NDTV Khabar

मेघालय: जानें, कौन हैं कॉनरैड संगमा, क्‍या 2 सीट वाली BJP को मंत्रालय में मिलेगी जगह, 10 बातें

मेघालय में यूडीपी ने किंगमेकर की भूमिका निभाई और कॉनरैड संगमा की NPP को समर्थन देने का फ़ैसला लिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मेघालय: जानें, कौन हैं कॉनरैड संगमा, क्‍या 2 सीट वाली BJP को मंत्रालय में मिलेगी जगह, 10 बातें

मेघालय के नए सीएम कॉनरैड संगमा मंगलवार को शिलॉन्‍ग में लेंगे मुख्‍यमंत्री पद की शपथ

नई दिल्ली: नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) के अध्यक्ष कॉनरैड संगमा आज मेघालय के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. रविवार को उन्होंने राज्यपाल गंगा प्रसाद से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा पेश किया था और सोमवार को मेघालय के गवर्नर ने कॉनरैड संगमा को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया.एनपीपी प्रमुख कॉनरैड संगमा ने बताया कि मेघालय के राज्यपाल गंगा प्रसाद राज्य में सरकार बनाने के लिए उन्हें आमंत्रित किया है. उन्होंने कहा कि मंत्रियों का शपथ-ग्रहण समारोह मंगलवार सुबह 10:30 बजे आयोजित किया जाएगा. संगमा ने कहा, 'मेरे पास संख्याबल होने के कारण राज्यपाल ने राज्य में सरकार बनाने के लिए मुझे आमंत्रित किया है.' इसकी पुष्टि करते हुए राज भवन के एक अधिकारी ने कहा, 'राज्यपाल ने सरकार बनाने के लिए कॉनरैड संगमा को आमंत्रित किया है, क्योंकि उनके पास 34 विधायकों का समर्थन है.'  अब सवाल यह है कि कॉनरैड संगमा केे मंत्रालय में बीजेपी के विधायक शामिल होंगेेे, क्‍योंकि बीजेपी को वहां सिर्फ दो सीटों पर जीत हासिल हुई है लेकिन सरकार बनाने में उन्‍होंने बड़ी भूमिका निभाई.
मेघालय के नए सीएम कॉनरैड संगमा के शपथ ग्रहण समारोह से जुड़ी 10 बातें
  1. कॉनरैड संगमा मेघालय के पूर्व मुख्‍यमंत्री और लोकसभा के पूर्व स्‍पीकर स्‍व.पीए संगमा के बेटे हैं. 
  2. 1996 में पहली बार जब 13 दिनों के लिए अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार बनी थ्‍ज्ञी उस समय संगमा ही स्‍पीकर थे. 
  3. कॉनरैड संगमा की बहन अगाथा संगमा मनमोहन सिंह की सरकार में ग्रामीण विकास राज्‍य मंत्री रह चुकी हैं. 
  4. कॉनरैड संगमा  के बड़े भाई जेम्‍स अभी विधानसभा में विपक्ष के नेता थे. दोनों भाई पहली बार 2008 में विधायक बने थे. 
  5. कॉनरैड संगमा की स्‍कूली शिक्षा दिल्‍ली के सेंट कोलंबस स्‍कूल में हुई है. वह लंदन और पेन्सिलवेनिया में भी पढ़ाई कर चुके हैं. 
  6. भाजपा सूत्रों ने बताया कि पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह शपथ- ग्रहण समारोह में मौजूद रहेंगे. संगमा ने रविवार शाम राज्यपाल गंगा प्रसाद से मुलाकात की थी और 60 सदस्यीय विधानसभा में 34 विधायकों के समर्थन से सरकार बनाने का दावा पेश किया था.
  7. शपथ ग्रहण समारोह से पहले नेशनल पीपल्स पार्टी के नेतृत्व वाले गठबंधन के घटक दल एचएसपीडीपी ने कहा है कि बीजेपी को गठबंधन से बाहर रखा जाना चाहिए था क्योंकि क्षेत्रीय पार्टियों के पास सरकार बनाने के लिए जरूरी संख्या है. 
  8. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा पर आरोप लगाया कि उसने मणिपुर एवं गोवा की तरह मेघालय में जनादेश को अनदेखा करते हुए गलत तरीके से सरकार बनाने जा रही है. राहुल ने ट्वीट कर कहा कि महज दो सीटों के साथ भाजपा ने परोक्ष ढंग से मेघालय में सत्ता हथिया ली.  उन्होंने कहा कि भाजपा का यह रवैया लोगों के जनादेश के प्रति घोर असम्मान दिखाता है. राहुल ने आरोप लगाया कि भाजपा ने सत्ता हथियाने की भूख और अवसरवादी गठबंधन बनाने के लिए धन का इस्तेमाल किया.
  9. दरअसल मेघालय में किसी भी दल को बहुमत नहीं मिला है. कांग्रेस 21 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनी है, जबकि एनपीपी को 19 और बीजेपी को 2 सीटें मिली है. वहीं, अन्य के खाते में 17 सीटे हैं. कांग्रेस और बीजेपी लगातार UDP के संपर्क में थे, जिनके 6 विधायक हैं.
  10. यूडीपी ने आख़िरकार किंगमेकर की भूमिका निभाते हुए कॉनरैड संगमा की NPP को समर्थन देने का फ़ैसला किया.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement