NDTV Khabar
होम | फैक्‍ट फाइल

फैक्‍ट फाइल

  • Coronavirus News: क्या 3000 तक चली जाएगी मरीजों की संख्या? कोरोना वायरस से जुड़ी आज की 10 बड़ी खबरें
    देश में कोविड-19 से मृतकों की संख्या 68 हुई, संक्रमण के 2,902 मामले सामने आएं हैं. कोरोना वायरस की रफ्तार ने बीते 24 घंटों में जबरदस्त तेजी पकड़ी है. इस दौरान 601 ने मरीज सामने आए हैं और 12 लोगों की मौत हुई है. उत्तर प्रदेश के बिजनौर में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में भाग लेने के बाद कोरोना वायरस से संक्रमित होने के संदेह में बिजनौर के जिला अस्पताल के पृथक वार्ड में रखे गए इंडोनेशिया के आठ नागरिकों सहित 13 लोगों ने अस्पताल में हंगामा किया और अंडे एवं बिरयानी की फरमाइश की. दूसरी ओर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को कहा कि सरकार को कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर बड़े पैमाने पर जांच करानी चाहिए क्योंकि ऐसा करके ही इस महामारी की वास्तविक स्थिति का पता किया जा सकता है.वहीं लोगों को उम्मीद है कि लॉकडाउन के बाद 15 अप्रैल से शायद रेलवे का परिचालन शुरू कर दे. हालांकि अभी तक इसको लेकर कहीं भी कोई आधिकारिक सूचना नहीं है.
  • Coronavirus की रफ्तार तेज : अब तक 62 की मौत, 478 नए मामले, कुल मरीज 2547, बीते 24 घंटे की 15 बड़ी बातें
    भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण की रफ्तार ने बहुत तेजी से बढ़ रही है. बीते 24 घंटे में 478 मामले सामने आए हैं. कुल मरीजों की संख्या 2547 पहुंच गई है और मृतकों का आंकड़ा भी 62 पहुंच गया है. इस बीच 163 लोग इस बीमारी से उबर चुके हैं. इस दौरान यूपी सरकार की ओर से एक कड़ा कदम उठाया गया है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने आदेश दिया है कि पुलिसकर्मियों पर हमला करने पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) के तहत कार्रवाई की जाएगी. वहीं गाजियाबाद में तबलीगी जमात से जुड़े जिन लोगों को क्वारंटाइन में रखा गया है उनकी हरकतों पर एनएसए लगा दिया गया है. गौरतलब है कि तबलीगी जमात के जिन लोगों को क्वारंटाइन में रखा गया है कि उन पर डॉक्टरों और नर्सों पर थूकने के आरोप लग रहे हैं. पीएम मोदी के 5 अप्रैल की रात रोशनी वाली अपील को कांग्रेस ने बकवास बताया है तो आरजेडी के नेता शिवानंद तिवारी ने कहा है कि इससे पता लगता है कि पीएम मोदी के पास इस बीमारी से निपटने के लिए कोई विजन नहीं है.
  • 'लॉकडाउन का समय हम घरों में जरूर, लेकिन हम में से कोई अकेला नहीं', पढ़ें PM मोदी के संबोधन की 10 खास बातें
    कोरोनावायरस के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार की सुबह 9 बजे देश के नाम वीडियो मैसेज के जरिए संदेश साझा किया. पीएम मोदी ने वीडियो मैसेज के जरिए कहा, देश एक होकर कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ सकता है. लॉक़डाउन के समय में यह सामूहिकता चरितार्थ होती नजर आ रही है. कुछ लोग यह सोच रहे हैं कि कितने दिन ऐसे और काटने पड़ेंगे. साथियों यह लॉकडाउनक का समय जरूर हैं, हम अपने घरों में जरूर हैं, लेकिन हम में से कोई अकेला नहीं है. 130 करोड़ लोगों की सामूहिक शक्ति हर लोगों की एकता है.
  • Coronavirus Lockdown के बीच मजदूरों के पलायन पर SC ने केंद्र को दिये ये 5 अहम निर्देश
    देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) पर काबू पाने के लिए लगाए गए 21 दिनों के लॉकडाउन के बाद प्रवासी मजदूरों के पलायन को लेकर दाखिल की गई याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को फिर सुनवाई की. सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार की ओर से उठाए गए कदमों की जानकारी दी गई. केंद्र सरकार की तरफ से तुषार मेहता ने कहा कि जिनमें भी वायरस के लक्षण पाए गए हैं उनको क्वॉरंटाइन में भेज दिया गया है और जिनमें कोई लक्षण नही हैं उनको 14 दिन के लिए आइसोलेशन में रखा गया है. इसके साथ ही एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम चलाया गया, ताकि 14 दिनों के लिए किसी भी यात्री की देखरेख की जा सके. सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में केंद्र सरकार को पांच अहम निर्देश दिए हैं.
  • लॉकडाउन के बाद भी निजामुद्दीन मरकज में भीड़ : 7 की मौत, इन 6 सवालों के जवाब कौन देगा?
    कोरोनावायरस के प्रकोप के बीच दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात में आए लोगों में से 24 में कोरोनावायरस का संक्रमण पाया गया है. इसके अलावा तेलंगाना से आए 6 और एक श्रीनगर के मौलवी की मौत हो चुकी है. वहीं इस मामले में सरकार और प्रशासन की घोर लापरवाही को लेकर सवाल खड़े हो गए हैं. जब दिल्ली में सबसे पहले (22 मार्च से )लॉकडाउन लागू हो गया था, तो इतने दिन तक यहां इकट्ठा हुए लोगों पर आखिर किसी की नजर क्यों नहीं गई. वहीं मामला बढ़ता देख दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि जमात का कार्यक्रम करने वालों ने घोर अपराध किया है. लेकिन तबलीगी जमात की ओर से भी इस पर एक बयान जारी किया गया है. जिसमें उसकी ओर से कहा गया है कि उन लोगों ने प्रशासन को पूरी जानकारी दी थी और यहां से लोगों को निकालने के लिए भी मदद मांगी गई थी. अब सच क्या है ये तो पूरी जांच के बाद ही पता चल पाएगा. लेकिन इस लापरवाही कितनी बड़ी कीमत चुकानी पड़ सकती है इस बात की अब आशंका जताई जा रही है. वहीं कुछ सवाल भी जिम्मेदार पदों पर बैठे लोगों पर उठ रहे हैं.
  • कोरोनावायरस: फुटबॉल और घुड़दौड़ के मैदान को कराया जा रहा है खाली, अमेरिका के अंदरूनी हालात की 10 बड़ी बातें
    कोरोनावायरस महामारी फैलने के बाद से दुनिया में इस बीमारी से अब तक 7 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं और मृतकों की संख्या 34 हजार से अधिक है. अमेरिका में इस बीमारी के मरीजों की संख्या डेढ़ लाख के करीब पहुंच रही है और मरने वालों का आंकड़ा भी 3 हजार के आसपास है. इटली में इस रोग के मामले भी एक लाख के करीब हैं और यहां 10 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. चीन में कोरोना वायरस संक्रमण के 81,470 मामले सामने आए और 3,304 मरीजों की मौत हो गई. इस बीमारी ने सुपर पावर अमेरिका की स्वास्थ्य सेवाओं की हालत बिगाड़ दी है. वहां के नागरिकों ने शायद ही कभी सोचा हो कि ऐसे हालात का कभी सामना करना पड़ेगा, विश्वयुद्ध के समय में भी नहीं. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आज सुबह ही कहा है कि हो सकता है मृतकों का आंकड़ा और बढ़ जाए. हालांकि उन्होंने यह भी दावा किया एक ऐसी जांच विकसित कर ली गई है जो 5 मिनट में रिजल्ट दे देगी. वहीं इन दावों से इतर अगर हम वहां के जमीनी हालात पर नजर डालें तो स्थिति काफी भयावाह है.
  • भारत में कोरोना संक्रमित मामलों की संख्या बढ़कर 1071 पहुंची, 29 लोगों की गई जान, सरकार ने उठाए सख्त कदम, 10 अहम बातें 
    देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए सरकार लॉकडाउन (Lockdown), सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) समेत हर संभव कदम उठा रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में अब तक कोरोनावायरस संक्रमण के कुल 1071 मामले सामने आए हैं. इस बीमारी से अब तक 29 लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकि, थोड़ी राहत वाली बात यह है कि 100 कोरोना संक्रमित मरीज अब तक ठीक भी हो चुके हैं. प्रवासी मजूदरों के पलायन को देखते हुए केंद्र सरकार ने सख्त कदम उठाते हुए राज्यों की सीमाओं को सील करने का निर्देश दिया है. यदि कोई लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए पाया गया तो उसे 14 दिन के लिए आइसोलेशन में रखा जाएगा. इसके अलावा, केंद्र सरकार ने कोरोनावायरस से निपटने के लिए 11 अधिकार प्राप्त समूह गठित किए हैं. 
  • देश में Coronavirus संक्रमित मरीजों की संख्या 1,000 पार, अब तक 27 लोगों की हो चुकी है मौत, 10 बातें
    देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण के मामले बढ़कर 1024 हो गए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक इस बीमारी से अब तक 27 लोगों की मौत हो चुकी है. राहत वाली बात ये है कि 96 मरीज इस बीमारी से ठीक भी हो चुके हैं. रविवार शाम तक 106 नए मामले सामने आए हैं. वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने रविवार को कोरोनावायरस लॉकडाउन (Coronavirus Lockdown) की वजह से देश की जनता को रही परेशानियों के लिए क्षमा मांगते हुए कहा कि यह फैसला जरूरी था. उन्होंने कहा, 'ये लॉकडाउन आपके खुद के बचने के लिए है. आपको खुद को और अपने परिवार को बचाना है. आपको लक्ष्मण रेखा का पालन करना ही है. कोई कानून, कोई नियम नहीं तोड़ना चाहता लेकिन कुछ लोग अभी भी ऐसा कर रहे हैं, वो परिस्थितियों की गंभीरता को नहीं समझ रहे हैं." बता दें कि पूरी दुनिया में कोरोनावायरस से अबतक 30 हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं.
  • मन की बात :  कुछ लोग संदिग्ध मरीजों के प्रति बुरा बर्ताव कर रहे हैं, यह दुखद है, पीएम मोदी ने कहीं 8 बड़ी बातें
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस को परास्त करने में एक दूसरे से पर्याप्त दूरी बनाने (सोशल डिस्टेंसिंग) को कारगर बताते हुये देशवासियों से लॉकडाउन के दौरान संक्रमण के संदिग्ध मरीजों के प्रति वैरभाव प्रकट करने से बचने की अपील की. मोदी ने रविवार को ‘मन की बात’ कार्यक्रम में कहा कि ऐसे कुछ मामले संज्ञान में आये हैं जिनमें कुछ लोग संदिग्ध मरीजों के प्रति बुरा बर्ताव कर रहे हैं, यह दुखद है. उन्होंने अपील की कि सोशल डिस्टेंसिंग का मतलब भौतिक दूरी को बढ़ाना और भावनात्मक दूरी को घटाना है. आपको बता दें कि भारत में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या 979 तक पहुंच चुकी है जबकि 25 लोगों की इसके चलते जान जा चुकी हैं
  • कोरोनावायरस से देश में अब तक 25 लोगों की गई जान, संक्रमित मरीजों की संख्या 979 पर पहुंची, 10 बड़ी बातें
    Delhi Anand Vihar Bus Station: दुनिया के साथ-साथ भारत में भी कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर तेजी से बढ़ता जा रहा है. 180 से ज्यादा देशों में फैल चुका यह वायरस अब तक 28,000 से ज्यादा जानें ले चुका है. दुनियाभर में करीब पांच लाख लोग इससे संक्रमित हैं. भारत में इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 979 हो गई है. देश में अभी तक 25 लोगों की मौत हो चुकी है, हालांकि 87 मरीज इस बीमारी को हराने में कामयाब भी हुए हैं. देश के सभी राज्यों से इसके मरीज सामने आ रहे हैं. दूसरी ओर दिहाड़ी मजदूरों व कामगारों के सामने रोजी-रोटी का संकट भी खड़ा हो गया है. काम व पैसा न होने की वजह से बेबस लोग अपने-अपने गांवों की ओर पलायन कर रहे हैं. आज (रविवार) सुबह भी दिल्ली के आनंद विहार बस अड्डे (Delhi Anand Vihar Bus Station) व उसके आसपास इलाके में काफी संख्या में लोग बसों की राह में खड़े रहे.
  • पहली बार देश में एक दिन में कोरोनावायरस के 194 नए मामले आए, मरीजों की संख्या 918 पर पहुंची, पढ़ें 10 अहम बातें
    Coronavirus cases in India: देश में कोरोनावायरस के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. पिछले 24 घंटों में कोरोना के 194 नए मामले सामने आए हैं. इसी के साथ भारत में इस वायरस से पीड़ित लोगों की संख्या बढ़कर 918 हो गई है. कोविड-19 की वजह से अब तक 19 लोगों की जान गई है. वहीं, 79 लोग अब तक इस बीमारी से ठीक हुए हैं या फिर उनकी स्थिति सुधरी है. कोरोनावायरस खतरे को देखते हुए सरकार ने गुरुवार को 1.70 लाख करोड़ रुपये से अधिक के राहत पैकेज की घोषणा की जबकि भारतीय रिजर्व बैंक ने कोरोनावायरस से अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए रेपो दर, सीआरआर में कटौती और बैंकों को कर्ज की किस्त पर वसूली से तीन महीने तक रोक की अनुमति दी है.
  • रोजाना 1000 कोरोना मरीज आने शुरू हुए तो क्या तैयारी करनी है? अरविंद केजरीवाल ने दिया जवाब- पढ़ें 10 अहम बातें
    कोरोनावायरस (Coronavirus) के चलते दिल्ली में लॉकडाउन को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल रोजाना डिजिटल प्रेस कांफ्रेंस करके अपडेट दे रहे हैं. देश में कोरोनावायरस (coronavirus) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. कोरोनावायरस संक्रमितों की संख्या बढ़कर 724 हो गई है. आज 30 नए मामले सामने आए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, इसमें से 17 लोगों की वायरस की वजह से जान चली गई जबकि 67 लोग अब तक ठीक हो चुके हैं. शुक्रवार को अरविंद केजरीवाल ने डिजिटल प्रेस कांफ्रेंस में कई नई जानकारियां दी. उन्होंने डॉक्टरों की तैयारियों से लेकर लोगों को खाना देने तक की सारी जानकारियां दी.
  • कोरोनावायरस लॉकडाउन के बीच RBI से राहत, बैंक तीन महीने तक EMI में दे सकते हैं छूट
    कोरोनावायरस और उसके आर्थिक प्रभावों से निपटने के लिए सरकार के बाद अब भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बड़ा कदम उठाया है. आरबीआई ने नीतिगत ब्याज दर यानी रेपो रेट में 0.75 प्रतिशत की कटौती की है. आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को कहा कि रेपो दर को मौजूदा समय में 5.15 प्रतिशत से घटाकर 4.4 प्रतिशत किया गया है. मौद्रिक नीति समिति (MPC) के 6 सदस्यों में से चार ने इस कदम के पक्ष में वोट किया है. इससे होम लोन समेत अन्य कर्जों की ईएमआई में कमी आने की उम्मीद है. आर्थिक नरमी को दूर करने के लिए आरबीआई इससे पहले भी कई बार नीतिगत ब्याज दर में कटौती कर चुका है. साथ ही बैंकों को दरों में पर्याप्त कटौती करने का भी निर्देश दिया था.  
  • कोरोनावायरस: देश में अब तक कुल 724 मामले, 17 लोगों की मौत, 67 लोग हुए ठीक- जानें 10 खास बातें
    देश में कोरोनावायरस (coronavirus) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. कोरोनावायरस संक्रमितों की संख्या बढ़कर 724 हो गई है. आज 30 नए मामले सामने आए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, इसमें से 17 लोगों की वायरस की वजह से जान चली गई जबकि 67 लोग अब तक ठीक हो चुके हैं. कोरोना के खतरे को देखते हुए बुधवार से देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) है. इस बीच, सरकार ने 1.7 लाख करोड़ रुपये के पीएम गरीब कल्याण योजना पैकेज की घोषणा की है. इसमें गरीबों, जरूरतमंदों, महिलाओं, दिव्यांगों समेत लगभग सभी वर्गों को राहत देने की कोशिश की गई है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार की कोशिश है कि कोई भी गरीब भूखा नहीं रहे. इसके अलावा, संगठित क्षेत्र के कामगारों को ध्यान में रखते हुए सरकार कर्मचारियों के कर्मचारी भविष्य निधि खाते में अगले तीन महीने पैसे जमा करेगी. सरकार नियोक्ता और कर्मचारी दोनों के हिस्से का भुगतान करेगी.  
  • स्वास्थ्य योद्धाओं को 50 लाख रुपये का बीमा कवर, उज्ज्वला योजना के तहत 3 महीने मुफ्त सिलेंडर: सरकार ने किए ये 5 बड़े ऐलान
    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कारोना वायरस (Coronavirus) और उसके आर्थिक प्रभाव से निपटने एवं देशव्यापी लॉकडाउन को लेकर गुरुवार को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 1.70 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की. यह राशि जरूरतमंदों की सहायता के लिये दी जा रही है. वित्त मंत्री ने कहा कि सभी श्रेणी के लोगों की सहायता को ध्यान में रखकर यह राहत पैकेज दिया जा रहा है. उन्होंने कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिये जुटे डाक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों के लिये 50 लाख रुपये के बीमा कवर की घोषणा भी की है. वहीं, राशन की दुकानों से 80 करोड़ परिवारों को अतिरिक्त 5 किलो गेहूं या चावल के साथ एक किलो दाल तीन महीने के लिये मुफ्त दी जाएगी.
  • कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 649 पहुंची, सरकार ने जरूरी चीजों की किल्लत नहीं होने का दिया भरोसा, पढ़ें 10 मुख्य बातें
    कोरोनावायरस (Coronavirus) से मुकाबला करने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी (PM Modi) के तीन हफ्तों के लिए लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा के बाद बुधवार को दुनिया की सबसे बड़ी बंदी की शुरुआत हुई. गुरुवार को लॉकडाउन का दूसरा दिन है. पहले दिन के दौरान, लोग जरूरी चीजों और सेवाओं की आपूर्ति को लेकर खासे चिंतित दिखे. हालांकि केंद्र सरकार और राज्य सरकारों ने लोगों को भरोसा दिलाया है कि जरूरी चीजों की दिक्कत नहीं होने दी जाएगी. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 649 हो गई है जबकि 13 लोगों की इससे अब तक मौत हो चुकी है. आज 43 नए मामले सामने आए हैं. अब तक इस बीमारी से ठीक होने वालों की संख्या भी 43 हो गई है. पीएम मोदी ने मंगलवार को देश को संबोधित करते कहा, "अगले 21 दिनों तक अपने घर से निकलना भूल जाइये." स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने चेताया कि यदि अभी कड़े कदम नहीं उठाये गए तो संक्रमण बहुत बड़े पैमाने पर फैल सकता है.
  • लॉकडाउन में कोरोनावायरस से जंग के दौरान ज़रूरी चीज़ों की किल्लत झेल रहा है भारत : 10 बड़ी बातें
    कोरोनावायरस (CoronaVirus) से लड़ने की कवायद के तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मंगलवार रात को घोषित किया गया सम्पूर्ण लॉकडाउन आधी रात से शुरू हो गया, और दुनिया के सबसे बड़े लॉकडाउन में आवश्यक सामग्रियों तथा सेवाओं की आपूर्ति को लेकर चिंता बढ़ गई है. टेलीविज़न पर प्रसारित राष्ट्र के नाम संदेश में प्रधानमंत्री ने कहा था, "अगले 21 दिन तक घर से बाहर निकलने के बारे में भूल जाइए..." स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, अब तक भारत में कोरोनावायरस के 562 पुष्ट मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से नौ की मौत भी हो चुकी है. स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने चेताया है कि अगर कड़े कदम नहीं उठाए गए, तो संक्रमण फैलने की गति बेहद ज़्यादा बढ़ सकती है.
  • आज से 3 हफ्तों के लिए पूरा देश लॉकडाउन, कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 562 हुई, पढ़ें 10 मुख्य बातें
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) के कोरोनावायरस (coronavirus) के खतरे को देखते हुए लॉकडाउन करने की घोषणा के बाद बुधवार से देश की 130 करोड़ की जनता तीन हफ्तों के लिए पूरी तरह से लॉकडाउन रहेगी. पीएम मोदी ने मंगलवार को देश को संबोधित करते हुए कहा, "आज मध्य रात्रि से, पूरा देश लॉकडाउन होगा. भारत को, भारत के हर नागरिक को, आपको, आपके परिवार को बचाने के लिए... हर सड़क को बंद किया जा रहा है. अगले 21 दिन तक घर से निकलना भूल जाइये." कोरोनावायरस के मरीजों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है. कोरोनावायरस संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 562 हो गई.  
  • Coronavirus: घर से बाहर नहीं जाना है, कोरोना को हराना है, पीएम मोदी के संबोधन की 10 बड़ी बातें
    कोरोनावायरस के प्रकोप के खिलाफ पीएम मोदी ने आज देश के नाम संबोधन के दौरान ऐलान किया कि अगले 21 दिनों तक पूरा देश लॉकडाउन रहेगा. उन्होंने कहा कि कि आज रात 12 बजे से 21 दिन के लिए पूरे देश में संपूर्ण लॉकडाउन होने जा रहा है. साइकिल तोड़ने के लिए 21 दिन जरूरी है. अगर ये 21 दिन नहीं संभले तो फिर कई परिवार तबाह हो जाएंगे, पीएम मोदी ने कहा कि हिंदुस्तान को बचाने के लिए, हर नागरिक को बचाने के लिए, आपके परिवार को बचाने के लिए घरों से बाहर निकलने पर पूरी तरह पाबंदी लगाई जा रही है. देश के हर राज्य को हर केंद्रशासित प्रदेश, गली-मुहल्ले को लॉकडाउन किया जा रहा है. यह एक तरफ से कर्फ्यू ही है.जनता कर्फ्यू से यह बढ़कर है. पीएम मोदी के संबोधन की 10 बड़ी बातें पढ़ें.
  • Coronavirus के कारण लगभग पूरा देश लॉकडाउन, अब तक 9 की मौत, मरीजों की संख्या 500 के पार पहुंची, 10 बातें
    भारत में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 500 पार कर गई है. मंगलवार को स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक अब तक 519 कोरोना के मरीजों का पता चला है, जबकि 9 लोगों की मौत हो चुकी है. मंगलवार को अब तक 52 नए मामले सामने आ चुके हैं. अच्छी खबर ये है कि 40 लोग इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं. बता दें कि सोमवार को महाराष्ट्र, दिल्ली और पंजाब की सरकारों ने सोमवार को कर्फ्यू लागू कर दिया जबकि भारत के अधिकतर हिस्सों में लॉकडाउन हो गया है. साथ ही कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए घरेलू उड़ानों पर भी रोक लगा दी गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक पश्चिम बंगाल और हिमाचल प्रदेश में सोमवार को एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई जिससे, देश में कोविड-19 से मरने वालों की कुल संख्या 9 हो गई. इससे पहले सात मौतें गुजरात, बिहार, कर्नाटक, दिल्ली, पंजाब और महाराष्ट्र (2) में हुई थीं. पूरी दुनिया में इस वायरस से अभी तक 15 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है और करीब साढ़े तीन लाख लोग प्रभावित हुए हैं.
12345»

Advertisement

 
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com