NDTV Khabar

'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' के ट्रेलर से ही मचा सियासी घमासान, 10 प्वाइंट में जानें हंगामा है क्यों बरपा...

पूर्व पीएम डॉ. मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार रहे संजय बारू की किताब पर बनी फ़िल्म 'द ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टिर' (The Accidental Prime Minister) पर बनी फ़िल्म पर हंगामा बरपा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' के ट्रेलर से ही मचा सियासी घमासान, 10 प्वाइंट में जानें हंगामा है क्यों बरपा...

The Accidental Prime Minister फिल्म पर सियासी पारा चढ़ा

नई दिल्ली: पूर्व पीएम डॉ. मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार रहे संजय बारू की किताब पर बनी फ़िल्म 'द ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टिर' पर बनी फ़िल्म पर हंगामा बरपा है. इस फिल्म को एक ओर जहां भारतीय जनता पार्टी अपना सियासी हथियार बनाना चाहती है, वहीं काग्रेस इस फिल्म को बनाने की मंशा पर सवाल खड़े कर रही है. द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर फिल्म को कांग्रेस ने बीजेपी की साज़िश बताते हुए पार्टी को फ़िल्म दिखाए जाने की मांग की है. हालांकि, ऐसी खबर है कि इस मांग को कांग्रेस ने वापस ले लिया है. वहीं अनुपम कहते हैं कांग्रेस फ़िल्म का जितना विरोध करेगी उतना ही प्रचार होगा. बीजेपी इस फिल्म के ट्रेलर को अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर जगह देकर सियासी पारे को बढ़ा दिया. इसके बाद द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर पर विवाद गहरा गया. दरअसल, गुरुवार को 'द ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टिर' का ट्रेलर जारी हुआ और इसके बाद से इस पर हंगामा की परत चढ़ती गई. तो चलिए जानते हैं कि ट्रेलर लॉन्च के बाद की अब तक की 10 बड़ी बातें...
The Accidental Prime Minister पर विवाद से जुड़ी दस बातें
  1. पूर्व पीएम पर बनी फ़िल्म The Accidental Prime Minister पर हंगामा बरपा है. इसकी उम्मीद भी थी, क्योंकि जानकारों के मुताबिक 'द ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टिर' सीधे-सीधे गांधी परिवार पर निशाना साध रही है. इसके ट्रेलर में जो संकेत मिल रहे हैं, उससे साफ है कि फिल्म में कांग्रेस और गांधी परिवार ही निशाने पर है. 
  2. कांग्रेस ने फ़िल्म को लेकर कड़ी आपत्ति दर्ज कराई है. महाराष्ट्र यूथ कांग्रेस ने तल्ख लहजे में फ़िल्म की स्क्रीनिंग की मांग की है. हालांकि, अब ऐसी खबर है कि कांग्रेस इस मांग से पीछे हट गई है. वहीं कांग्रेस सांसद पीएल पुनिया ने इसे बीजेपी की साज़िश बताया है. 
  3. फ़िल्म में हुबहू पूर्व पीएम डॉ.मनमोहन सिंह की तरह नज़र आ रहे अनुपम खेर का कहना कि कांग्रेस जितना विरोध करेगी फ़िल्म का उतना प्रचार होगा. फिल्म ‘‘ऐक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर'' को अपने ‘जीवन का बेहतरीन प्रदर्शन' करार देते हुए अभिनेता अनुपम खेर ने शुक्रवार को कहा कि इस फिल्म को सृजनात्मक प्रयास के तौर पर देखा जाना चाहिए न कि किसी राजनीतिक दल के समर्थन की कोशिश के तौर पर. 
  4. दिल्ली में कांग्रेस के स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे पूर्व पीएम मनमोहन सिंह से जब फ़िल्म को लेकर सवाल पूछा गया तो बिना कोई जवाब दिए वो आगे बढ़ गए. ये चुप्पी भी मायने रखती है,. 
  5. वहीं बीजेपी के ट्विटर हैंडल से फ़िल्म के ऑफ़िशल ट्रेलर के वीडियो को ट्वीट करने का केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री राज्यवर्धन राठौड़ ने बचाव किया है. सूचना एवं प्रसारण मंत्री राज्यवर्धन राठौड़ ने कहा कि कांग्रेस आज़ादी की बात करती है वो आज़ादी पर सवाल क्यों उठा रही है. क्या हम किसी फ़िल्म को शुभकामनाएं भी नहीं दे सकते?
  6. अनुपम खेर ने कहा कि मुझे लगता है कि यह आधुनिक भारत के राजनीतिक दशक की जबर्दस्त गाथा है और मुझे बतौर अभिनेता उसका हिस्सा बनने का मौका मिल रहा है. मैं ऐसा हूं जिसने हमेशा अपने आप को एक अलग रुप में ढ़ाला है.
  7. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के सलाहकार रहे संजय बारू की किताब पर आधारित ये फ़िल्म 2019 में 11 जनवरी को रिलीज़ होगी. फ़िल्म दिखाए जाने की मांग के साथ कांग्रेस शासित राज्यों में फ़िल्म को बैन किए जाने की बात उठने लगी है तो वहीं कोर्ट पहुंचने की धमकी भी कांग्रेस ने दे दी है. हालांकि, मध्य प्रदेश सरकार ने बैन लगाने की बात से इनकार कर दिया है. देखते हैं ट्रेलर रिलीज़ के साथ ही विवादों में आई 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' पर्दे पर आने तक कितने विवादों से गुज़रेगी.
  8. मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर बनी फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' पर प्रतिबंध नहीं लगाया है. मध्यप्रदेश सरकार के जनसंपर्क विभाग द्वारा इस संबंध में चल रही अफवाहों को शांत करने के लिए ट्विटर पर सूचना जारी की गई है कि मध्यप्रदेश सरकार द्वारा फिल्म 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' पर प्रतिबंध नहीं लगाया गया है. विभाग ने कहा कि फिल्म पर प्रतिबंध की मीडिया में चल रही खबर ‘भ्रामक और गलत' है. 
  9. ‘द ऐक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' पर भाजपा पर प्रहार करते हुए राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के सांसद मनोज झा ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि भगवा पार्टी ने इस फिल्म के वास्ते अपना खजाना खोल दिया. उन्होंने कहा कि राफेल जेट विमान सौदे में कथित अनियमितताओं, नोटबंदी और किसानों की आत्महत्या पर भी फिल्में बनायी जानी चाहिए. 
  10. दरअसल, फिल्म का ट्रेलर करीब 2.43 मिनट का है. ट्रेलर की शुरुआत मनमोहन सिंह की भूमिका निभा रहे अनुपम खेर से होती है. संजय बारू का किरदार अक्षय खन्ना निभा रहे हैं. ट्रेलर में कई डायलॉग ऐसे हैं, जो कांग्रेस के खिलाफ में जाती दिख रही हैं. संजय बारू की भूमिका निभा रहे अक्षय खन्ना बोलते हैं- "मुझे तो डॉ. साहब (मनमोहन सिंह) भीष्म जैसे लगते हैं. जिनमें कोई बुराई नहीं है. पर फैमिली ड्रामा के विक्टिम हो गए. महाभारत में दो फैमिलीज थीं, इंडिया में तो एक ही है."  




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement