NDTV Khabar

हार्ट ऑफ एशिया कॉन्फ्रेंस शुरू, आतंकवाद पर पाकिस्तान को घेरेंगे भारत और अफगानिस्तान- 10 बातें

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
हार्ट ऑफ एशिया कॉन्फ्रेंस शुरू, आतंकवाद पर पाकिस्तान को घेरेंगे भारत और अफगानिस्तान- 10 बातें

इस सम्मेलन के लिए शहर में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं

अमृतसर: स्वर्ण मंदिर और जलियांवाला बाग के लिए प्रसिद्ध अमृतसर में दो दिवसीय हार्ट ऑफ़ एशिया सम्मेलन शुरू हो गया. इस सम्मेलन में आतंकवाद के मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय मंच पर पाकिस्तान को घेरने का भारत के पास बेहतरीन मौका होगा और इसमें अफगानिस्तान का साथ मिलने की पूरी उम्मीद है.
मामले से जुड़ी अहम जानकारियां :
  1. भारत ने उरी में सैन्य ठिकाने पर हमले के बाद पाकिस्तान को कूटनीतिक रूप से अलग-थलग करने करने का आह्वान किया था और हार्ट ऑफ एशिया सम्मेलन में उसी दिशा में अपना प्रयास जारी रख सकता है.
  2. भारत की इस कोशिश में अफगानिस्तान का भी पूरा साथ मिलने की उम्मीद है, क्योंकि वह भी खुद को पड़ोसी देश की जमीन से प्रायोजित आतंकवाद का शिकार बताता रहा है. पाकिस्तानी सरजमीं से चल रहे आतंकवादी संगठनों ने अफगानिस्तान में हमले तेज कर दिए हैं.
  3. हार्ट ऑफ एशिया - इस्तांबुल प्रोसेस के वार्षिक सम्मेलन में करीब 40 देशों समेत यूरोपीय संघ जैसे प्रमुख समूह संकट से घिरे अफगानिस्तान में शांति प्रक्रिया बहाली समेत देश से जुड़ी कई समस्याओं पर चर्चा कर रहे हैं.
  4. भारत, चीन, रूस, ईरान और पाकिस्तान समेत सभी 14 देशों के वरिष्ठ अधिकारी और 17 सहयोगी देशों के प्रतिनिधि अफगानिस्तान के जटिल सुरक्षा परिदृश्य और आतंकवाद, कट्टरता और उग्रवाद के खतरे से निपटने के मुद्दे समेत कई व्यापक विषयों पर विचार-विमर्श कर रहे हैं.
  5. वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक में व्यापार को बढ़ावा देने के लिए दक्षिण और मध्य एशियाई देशों के साथ अफगानिस्तान का संपर्क बेहतर करने पर चर्चा हो रही है. भारत के विदेश सचिव एस. जयशंकर और अफगानिस्तान के उप विदेश मंत्री हिकमत खलील करजई बैठक की संयुक्त अध्यक्षता कर रहे हैं. बैठक में रविवार के मंत्रिस्तरीय सम्मेलन के मसौदों को अंतिम रूप दिया जा रहा है और साथ ही इसके घोषणापत्र पर भी चर्चा की जा रही है, जिसका एक बड़ा हिस्सा आतंकवाद से संबंधित होगा.
  6. प्रधामनंत्री नरेंद्र मोदी और अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी रविवार को संयुक्त रूप से मुख्य सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे. एक अधिकारी ने बताया कि भारत-अफगानिस्तान संबंधों को मजबूत करने के लिए दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय वार्ता होने की भी संभावना है. उन्होंने कहा कि दोनों नेता स्वर्ण मंदिर में मत्था टेकने भी जाएंगे.
  7. वहीं पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज भी इस सम्मेलन में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करेंगे. अजीज रविवार को यहां पहुंचेंगे और उसी दिन उनके लौट जाने की भी संभावना है.
  8. सभी की निगाहें इस बात पर होगी कि इस मौके पर भारत-पाक द्विपक्षीय वार्ता होती है या नहीं. हालांकि अजीज की अमृतसर यात्रा से पहले ही भारत ने कह चुका है कि वह पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय संबंधों में सीमापार आतंकवाद की निरंतरता को 'नई सामान्य स्थिति' के रूप में कभी स्वीकार नहीं करेगा. उसने स्पष्ट किया कि 'निरंतर आतंकवाद' के माहौल में वार्ता नहीं हो सकती.
  9. भारत-पाकिस्तान सीमा के करीब स्थित अमृतसर में हार्ट ऑफ एशिया सम्मेलन के मद्देनजर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है. पंजाब में भारत-पाक सीमा पर कड़ी चौकसी की जा रही है.
  10. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि प्रसिद्ध इस पवित्र शहर में  किसी भी अप्रिय स्थिति से बचने के लिए सभी सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं. उन्होंने बताया कि भागीदार देशों, समर्थक देशों और संगठनों के प्रतिनिधि स्वर्ण मंदिर का दौरा करेंगे जिनमें चीन, ईरान, सउदी अरब और यूएई शामिल हैं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement