NDTV Khabar

हैप्पी बर्थडे  Internet, 5 प्वॉइंट्स में जानें कैसे आया WWW

WWW के उत्पत्ति के लक्षण 1980 में ही मिलना शुरू हो गए थे. 1989-90 में पहली बार कंप्‍यूटर वैज्ञानिक टिम बर्न्स ली (Tim Berners-Lee) ने वर्ल्ड वाइड वेब (world wide web) का आइडिया दिया था.

96 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
हैप्पी बर्थडे  Internet, 5 प्वॉइंट्स में जानें कैसे आया WWW

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली: आज इंटरनेट हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा बन चुका है. बिना इंटरनेट के हमारे रोजमर्रा के कार्य कैसे पूरे होंगे, इसकी कल्पना करके ही हम परेशान हो जाते हैं. 6 अगस्‍त को इंटरनेट यानी वर्ल्‍ड वाइड वेब (WWW) का जन्‍म दिन है. क्या आप जानते हैं कि इंटरनेट जिस प्लेटफॉर्म पर काम करता है वो अस्तित्व में कब आया? WWW के उत्पत्ति के लक्षण 1980 में ही दिखने लगे थे. 1989-90 में पहली बार कंप्‍यूटर वैज्ञानिक टिम बर्न्स ली (Tim Berners-Lee) ने वर्ल्ड वाइड वेब (world wide web) का आइडिया दिया था. उस समय टिम को अंदाजा भी नहीं था कि वर्ल्ड वाइड वेब (WWW) इतना बड़ा आकार ले लेगा.
महत्वपूर्ण तथ्य
  1. टिम बर्न्स ली ने स्विटजरलैंड में यूरोपीय नाभिकीय अनुसंधान संगठन (CERN)में नौकरी करने के दौरान ब्राउजर कंप्यूटर प्रोग्राम लिखा था. उन्‍होंने तीन टेक्‍नोलॉजी के फंडामेंटल लिखे जिनमें, HTML, URL और HTTP शामिल है.  6 अगस्त 1991 को टिम ने वर्ल्ड वाइड वेब प्रोजेक्ट का रिसर्च पेपर पब्लिश किया. 
  2. इस रिसर्च पेपर में टिम ने CERN के अपने मैनेजर से एक ऐसे इंफॉर्मेशन सिस्टम की मांग की थी जो उनकी लैब में एक कम्प्यूटर से दूसरे को कनेक्ट कर सके. टिम का यह प्रपोजल स्वीकार कर लिया गया और इसके बाद यूनिवर्सिटी और रिसर्चर्स एक कनेक्शन नेटवर्क से जुड़े. 
  3. यह था इंटरनेट पर पहला कम्युनिकेशन. 1991 में वेब ब्राउजर को CERN के बाहर रिलीज किया गया. अन्य रिसर्च संगठनों ने भी इस पर काम किया. इस तरह से 6 अगस्त को इंटरनेट का जन्म हुआ. पहली वेबसाइट http://info.cern.ch थी. अप्रैल 1993 में CERN कंपनी ने इंटरनेट की रॉयल्टी ओपन सोर्स कर दी. 
  4. इसके बाद शुरू हुआ वो दौर जिसने आज के जमाने के इंटरनेट की नींव रखी. इस दौर में कई वेब कंपनियों ने जन्म लिया. जिसमें गूगल, अमेजन जैसी कंपनियां शामिल हैं. 
  5. भारत में जन सामान्य के लिए इंटरनेट सेवा का आरम्भ 15 अगस्त 1995 को किया गया जिसे विदेश संचार लिमिटेड द्वारा प्रारम्भ किया गया. सिस्को की विजुअल नेटवर्किंग इंडेक्स (VNI) की रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2021 तक इंटरनेट यूजर्स की संख्या बढ़कर 82.9 करोड़ हो जाएगी. वहीं, पिछले साल भारत में 37.3 करोड़ इंटरनेट यूजर्स ही थे जो जनसंख्या का 28 फीसद हिस्सा है.  



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement