NDTV Khabar

कर्नाटक चुनाव : आज होने वाला मतदान तय करेगा 2019 का रास्ता, 10 बड़ी बातें

Karnataka Election: अभी तक आये ओपिनियन पोल की मानें तो इस बार लड़ाई यहां पर कांटे की है और जनता दल सेक्युलर यहां सरकार बनाने में अहम भूमिका निभा सकती है.

564 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कर्नाटक चुनाव : आज होने वाला मतदान तय करेगा 2019 का रास्ता, 10 बड़ी बातें

कर्नाटक विधानसभा चुनाव: 7 बजे से मतदान शुरू हो गया है.

बेंगलुरु: कर्नाटक विधानसभा चुनाव को लेकर मतदान शुरू हो गया है. ये चुनाव कांग्रेस के लिए सबसे बड़ी चुनौती है जो इस चुनाव में कर्नाटक के किले को बचाने की कोशिश कर रही है. वहीं बीजेपी इस चुनाव में एक बार फिर से दक्षिण में कमल खिलाने की कोशिश कर रही है. ये चुनाव दोनों ही पार्टियों के लिए काफी अहम है. माना जा रहा है कि इसी चुनाव से 2019 का रास्ता तय होगा. क्योंकि इसके बाद हिंदी पट्टी के राज्यों राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों में चुनाव होना है. कर्नाटक के नतीजे इन राज्यों के चुनावों पर भी असर डाल सकते हैं. दूसरी ओर कर्नाटक के चुनाव में एक बार फिर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व क्षमता का इम्तेहान होगा. अभी तक आये ओपिनियन पोल की मानें तो इस बार लड़ाई यहां पर कांटे की है और जनता दल सेक्युलर यहां सरकार बनाने में अहम भूमिका निभा सकती है.
कर्नाटक में आज मतदान, 10 बड़ी बातें
  1. वोटिंग 7 बजे से शुरू हो गया है और शाम 6 बजे तक चलेगा.  आज 224 में से 222 सीटों के लिये चुनाव होगा. एक सीट पर बीजेपी प्रत्याशी की मौत के बाद मतदान स्थगित कर दिया गया है.
  2. बंगलोर की राजेश्वरी विधानसभा सीट प  भी मतदान रद्द कर दिया गया है. यहां पर एक घर से करीब 10,000 वोटर आईडी पाई गई हैं. बीजेपी ने इसको लेकर  कांग्रेस  पर आरोप लगाया है.  
  3. अगर कांग्रेस कर्नाटक विधानसभा चुनाव हारती है तो पार्टी के लिए 2019 में एनडीए के खिलाफ मजबूत गठबंधन बना पाने में सबसे बड़ी मुश्किल होगी. कांग्रेस की अभी पंजाब, पुदूचेरी और मिजोरम में सरकार है. 
  4. बीजेपी के लिये भी ये चुनाव काफी अहम है. अभी वह देश के 21 राज्यों में चला ही है और लगभग 70 फीसदी आबादी पर उसका शासन है. लेकिन दक्षिण में उसकी स्थिति कमजोर है जहां से 130 सांसद आते हैं.  
  5. बीजेपी ने कर्नाटक में साल 2008 से 2013 तक शासन किया है. लेकिन भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते उसे सत्ता से बाहर होना पड़ा. तत्कालीन मुख्यमंत्री बीएस येदुरप्पा को जेल तक जाना पड़ा था. 
  6. साल 2013 में हुये चुनाव के दौरान बीएस येदियुरप्पा  ने अलग पार्टी बना ली और कांग्रेस ने इसका फायदा उठाया और 122 सीटें जीतकर सरकार बना ली.
  7. बीजेपी ने एक बार फिर से येदियुरप्पा को सीएम पद का दावेदार बनाया है और वह शिकारीपुरा से चुनाव लड़ रहे हैं. 
  8. सीएम सिद्दारमैया चामुंडेश्वरी और बादामी से चुनाव लड़ रहे हैं. कांग्रेस को दोनों ही सीटों पर बीजेपी और जेडीएस से कड़ी टक्कर मिल रही है. बदामी से बीजेपी ने कद्दावर नेता बी. श्रीरामुलू को मैदान में खड़ा किया है.
  9. कांग्रेस ने इस चुनाव में दलित, मुस्लिम और कुरुब वोटरों को लुभाने की कोशिश की है. कांग्रेस सरकार ने इस चुनाव को देखते हुये एक विवादित फैसला भी लिया है जिसमें उसने कर्नाटक का अलग झंडा बनाने का ऐलान किया है, इसके अलावा कन्नड़ भाषा पर जोर और लिंगायतों को अलग धर्म का दर्जा दिया है. 
  10. कर्नाटक की खास बात ये है कि साल 1985 से यहां किसी भी सरकार ने पांच साल बाद दोबारा वापसी नहीं की है. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement