर्म के अंर्तगत सही है. दरअसल सूर्य संहिता के मुताबिक हनुमानजी का जन्म शनिवार के दिन हुआ था. इसलिए इस दिन उनका पूजन भी गलत नहीं है. 

  • शनि के पिता सूर्य हैं. और मान्यता के अनुसार सूर्य ही हनुमान के गुरु हैं. यह सभी मानते हैं कि शनि देव का अपने पिता से मनमुटाव था. लेकिन सूर्य ने हनुमान को अपने तेज का अंश दिया था. इससे भी दोनों को सूर्य का अंश माना जा सकता है. 

  • अगर हनुमानसहस्त्रनाम को देखा जाए तो उसमे हिंदू देव हनुमान का एक नाम शनि भी दिया गया है. इसलिए इस दिन दोनों का ही पूजन मान्य समझा जाता है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement