NDTV Khabar

तमिलनाडु के मंत्री पर छापे के बाद टैक्स अधिकारियों का आरोप : आरके नगर के वोटरों को बांटे गए 80 करोड़ रुपये

2 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
तमिलनाडु के मंत्री पर छापे के बाद टैक्स अधिकारियों का आरोप : आरके नगर के वोटरों को बांटे गए 80 करोड़ रुपये
चेन्नई: तमिलनाडु की दिवंगत मुख्यमंत्री जे जयललिता के निर्वाचन क्षेत्र आरके नगर में होने जा रहे उपचुनाव के दौरान हर दिन एक्शन-पैक्ड रहा है, और शुक्रवार को भी सुबह-सुबह मंत्री सी. विजय भास्कर और अभिनेता शरत कुमार के चेन्नई स्थित घरों पर आयकर अधिकारी पहुंच गए थे. टैक्स विभाग के अधिकारियों ने दोनों पर वोट के लिए नकदी बांटने का आरोप लगाया है. अधिकारियों का दावा है कि जब्त किए गए दस्तावेज़ से पता चलता है कि आरके नगर के वोटरों को 80 करोड़ रुपये बांटे गए. इस सीट पर कई दशक से जयललिता ही जीतती आ रही थीं, और पिछले साल दिसंबर में उनके निधन के बाद से यह सीट रिक्त थी, और अब ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कषगम (एआईएडीएमके) के दोनों धड़ों के लिए 12 अप्रैल को होने जा रहा उपचुनाव जीतना प्रतिष्ठा का प्रश्न है.
मामले से जुड़ी अहम जानकारियां :
  1. राज्यभर में 30 से भी ज़्यादा ठिकानों पर छापे मारे गए, जिनमें राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सी. विजयभास्कर तथा अन्य शहरों में बसे उनके सहयोगियों के ठिकाने शामिल थे.
  2. अधिकारियों का कहना है कि विजयभास्कर के घर से 2,00,000 रुपये जब्त किए गए, जिसमें 'वोटरों को खरीदने के लिए रखी गई धनराशि' भी शामिल थी. एक अधिकारी ने बताया कि मंत्री तथा उनके सहयोगियों से कब्ज़ाई गई कुल राशि लगभग पांच करोड़ रुपये रही.
  3. विजयभास्कर ने आरोपों का खंडन किया है. मंत्री ने कहा, "अधिकारियों ने मुझसे 10,000 रुपये भी बरामद नहीं किए हैं... आयकर अधिकारी मुझे परेशान कर रहे हैं... उन्होंने मेरे बच्चों को स्कूल तक नहीं जाने दिया..."
  4. ऑपरेशन में सुरक्षाकर्मियों को साथ लेकर 100 से भी ज़्यादा कर अधिकारी शामिल रहे. डॉ एमजीआर मेडिकल यूनिवर्सिटी की वाइस चांसलर गीता लक्ष्मी के घर की भी तलाशी ली गई.
  5. छापा मारने वाली अधिकारियों की टीम का कहना है कि उनकी कार्रवाई उपचुनाव में अघोषित तथा काले धन के इस्तेमाल की 'ख़बरें' मिलने पर की गई.
  6. सत्तारूढ़ पार्टी के वीके शशिकला के नेतृत्व वाले धड़े का आरोप है कि विजयभास्कर और शरत कुमार को निशाना बनाया जा रहा है, क्योंकि वे धड़े के प्रत्याशी टीटीवी दिनाकरन का समर्थन कर रहे हैं. शशिकला धड़े ने केंद्र में सत्तासीन भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर राजनैतिक लाभ के लिए आयकर छापों की अनुमति देने का आरोप लगाया.
  7. छापों की कार्रवाई का ताल्लुक सोशल मीडिया पर इसी हफ्ते शेयर किए उस वीडियो से जोड़कर देखा जा रहा है, जिसमें तीन लोगों को 4,000 रुपये की रकम देते हुए देखा जा सकता है, और उनसे आग्रह किया जा रहा है कि वे टीटीवी दिनाकरन के चुनाव चिह्न 'हैट' को वोट दें.
  8. पूर्व मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम के नेतृत्व वाले विरोधी धड़े एआईएडीएमके पुराच्ची थलैवी अम्मा ने दिग्गज नेता ई. मधुसूदनन को दिनाकरन के खिलाफ मैदान में उतारा है. जयललिता की भतीजी दीपा जयकुमार भी इस चुनाव में लड़ रही हैं. तीनों प्रत्याशियों का दावा है कि जयललिता की विरासत उन्हीं की है.
  9. शशिकला और पन्नीरसेल्वम के धड़ों के बीच गुरुवार रात को हुए झड़प में कम से कम तीन लोग घायल हुए थे.
  10. बीजेपी ने छापों के पीछे किसी तरह के राजनैतिक उद्देश्य से इंकार किया है, और कहा है कि अधिकारियों द्वारा केवल 'प्रशासनिक' कार्रवाई की गई.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement