NDTV Khabar

मन की बात में बोले पीएम मोदी- 26 जनवरी के समारोह में दस देशों के नेता लेंगे हिस्सा, 10 बड़ी बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस साल के आखिरी 'मन की बात' कार्यक्रम में देश को संबोधित किया है. उन्होंने स्वच्छता और 21 वीं सदी के वोटरों पर चर्चा की है. उन्होंने कहा है कि पूरे देश में स्वच्छता अभियान पर सर्वे शुरू होने जा रहा है.

480 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
मन की बात में बोले पीएम मोदी-  26 जनवरी के समारोह में दस देशों के नेता लेंगे हिस्सा, 10 बड़ी बातें

पीएम मोदी ने इस साल आखिरी बार की 'मन की बात'

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस साल के आखिरी 'मन की बात' कार्यक्रम में देश को संबोधित किया है. हर बार की तरह इस बार भी उन्होंने कई मुद्दों पर अपनी बात की और देशवासियों को नए साल पर बधाई दी. इसके साथ ही उन्होंने स्वच्छता और 21 वीं सदी के वोटरों पर चर्चा की है. उन्होंने कहा है कि पूरे देश में स्वच्छता अभियान पर सर्वे शुरू होने जा रहा है.
खास बातें
  1. पीएम मोदी ने शुरुआत में सभी को नए साल की शुभकामनाएं दी. उन्होंने कहा कि नए साल में नई बात करेंगे.  हमारे देश में निष्काम कर्म की बात होती है. सेवा परमो धर्म की हमारी परंपरा रही है. क्रिसमस हमें सेवा का संदेश देता है.
  2. गुरु गोविंद सिंह ने भी महान शिक्षाएं दी हैं. उन्होंने लोगों को जाति और धर्म को तोड़ने की शिक्षा दी. जीवन के हर में पल में त्याग और कर्म का संदेश दिया है. मेरे लिए सौभाग्य की बात रही है मैंने पटना साहिब में उनके 350 वें प्रकाश वर्ष में हिस्सा लिया है.
  3. 1 जनवरी का दिन विशेष है. जो लोग 21 में जन्म हैं. वह लोग वोटर बन जाएंगे. भारतीय लोकतंत्र 21 वीं सदी के वोटरों का स्वागत करता है. यह इंडिया यूथ आगे आए और तय करे कि कैसा हो यह भारत. आप भी आगे बढ़ें और देश आगे बढ़े. हम चिंतन करें कि कैसे हम उस भारत का निर्माण करें जिसका सपना महापुरुषों ने देखा है. समय की मांग है कि हम सशक्त और दिव्य भारत के लिए जनांदोलन की शुरुआत करें. हम चाहते हैं दिल्ली में एक मॉक पर्लियामेट का आयोजन हो जिसमें हर जिले का युवक हो. युवा नए भारत के निर्माण के लिए मंंथन करें और नए रास्ते खोजें.  नया भारत सांप्रदयिकता, जातिवाद से पूरी तरह से मुक्त हो. 
  4. पिछले मन की बात में हमने सकारात्मकता की बात की है. उत्साह से भरे व्यक्ति के लिए कुछ भी असंभव नही हैं. 2018 का स्वागत सकारात्मकता के साथ करें. लोगों ने अनुभव शेयर किए हैं. लोगों ने ट्वीट भी किया है.
  5. कुछ लोगों ने उन घटनाओं को भी जिक्र किया जो व्यक्तिगत थीं लेकिन उनमें सकारात्मकता थी. ऐसे कई लोग हैं जिनके कामों से सकारात्मकता आ रही है. यही तो न्यू इंडिया है.
  6. हाल ही में मुझे कश्मीर के रहने वाले प्रशासनिक सेवाओं में टॉपर अंजुम बशीर के बारे में पता चला है. एक बच्चे के लिए दिल मेें कड़वाहट भरने के लिए काफी था. लेकिन उन्होंने सबको झेलते हुए भी इस उपलब्धि को छुआ है.
  7. 4 जनवरी से चार हजार शहरों में 40 करोड़ के बीच स्वच्छता का सर्वे किया जाएगा. इसमें खुले में शौच मक्ति, सफाई की काम देखा जाएगा. इसमें यह भी देखा जाएगा कि क्या ऐसी व्यवस्था बनाई गई है कि स्वच्छता लोगों की आदत बन जाए. स्वच्छता को लेकर संकल्प पूरा करना है.
  8. यदि कोई मुस्लिम हज जाना चाहती है तो वह किसी पुरुष के बिना नहीं जा सकती है. दशकों से मुस्लिम महिलाओं को यह अधिकार नहीं दिया गया. अब हमारी सरकार ने इस प्रतिबंध को हटा लिया है. अब वह महरम के बिना हज जा सकती है. हमने अल्पसंख्यक मंत्रालय को सुझाव दिया है कि जो महिलाएं अकेले जाना चाहती हैं उनको लॉटरी से अलग किया जाए. हमारा प्रयास होना चाहिए कि महिलाओं को समानता मिले. तीन तलाक पर समाज की भलाई के लिए कदम उठाया है.
  9. 26 जनवरी हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं. इस बार गणतंत्र दिवस पर सभी 10 आसियान देशों के नेता आएंगे. ऐसा कभी नहीं हुआ है.   
  10. आने वाला नया वर्ष सबके लिए खुशियां लेकर आए. जनवरी में मकर संक्रांति मनाया जाता है. यह पंजाब लोहड़ी और यूपी बिहार में खिचड़ी और असम में बिहू के तौर पर मनाया जाता है. सभी देशवासियों को इन त्यौहारों की ढेरों शुभकामनाएं.

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement