गुजरात चुनाव : प्रथम चरण में 66.75 फीसदी मतदान, 10 बड़ी बातें

मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त एके ज्‍योति ने बताया कि पहली बार सभी विधानसभा क्षेत्रों में ईवीएम और वीवीपैट मशीनों का इस्‍तेमाल हुआ और सभी दिव्‍यांग वोटरों को मैप किया गया.

गुजरात चुनाव : प्रथम चरण में 66.75 फीसदी मतदान, 10 बड़ी बातें

गुजरात चुनाव 2017 : ईवीएम में खराबी की खबरों पर कांग्रेस ने की थी शिकायत

अहमदाबाद: गुजरात चुनाव के पहले चरण की प्रक्रिया शांतिपूर्ण रूप से और बिना की घटना के समाप्‍त हो गई. मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त एके ज्‍योति ने संवाददाताओं को जानकारी देते हुए कहा कि मतदान शाम 5 बजे समाप्‍त हो गया.

अब तक की 10 बड़ी बातें

  1. गुजरात विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण में शनिवार को 66.75 फीसदी मतदान हुआ. निर्वाचन आयोग ने मतदान संबंधी अंतिम आंकड़े रविवार को जारी किए. सर्वाधिक मतदान (79.15 फीसदी) जनजातीय जिले नर्मदा में हुआ. इसके बाद तापी में 78.56 फीसदी और सबसे कम (59.39 फीसदी) मतदान देवभूमि द्वारका जिले में हुआ.

  2. नर्मदा जिले के देदियापाड़ा निर्वाचन क्षेत्र में सर्वाधिक 84.63 फीसदी मतदान हुआ. इससे थोड़ा पीछे वलसाड जिले का कपराडा रहा, जहां 83.91 फीसदी मतदान हुआ. सबसे कम मतदान कच्छ जिले में अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित सीट गांधीधाम में 54.18 फीसदी दर्ज किया गया.

  3. ब्‍लूटूथ के जरिए ईवीएम की हैकिंग की खबरों पर चुनाव आयोग ने कहा कि ब्‍लूटूथ और ईवीएम में कोई कनेक्‍शन नहीं है. ईवीएम मशीनों में ऐसा हो पाने के लिए ना तो रिसेप्‍टर्स होते हैं और न ही वायरिंग. इसलिए ऐसी खबरें गलत हैं.

  4. गुजरात विधानसभा चुनाव  के पहले चरण की 89 सीटों के लिए मतदान सुबह 8 बजे से शुरू हो गया था. पहले चरण में 19 जिलों की 89 सीटों पर 68 फीसदी मतदान दर्ज किया गया है और यह आंकड़ा 71 फीसदी तक पहुंचने की उम्मीद है. पिछले विधानसभा चुनाव में भी समान मतदान 70.7 प्रतिशत दर्ज किया गया था.

  5.  कच्छ जिले में 63 फीसदी, सुरेंद्रनगर में 75, मोरबी में 75, राजकोट में 70, जामनगर में 65, भरूच में 71, नर्मदा में 73, खेड में 73, पोरबंदर में 60, देवभूमि द्वारका में 63, गिर सोमनाथ में 70, अमरेली में 67, भावनगर में 62, सूरत में 70, नवसारी में 75, वलसाड में 70, बोटड में 60, तापी में 73, जूनागढ़ में 65, डांग में 70 फीसदी मतदान दर्ज किया गया.

  6. चुनाव उपायुक्त उमेश सिन्हा ने कहा कि इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) के ब्लूटूथ से कनेक्ट होने की शिकायतें आई थी लेकिन सभी खबरें पूर्ण रूप से झूठी पाई गईं.

  7. चुनाव उपायुक्त ने यह भी कहा कि ऐसा पहली दफा हुआ है कि बड़े पैमाने पर ईवीएम के साथ वीवीपैट (वोटर-वेरिफाइड पेपर ऑडिट ट्राइल)का इस्तेमाल किया गया है.

  8. इस चरण में मुख्यमंत्री विजय रुपानी (राजकोट पश्चिमी), कांग्रेस के शक्तिसिंह गोहिल (मांडवी) और परेश धनानी (अमरेली) जैसे महत्वूपर्ण उम्मीदवारों की राजनीतिक किस्मत आज ईवीएम में बंद हो गयी.

  9. इस चुनाव को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए प्रतिष्ठा संघर्ष और शीघ्र ही कांग्रेस अध्यक्ष बनने जा रहे पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व के लिए एक बड़े इम्तिहान के रुप में देखा जा रहा है.

  10. राज्य में बाकी 93 सीटों के लिए 14 दिसंबर को दूसरे चरण में मतदान होगा। मतगणनना 18 दिसंबर को होगी.



 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com