NDTV Khabar

परंपरागत मंत्र्योच्चार के साथ निर्मला सीतारमण ने संभाला रक्षामंत्री का कार्यभार

नई रक्षामंत्री ने  कहा कि उनका जोर मेक इन इण्डिया पर होगा. ये भी कहा कि  मेरी प्राथमिकता हमारी सेनाओं की तैयारी को पुख़्ता करने की होगी. सेना को बेहतर से बेहतर हथियार मुहैया कराने पर ध्यान दिया जाएगा.

1Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
परंपरागत मंत्र्योच्चार के साथ निर्मला सीतारमण ने संभाला रक्षामंत्री का कार्यभार

रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण.

नई दिल्ली: परंपरागत मंत्र्योच्चार के साथ निर्मला सीतारमण ने बतौर रक्षा मंत्री कार्यभार संभाला. वे देश की पहली फुलटाइम रक्षामंत्री है. नई रक्षामंत्री ने  कहा कि उनका जोर मेक इन इण्डिया पर होगा. ये भी कहा कि  मेरी प्राथमिकता हमारी सेनाओं की तैयारी को पुख़्ता करने की होगी. सेना को बेहतर से बेहतर हथियार मुहैया कराने पर ध्यान दिया जाएगा.
पदभार ग्रहण के करने के बाद उनके द्वारा कही गई पांच अहम बातें
  1. नई रक्षा मंत्री के मुताबिक रक्षा के क्षेत्र में मेक इन इंडिया की ख़ास ज़रूरत है. इससे रक्षा क्षेत्र में देश को फायदा होगा और साथ ही हमारी कोशिश निर्यात बढ़ाने पर भी होगी.कोशिश है कि रक्षा उत्पादन के क्षेत्र में इसका पूरा फायदा हो.
  2. उनका ये भी कहना है कि  रक्षा क्षेत्र में लंबित मामलों का प्रधानमंत्री और कैबिनेट कमेटी ऑन सिक्योरिटी से परामर्श कर समाधान निकाला जाएगा.
  3. उनके मुताबिक सैनिकों और परिवारों का कल्याण भी मेरी प्राथमिकताओं में शामिल है. हमारी पूरी कोशिश होगी कि रक्षा के क्षेत्र में हमारी प्राथमिकताओं पर काम हो.
  4. पद्रभार संभालते ही रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन ने 8685 पूर्व सैनिकों, देश सेवा में जान गंवाने वाले सैनिकों की विधवाओं और उनके आश्रितों के लिए 13 करोड़ से ज़्यादा की सहायता राशि जारी की है. यह राशि रक्षा मंत्री एक्स सर्विसमैन फण्ड के तहत दी गई है.
  5. निर्मला सीतारमन ने कार्यभार संभालते ही कहा था कि सैनिकों और उनके परिवारों का हित उनकी प्राथमिकताओं में शामिल है और उनकी पूरी कोशिश होगी कि रक्षा क्षेत्र में उनकी प्राथमिकताओं पर काम हो.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement