NDTV Khabar

मंगलवार को करें ऐसा काम, हनुमान जी पूरी करेंगे सारी मनोकामनाएं

मान्यताओं के अनुसार मंगलवार के दिन हनुमान जी का जन्म हुआ था. इसी वजह से हनुमान जी मंगल ग्रह के नियंत्रक माने जाते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मंगलवार को करें ऐसा काम, हनुमान जी पूरी करेंगे सारी मनोकामनाएं

मान्यताओं के अनुसार मंगलवार के दिन हनुमान जी का जन्म हुआ था.

खास बातें

  1. मंगलवार के दिन हनुमान जी का जन्म हुआ था
  2. हनुमान जी को गेहूँ और गुड़ का भोजन कराते हैं
  3. इस दिन मंदिरों में बूंदी, लड्डू बांटे जाते हैं
नई दिल्ली: आपने मंदिरों में देखा होगा कि मंगलवार के दिन हनुमान जी की मूर्ति को सिंदूर से रंग दिया जाता है. इस दिन मंदिरों में बूंदी, लड्डू बांटे जाते हैं. कई लोग तो मंगलवार के दिन हनुमान जी का व्रत भी रखते हैं. लेकिन कभी सोचा है कि सिर्फ मंगलवार के दिन ही क्यों हनुमान जी को पूजा जाता है? क्यों इसी दिन हनुमान जी के लिए व्रत रखा जाता है? अगर नहीं तो यहां हम आपको बता रहे हैं कि आखिर क्यों मगंलवार का दिन हनुमान जी के लिए इतना खास होता है.

ये भी पढ़ें - जानिए हनुमान जी को क्‍यों चढ़ाया जाता है सिंदूर?

मान्यताओं के अनुसार मंगलवार के दिन हनुमान जी का जन्म हुआ था. इसी वजह से हनुमान जी मंगल ग्रह के नियंत्रक माने जाते हैं. एक और पौराणिक कथा के अनुसार एक ब्राह्मण केशवदत्त और उनकी पत्नी अंजलि संतान प्राप्ति के लिए हर मंगलवार हनुमान जी का व्रत किया करते थे, उनकी इस तपस्या से खुश होकर हनुमान जी ने उन्हें संतान वरदान में दे दी. इस संतान का नाम भी उन्होंने मंगल रखा. तभी से ऐसा माना जाता रहा है कि मंगलवार को व्रत पूजन करने से हनुमान जी सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं. 

मंगलवार के इस पूजन को लेकर लोगों का मानना ये भी है कि इस दिन हनुमान चालीसा का 100 बार जाप करने पर साहस, आत्मविश्वास और शक्ति की प्राप्ति होती है. मंगलवार के इस व्रत को हनुमान भक्त काफी खास तरीके से मनाते हैं. इस दिन हनुमान जी को गेहूं और गुड़ का भोजन कराते हैं. लाल कपड़े पहनते हैं और हनुमान जी को भी लाल फल चढ़ाते हैं.  
  
हनुमान जी को सिंदूर चढ़ाने के ऊपर रामायण में एक प्रथा काफी प्रसिद्ध है कि एक दिन हनुमान जी ने सीता से पूछा कि वो माथे पर ये सिंदूर क्यों लगती हैं? सीता जी ने इसके जवाब में हनुमान जी से कहा कि इससे उनके स्वामी की आयु लंबी होती है. इस बात से हनुमान जी बहुत प्रभावित हुए और उन्होंने अपने पूरे शरीर को सिंदूर से रंग लिया और कहा कि अगर इस सिंदूर से श्री राम की आयु दीर्घ होगी तो मैं भी अपने पूरे शरीर पर सिंदूर लगाकर अपने स्वामी को अमर कर दूंगा.

टिप्पणियां
देखें वीडियो -  भगवान हनुमान का भी बन गया आधार कार्ड​




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement