NDTV Khabar

GST : पहली रिटर्न फाइलिंग से सरकारी खजाने में आए 42,000 करोड़ रुपये -10 खास बातें

अब तक 10 लाख करदाताओं ने रिटर्न दाखिल किया है और 20 लाख ने लॉग इन किया है और टैक्स रिटर्न फॉर्म हासिल किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
GST : पहली रिटर्न फाइलिंग से सरकारी खजाने में आए 42,000 करोड़ रुपये -10 खास बातें

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली: माल एवं सेवा कर (जीएसटी) की नई व्यवस्था के तहत पहले महीने में टैक्स भुगतान के रूप में सरकार को 42,000 करोड़ रुपये की आमदनी हुई. राजस्व में और बढ़ोतरी होने की संभावना है, क्योंकि रिटर्न फाइलिंग प्रक्रिया इस सप्ताह के आखिर में खत्म होगी.
जीएसटी से मालामाल हुई सरकार
  1. एकीकृत जीएसटी के रूप में 15,000 करोड़ रुपये आये हैं. एकीकृत जीएसटी वस्तुओं की एक राज्य से दूसरे राज्य में आवाजाही पर लगता है.
  2. कार तथा तंबाकू जैसी वस्तुओं पर सेस के जरिये 5,000 करोड़ रुपये की आमदनी हुई है.
  3. 22,000 करोड़ केंद्रीय जीएसटी तथा राज्य जीएसटी के रूप में आए हैं. इस राशि को केंद्र और राज्य सरकार के बीच बराबर-बराबर बांटा जाएगा.
  4. एक अधिकारी ने कहा कि सोमवार सुबह तक टैक्स जमा 42,000 करोड़ रुपये रहा.
  5. अब तक 10 लाख करदाताओं ने रिटर्न दाखिल किया है और 20 लाख ने लॉग इन किया है और टैक्स रिटर्न फॉर्म हासिल किया है.
  6. सरकारी अनुमान है कि 90-95 प्रतिशत करदाता रिटर्न फाइल करेंगे और टैक्स का भुगतान करेंगे.
  7. 1 जुलाई से लागू जीएसटी व्यवस्था के तहत कंपनियों को मासिक टैक्स रिटर्न फाइल करना है.
  8. पहले महीने का टैक्स रिटर्न भरने की तारीख बढ़ाकर 25 अगस्त कर दी गई है. रिटर्न फाइल करने की अंतिम तारीख 20 अगस्त से ठीक एक दिन पहले वेबसाइट में तकनीकी दिक्कत होने के चलते यह समयसीमा बढ़ाई गई है.
  9. जीएसटी ने उत्पाद शुल्क, सेवा कर तथा वैट समेत एक दर्जन से अधिक केंद्रीय तथा राज्यों के टैक्स को समाहित किया है.
  10. पिछले वर्ष जुलाई में 31,782 करोड़ रुपये उत्पाद शुल्क के रूप में जबकि 19,600 करोड़ रुपये सर्विस टैक्स के रूप में जमा हुए थे.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement