NDTV Khabar

कर्नाटक उपचुनाव 2018 : कांग्रेस-JDS गठबंधन की अग्निपरीक्षा, BJP के पास बदला लेने का मौका - 10 खास बातें

कर्नाटक (karnataka by election 2018) में तीन लोकसभा और दो विधानसभा सीटों के उपचुनाव के परिणाम आज यानी मंगलवार को घोषित किये जाएंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कर्नाटक उपचुनाव 2018 : कांग्रेस-JDS गठबंधन की अग्निपरीक्षा, BJP के पास बदला लेने का मौका - 10 खास बातें

Karnataka ByPoll Result 2018 : कर्नाटक उपचुनाव 2018 परिणाम

नई दिल्ली: कर्नाटक में लोकसभा की तीन और विधानसभा की दो सीटों पर हुए उपचुनाव के परिणाम अगले साल होने वाले आम चुनाव 2019 के लिहाज़ से काफी अहम हैं. कर्नाटक मंगलवार को उपचुनावों के परिणामों के लिए इंतज़ार कर रहा है, जो न सिर्फ भारतीय जनता पार्टी (BJP), बल्कि राज्य में सत्तासीन कांग्रेस-JDS के लिए भी काफी अहम हैं. लोकसभा सीटों, शिमोगा, बल्लारी और मांड्या तथा विधानसभा सीटों जामखंडी और रामनगरम के परिणाम सभी के लिए अहम इसलिए हैं, क्योंकि लोकसभा की तीन में से दो सीटों पर अब तक BJP का कब्ज़ा था, वहीं, एक पर JDS की जीत हुई थी. इन तीन सीटों में से दो पर भी जीत BJP का मनोबल ऊंचा रखेगी, वहीं, विधानसभा चुनाव में मिली कामयाबी से कांग्रेस-JDS गठबंधन भी खुद को कमतर नहीं आंक रहा है. बता दें कि मई में हुए विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस-JDS ने मिलकर सरकार बनाई थी.
कर्नाटक उपचुनाव के नतीजे से जुड़ी 10 बातें
  1. कर्नाटक में (karnataka by election 2018) चुनाव अधिकारियों ने कहा कि पांचों निर्वाचन क्षेत्रों में पांचों केंद्रों पर मंगलवार सुबह आठ बजे सुबह मतगणना शुरू होगी. कुल 1248 मतगणना कर्मी तैनात किये गए हैं. बता दें कि कर्नाटक की तीन लोकसभा सीटों शिमोगा, बेल्लारी (अजजा) व मांड्या तथा दो विधानसभा सीटों रामनगरम व जामखंडी पर शनिवार को औसतन 67 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया था. इनमें से बेल्लारी (अजजा) सीट पर 63.85 फीसदी, मांड्या में 53.93 फीसदी, शिमोगा में 61.05 फीसदी, रामनगरम में 81.58 फीसदी तथा जामखंडी सीट पर 73.71 फीसदी मतदान दर्ज किया गया था. 
  2. लोकसभा की तीनों सीटों में से पिछली बार की दो जीत बीजेपी का जहां मनोबल ऊंचा रखेगी. वहीं, विधानसभा चुनाव में मिली कामयाबी से कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन अपने को भी कमतर नहीं आंकेगी. बता दें कि मई में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस-जेडीएस ने मिलकर सरकार बनाई थी. हालांकि, सबसे बड़ी पार्टी बीजेपी थी. 
  3. कर्नाटक की तीन लोकसभा सीटों शिमोगा, बेल्लारी (अजजा) व मांड्या तथा दो विधानसभा सीटों रामनगरम व जामखंडी पर शनिवार को औसतन 67 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया था. इनमें से बेल्लारी (अजजा) सीट पर 63.85 फीसदी, मांड्या में 53.93 फीसदी, शिमोगा में 61.05 फीसदी, रामनगरम में 81.58 फीसदी तथा जामखंडी सीट पर 73.71 फीसदी मतदान दर्ज किया गया था. 
  4. शिमोगा लोकसभा सीट से कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के पुत्र बीवाई राघवेंद्र मैदान में हैं, जबकि रामनगरम विधानसभा सीट से मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी की पत्नी अनिता कुमारस्वामी किस्मत आज़मा रही हैं. तीन लोकसभा सीटों पर 17 तथा दो विधानसभा सीटों पर 14 प्रत्याशी मैदान में हैं, लेकिन मुकाबला मुख्य रूप से राज्य में सत्तासीन कांग्रेस-JDS गठबंधन तथा भारतीय जनता पार्टी (BJP) के बीच है.
  5. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मतगणना के दौरान किसी तरह की अप्रिय घटना नहीं हो यह सुनिश्चित करने के लिए सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किये गए हैं.    
  6. बेल्लारी लोकसभा सीट पर कांग्रेस और बीजेपी में मुख्य टक्कर है. इस सीट से जहां कांग्रेस ने वीएस उगरप्पा को मैदान में उतारा है, वहीं बीजेपी ने जे शांता को. हालांकि, 2014 में यह सीट बीजेपी के ही खाते में थी और बी श्रीरामुलू ने यहां जीत दर्ज की थी. 
  7. शिमोगा लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव में जेडीएस के एस मधुबंगारप्पा अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. वहीं, बीजेपी की ओर से बीवाई राघवेंद्र मैदान में हैं. इस सीट से कुल चार प्रत्याशी अपना भाग्य आजमा रहे हैं. बता दें कि 2014 में इस सीट पर बीजेपी के बीएस येदियुरप्पा ने जीत दर्ज की थी. 
  8. मांड्या लोकसभा सीट से जेडीएस ने एल आर शिमरामेगौड़ा को चुनाव में उतारा है, वहीं बीजेपी की ओर से डॉ सिद्धारमैया हैं. यह सीट पहले जेडीएस के खाते में ही थी. साल 2014 में जेडीएस के सीएस पुत्ताराजू ने जीत दर्ज की थी. 
  9. जामखंडी विधानसभा सीट से कांग्रेस और बीजेपी आमने-सामने है. कांग्रेस की ओर से जहां आनंद सिद्दू न्यामागौड़ा चुनावी मैदान में हैं, वहीं बीजेपी की ओर से श्रीकांत कुलकर्णी सुबराव अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. हालांकि, 2018 के विधानसभा चुनाव में इस सीट पर कांग्रेस के सिद्दू भीमप्पा न्यामागौड़ा ने जीत दर्ज की थी. 
  10. रामनगर विधानसभा सीट पर जेडीएस और बीजेपी के बीच कड़ा मुकाबला है. जेडीएस ने जहां अनिता कुमारस्वामी को मैदान में उतारा है, वहीं बीजेपी ने एल चंद्रशेखर को. खास बात है कि 2018 में कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने यहां जीत दर्ज की थी.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement