NDTV Khabar

कोल्लम मंदिर में आग : 'पटाखे फोड़ने की होड़' हो सकती है हादसे की वजह

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कोल्लम मंदिर में आग : 'पटाखे फोड़ने की होड़' हो सकती है हादसे की वजह
कोल्लम: कोल्लम के पुत्तिंगल मंदिर में भयानक आग लगने से अभी तक 106 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 350 से ज्यादा के घायल होने की खबर है। आग रविवार की सुबह 3 बजे के करीब लगी है। पीएम मोदी हादसे का जायज़ा लेने के लिए केरल जा रहे हैं। उन्होंने ट्वीट करके भी मृतकों और घायलों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है।
मामले से जुड़ी अहम जानकारियां :
  1. अधिकारियों का कहना है कि सुबह 3 बजे के करीब मंदिर में एक समारोह के दौरान आतिशबाज़ी की जा रही थी जिसे देखने के लिए मैदान पर 10 हज़ार से ज्यादा लोग उपस्थित थे।
  2. पटाखे फोड़ने के दौरान चिंगारियां पास के गोदाम तक पहुंच गई जहां गुरुवार को नववर्ष विशु के मौके के लिए पटाखों का ढेर रखा हुआ था। हादसे का असर डेढ़ किलोमीटर की दूरी तक पड़ा है और घायलों को त्रिवेंद्रम मेडिकल कॉलेज समेत अन्य अस्‍पतालों में भर्ती करवाया गया है। 10 अस्पतालों में इलाज की व्यवस्था की गई है।
  3. सूत्रों का कहना है कि अधिकारी इस बात की जांच में लगे हैं की कहीं यह हादसा 'पटाखे फोड़ने की होड़' लगने की वजह से तो नहीं हुआ।
  4. पीएम मोदी भी हालात का जायज़ा लेने के लिए केरल पहुंचे। इससे पहले उन्होंने ट्वीट करके भी अपनी संवेदना व्यक्त की है। पीएम ने यह भी लिखा की गंभीर रूप से घायल लोगों को चॉपर की मदद से इलाज के लिए ले जाया जाएगा।
  5. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री ओमान चांडी से बातचीत की है और उन्हें हर तरह की मदद मुहैया करवाने की बात की है।
  6. मुख्यमंत्री चांडी ने चुनाव आयोग से पीड़ित परिवारों की मदद करने के लिए अनुमति मांगी है क्योंकि अगले महीने होने वाले विधानसभा चुनाव की वजह से राज्य में आचार संहिता लागू है।
  7. अभी तक यह साफ नहीं हुआ है कि रात में आतिशबाजी की अनुमति मंदिर के पास थी या नहीं। मंदिर की छत पूरी तरह से जल कर खाक हो गई। साथ ही मंदिर का एक हिस्सा भी गिर गया है।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement