NDTV Khabar

बिहार में बाढ़ से 41 की मौत, नीतीश ने भारी बारिश को 'फ्लैश फ्लड' जैसा बताया - 10 खास बातें

नीतीश ने कहा कि 'फ्लैश फ्लड' के बाद जो नुकसान होता है, उसी तरह का नुकसान देखने को मिला है.

416 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिहार में बाढ़ से 41 की मौत, नीतीश ने भारी बारिश को 'फ्लैश फ्लड' जैसा बताया - 10 खास बातें

बिहार के कई इलाके बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हुए हैं (PTI फोटो)

पटना: पड़ोसी देश नेपाल और बिहार में लगातार हुई भारी बारिश के कारण अचानक आई बाढ़ से राज्य में 41 लोगों की मौत हो गई है. बाढ़ से 12 जिलों में करीब 65.37 लाख आबादी प्रभावित है. आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने बताया कि किशनगंज, अररिया, पूर्णिया, कटिहार, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, दरभंगा, मधुबनी, सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल एवं मधेपुरा बाढ़ से प्रभावित हैं. अररिया में बाढ़ के कारण 21 लोगों की मौत हो गई है. सीतामढ़ी में 6, किशनगंज में 5, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण और दरभंगा में 3-3 और मधुबनी में एक व्यक्ति की मौत हुई है.
मामले से जुड़ी अहम जानकारियां :
  1. बाढ़ के कारण इन 12 जिलों के 84 प्रखंड और 889 पंचायत प्रभावित हुए हैं और कुल 65.37 लाख आबादी प्रभावित हुई है.
  2. इनमें से 1,82,480 को लोगों सुरक्षा स्थानों पर पहुंचाया गया और 254 राहत शिविरों में 48,120 लोग शरण लिए हुए हैं.
  3. बाढ़ प्रभावित इलाकों में युद्ध स्तर पर राहत बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ की 22 टीमें लगाई गई हैं. इनमें 949 जवान एवं 100 नौका, एसडीआरएफ की टीम जिसमें 42 जवान और 82 नौका, सेना के 630 जवान एवं उनकी 70 नौकाओं को लगाया गया है.
  4. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नेपाल और बिहार के इलाकों में लगातार हुई भारी बारिश को 'फ्लैश फ्लड' जैसा बताया है. नीतीश ने बाढ़ से सबसे अधिक प्रभावित चार जिलों- पूर्णिया, अररिया, कटिहार एवं किशनगंज का हवाई सर्वेक्षण किया.
  5. नीतीश ने कहा कि हम लोगों ने जो पूरी स्थिति को देखा है, उससे यह प्रतीत हुआ है कि बहुत ज्यादा बारिश नेपाल और बिहार के इलाके में हुई है. उन्होंने कहा कि पानी का प्रवाह खासकर महानंदा नदी, कनकई नदी में बहुत तेज था. हम लोगों ने जो दृश्य देखा है, उसमें गांव में भी पानी घुसा है, सड़कें भी क्षतिग्रस्त हुई हैं.
  6. नीतीश ने कहा कि 'फ्लैश फ्लड' के बाद जो नुकसान होता है, उसी तरह का नुकसान देखने को मिला है. मुख्यमंत्री ने कहा कि सबसे ज्यादा अररिया और किशनगंज का बड़ा हिस्सा, पूर्णिया के तीन ब्लॉक और कटिहार का एक ब्लॉक प्रभावित हुआ है. सबसे ज्यादा प्रभावित अररिया, फारबिसगंज तथा किशनगंज में पानी घुस गया है.
  7. मुख्यमंत्री ने कहा कि कल ही केंद्र सरकार से एनडीआरएफ की टीम का आग्रह किया गया था. मैं केंद्र सरकार को धन्यवाद देता हूं कि जिस भी सहायता का हमने आग्रह किया था, बहुत जल्द ही सहायता मिल गई. एनडीआरएफ की चार टीम पहुंच गई है.
  8. इस बीच, पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि कटिहार मंडल के किशनगंज और हटवार स्टेशनों के बीच पुल संख्या 117 पर पानी खतरे के निशान से ऊपर बहने के कारण इस खंड पर ट्रेनों का परिचालन बाधित हो गया है. कुछ ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है तथा कुछ को परिवर्तित मार्ग से चलाया जा रहा है.
  9. उन्होंने बताया कि कटिहार मंडल में आंशिक रूप से समाप्त की गई ट्रेनों की कुल संख्या 11 है तथा कुल 33 ट्रेनों को रद्द किया गया है.
  10. पूर्व मध्य रेल के समस्तीपुर मंडल के विभिन्न रेलखंडों पर भी भारी बारिश के कारण परिचालन बाधित हो जाने से 15 ट्रेनों को परिवर्तित मार्ग से चलाया जा रहा है. 10 ट्रेनें अगली सूचना तक आंशिक रूप से समाप्त की गई है तथा 10 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement