NDTV Khabar

लोकसभा चुनाव में 'ऑपरेशन बालाकोट' कहीं BJP पर भारी न पड़ जाए, पिछले 72 घंटों में हुई हैं 12 बड़ी बातें

विपक्ष लोकसभा चुनाव 2019 में ऑपरेशन बालाकोट की काट ढूंढ़ रहा है. उत्तर प्रदेश में समाजवादी और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन ने कांग्रेस को 10 सीटों का ऑफर दिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लोकसभा चुनाव में 'ऑपरेशन बालाकोट' कहीं BJP पर भारी न पड़ जाए, पिछले 72 घंटों में हुई हैं 12 बड़ी बातें

पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव को लेकर जहां अभी तक विपक्षी एकता पर उहापोह के हालात थे वहीं ऐसा लग रहा है कि 'ऑपरेशन बालाकोट' के बाद बदल रहे समीकरणों के बीच कांग्रेस, सपा, बसपा, आम आदमी पार्टी एक ही पाले में आते दिखाई दे रहे हैं. बिहार में पहले से ही आरजेडी कांग्रेस के साथ थी. बीते 24 घंटों में लोकसभा चुनाव को लेकर दिल्ली और राज्यों में कई बड़ी बातें हुई हैं. गौरतलब है कि 26 फरवरी को एयर स्ट्राइक के बाद से बीजेपी के कार्यकर्ताओं का उत्साह दोगुना हो गया है. बीजेपी की पूरी कोशिश है कि इस हवा को लोकसभा चुनाव तक बनाए रखा जाए. यही वजह है कि आतंकियों के मारे जाने की संख्या को लेकर बीजेपी नेता रोज नया बयान देते हैं और विपक्ष के नेता उनके दावों पर सवाल खड़ा करते हैं. दरअसल बीजेपी की रणनीति है कि ऑपरेशन बालाकोट पर इसी बहाने चर्चा होती रहे. बीजेपी कुछ हद तक कामयाब होती भी दिख रही है क्योंकि मिल रही जानकारी के मुताबिक लोकसभा चुनाव में गीतकार प्रसून जोशी बीजेपी के लिए जो गाना लिख रहे हैं उसमें 'देश नहीं झुकने दूंगा' शामिल है. यह कविता पीएम मोदी ने एयर स्ट्राइक के दूसरे दिन राजस्थान के चुरू में हुई रैली में कही थी. इन सब बातों के बीच विपक्ष लोकसभा चुनाव मे ऑपरेशन बालाकोट की काट ढूंढ रहा है. साथ ही समीकरणों के देखते हुए अब एक दूसरे साथ में आने भी कोई कोई दिक्कत नहीं महसूस हो रही है. ध्यान देने वाली बात यह है कि इन पार्टियों का वोट शेयर मिलकर बीजेपी के लिए बड़ी दिक्कत खड़ी कर सकता है. गोरखपुर और फूलपुर में हुए लोकसभा उपचुनाव के नतीजे इसका सबसे बड़ा उदाहरण रहे हैं. हालांकि कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी से गठबंधन से इनकार कर दिया है.
12 बड़ी बातें
  1. उत्तर प्रदेश में समाजवादी और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन ने कांग्रेस को 10 सीटों का ऑफर दिया है. कांग्रेस के लिए केवल दो सीट यानी रायबरेली और अमेठी छोड़ने वाली गठबंधन ने कांग्रेस को यह न्योता दिया है. 
  2. हालांकि कांग्रेस सूत्रों ने इस पर चुप्पी साध रखी है, मगर उनका यह जरूर मानना है कि देश में हालात लगातार बदल रहे हैं. ऐसे हालात में उन्हें भी अपनी रणनीति बदलनी होगी. यही वजह है कि आने वाले दिनों में कांग्रेस उत्तर प्रदेश में इस बारे में कोई पक्की घोषणा करे.
  3. भाजपा की सांसद  सावित्री बाई फुले के कांग्रेस में शामिल होने के दो दिन बाद ही बसपा के दो बड़े नेता भी कांग्रेस से जुड़ गए हैं. पूर्व बसपा सांसद कैसर जहां और पूर्व विधायक जसमीर अंसारी तथा उनके समर्थकों ने सोमवार को कांग्रेस का दामन थाम लिया.
  4. माकपा ने पश्चिम बंगाल में कांग्रेस  और वाम मोर्चे के कब्जे वाली छह सीटों पर आगामी लोकसभा चुनाव में ‘एक-दूसरे के खिलाफ चुनाव न लड़ने' की बात सोमवार को कही. 
  5. माकपा के इस प्रस्ताव से यह संकेत मिलता है कि वह भाजपा (BJP) विरोधी वोटों को मजबूत करने के लिए राज्य में दो राजनीतिक खेमों में एक समझ कायम करना चाहती है. 
  6. हालांकि, राज्य में कांग्रेस नेतृत्व ने कहा है कि वह इन चुनावों में अकेले ही ताल ठोकने को तैयार है, अगर वाम मोर्चा रायगंज और मुर्शिदाबाद संसदीय सीट उनके लिए नहीं छोड़ता है. गौरतलब है कि ये दोनों सीटें कांग्रेस का गढ़ मानी जाती हैं.
  7. कर्नाटक के कांग्रेस - जनता दल सेकुलर (जदएस) गठबंधन ने आगामी लोकसभा चुनाव  के लिए सीटों के बंटवारे के जटिल मुद्दे पर सोमवार को दूसरे दौर की बातचीत की और कांग्रेस ने कहा कि वार्ता सही दिशा में आगे बढ़ रही है. 
  8. जेडीएस ने इस बात पर जोर दिया था कि उसे राज्य में लोकसभा की कुल 28 सीटों में से 12 दी जाएं. हालांकि, पार्टी सुप्रीमो और पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवेगौड़ा ने रविवार को संकेत दिया कि उनकी पार्टी किसी भी समझौते के लिए तैयार है. 
  9. कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी सरकार  पर सरकारी कार्यक्रमों का इस्तेमाल राजनीतिक सभाओं के लिए करने का आरोप लगाते हुए सवाल किया कि क्या चुनाव आयोगआम चुनाव की तिथियों की घोषणा करने के लिए प्रधानमंत्री के आधिकारिक कार्यक्रमों के पूरा होने का इंतजार कर रहा है. 
  10. सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी प्रमुख शरद पवार और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी तृणमूल कांग्रेस से गठबंधन के लिए फिर से विचार करने का आग्रह किया. 
  11. सूत्रों का कहना है कि दोनों पार्टियों की पश्चिम बंगाल की 42 संसदीय सीटों पर आपसी सहमति बन सकती है. हालांकि दिलचस्प बात यह है कि टीएमसी की कट्टर प्रतिद्वंदी सीपीएम ने कांग्रेस के साथ बंगाल की 6 सीटों पर समझौते की बात कही है.
  12. लोकसभा चुनाव से ठीक पहले पिछले काफी समय से आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर माथापच्ची चल रही थी जिस पर आज विराम लग गया है. दिल्ली में लोकसभा की सात सीटों में से तीन-तीन पर दोनों पार्टियां अपने उम्मीदवार उतारने और वहीं एक सीट शत्रुघ्न सिन्हा को देने की बात कर रहे थें, लेकिन शीला दीक्षित ने राहुल गांधी से मिलने का बाद आम आदमी पार्टी से किसी भी तरह के गठबंधन से इनकार कर दिया है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement