NDTV Khabar
होम | फैक्‍ट फाइल

फैक्‍ट फाइल

  • भारत-चीन LAC विवाद सुलझाने को इन 5 मुद्दों पर करेंगे काम, विदेश मंत्रियों की बैठक में बनी सहमति
    विदेश मंत्री एस जयशंकर और उनके चीनी समकक्ष वांग यी की मॉस्को में हुई बातचीत के दौरान भारत और चीन ने पूर्वी लद्दाख में सीमा पर विवाद खत्म करने के लिए पांच बिंदुओं पर काम करने को लेकर सहमति जताई है. बता दें कि मॉस्को में चल रहे शंघाई सहयोग संगठन की शिखर वार्ता में हिस्सा लेने के लिए दोनों देशों के विदेश मंत्री वहां गए हुए थे. इस दौरान गुरुवार की रात शिखर वार्ता से इतर दोनों देशों ने बैठक ली. ढाई घंटे चली यह बैठक ऐसे वक्त में हुई है, जब पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों की सेनाओं के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है.
  • IAF की शान राफेल विमान: जानिए, कौनसी खासियत बनाती हैं इसे घातक लड़ाकू विमान
    आखिरकार भारत के नए-नवेले विदेश निर्मित लड़ाकू विमान राफेल जेट्स को आज आधिकारिक तौर पर भारतीय वायुसेना में शामिल कर लिया गया है. फ्रांस के साथ 36 राफेल विमानों को लेकर हुई डील में से पहले पांच विमान जुलाई में भारत आ चुके हैं. गुरुवार को राफेल के इंडक्शन में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और उनकी फ्रेंच समकक्ष फ्लोरेंस पार्ली मौजूद रहे. यहां पर राफेल की बकायदा सर्वधर्म पूजा की गई. राफेल को वॉटर कैनन से सलामी दी गई. बता दें कि राफेल को वायुसेना की 17वीं स्क्वॉड्रन में शामिल किया गया है, जिसे Golden Arrows भी कहते हैं. राफेल अपनी शक्ति और क्षमता में तो बढ़-चढ़कर आगे है ही, ये विमान इसलिए भी खास हैं क्योंकि 18 सालों बाद भारतीय वायुसेना में विदेशी लड़ाकू विमान शामिल हुआ है.
  • वायुसेना के बेड़े में औपचारिक तौर पर आज शामिल होंगे 5 राफेल, 10 प्वाइंट्स में जानें इनकी खूबियां
    पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ चल रही तनातनी के बीच 5 राफेल (Rafale) लड़ाकू विमानों की पहली खेप आज अंबाला एयरबेस पर औपचारिक रूप से भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) में शामिल किया जाएगा. इस कार्यक्रम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh), फ्रांस के उनके समकक्ष फ्लोरेंस पार्ली (Florence Parly), CDS जनरल बिपिन रावत (Gen Bipin Rawat) ,वायुसेना प्रमुख आर के एस भदौरिया (RS Bhadauria) और रक्षा सचिव अजय कुमार (Ajay) शिरकत करेंगे. वायुसेना के एक प्रवक्ता ने कार्यक्रम को बल के इतिहास का बेहद महत्वपूर्ण मील का पत्थर करार देते हुए कहा, 'कार्यक्रम के दौरान राफेल विमान का औपचारिक अनावरण किया जाएगा. इसके बाग पारंपरिक 'सर्वधर्म पूजा' की जाएगी और राफेल और तेजस विमान हवाई करतब दिखाएंगे.
  • अभिनेत्री कंगना रनौत के पक्ष में बॉम्बे हाइकोर्ट के फैसले की 5 बड़ी बातें...
    बॉम्बे हाईकोर्ट ने आज बृहन्मुंबई महानगरपालिका द्वारा अभिनेत्री कंगना रनौत के ऑफिस में की गई तोड़फोड़ पर रोक लगा दी, और कहा कि बीएमसी का आचरण "दुर्भावनापूर्ण" और "अपमानजनक" था. अदालत ने बीएमसी को नोटिस दिया है. गौरतलब है कि बीएमसी में उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना सत्ता में है.
  • कंगना रनौत के सपनों पर चला उद्धव ठाकरे सरकार का बुलडोजर - 10 खास बातें
    मुंबई को लेकर की गई टिप्पणी के बाद बॉलीवुड अदाकार कंगना रनौत और शिवसेना आमने सामने हो गई हैं. कंगना के तीखे बयानों के बीच बीएमसी ने कंगना के दफ्तर पर बुलडोजर चला दिया. बीएसमी ने कल कंगना के बंगले के बाहर एक नोटिस चिपकाया था. जिसके अनुसार बीएमसी की मंजूरी के बिना कई बदलाव किए गए हैं. इधर महाराष्ट्र सरकार अध्ययन सुमन के आरोपों के आधार पर कंगना के खिलाफ ड्रग्स लेने के मामले में जांच करेगी. दूसरी तरफ कंगना बेबाकी के साथ महाराष्ट्र सरकार को कटघरे में खड़ा कर रही हैं. इन प्वाइंट्स के जरिए समझने की कोशिश करते हैं कि अब तक क्या क्या हुआ.
  • रिया चक्रवर्ती को 22 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया, 10 प्वाइंट्स में समझें अब तक क्या क्या हुआ
    नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) को उनके ‘लिव इन पार्टनर’ सुशांत सिंह राजपूत की मौत (Sushant Singh Death Case) से जुड़े ड्रग्स के एक मामले में तीन दिनों तक पूछताछ के बाद मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया. रिया को मेडिकल जांच के बाद एक वीडियो लिंक के माध्यम से मुंबई के अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत के सामने पेश किया गया था. कोर्ट ने रिया (Rhea Chakraborty) की जमानत याचिका खारिज करते हुए उसे 22 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया. NCB ने दावा किया कि वह (Rhea Chakraborty) ड्रग सिंडिकेट की “एक्टिव मेंबर” थीं और एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के लिये ड्रग्स हासिल करती थीं.
  • लद्दाख तनाव पर भारत : चीन की एक और कोशिश नाकाम, हमारी ज़मीन पर हमारा कब्ज़ा बरकरार
    चीन की ओर से सोमवार को भारत पर वास्तविक नियंत्रण रेखा (Line of Actual Control) के करीब हवाई फायरिंग (air shots fired) किए जाने के आरोप लगाए गए थे, जिसके बाद भारत ने इसका जवाब दिया है. भारतीय सेना (Indian Army) ने कहा है कि उसने ऐसी किसी घटना को अंजाम नहीं दिया है, उल्टे चीन ने 7 सितंबर को फायरिंग की है. भारतीय सेना ने एक बयान जारी कर कहा कि चीन हकीकत के उलट बयान देकर अपने देश और दुनिया के लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रहा है. सेना ने यह भी कहा कि वो सीमा पर शांति बनाए रखने को लेकर प्रतिबद्ध है लेकिन चीन की ओर से लगातार आक्रामक गतिविधियां की जा रही हैं.
  • NEP 2020: अब साधारण परिवारों के छात्र भी पढ़ सकेंगे विदेशी यूनिवर्सिटी में, नई शिक्षा नीति पर PM मोदी की 10 बड़ी बातें
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP 2020) पर आज राज्यपालों के सम्मेलन को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए संबोधित किया. इस सम्मेलन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक समेत सभी राज्यों के शिक्षा मंत्री, राज्य विश्वविद्यालयों के कुलपति और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल रहे. इस सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने नई शिक्षा नीति के कई अहम पहलुओं पर बात की. आइए आपको बताते हैं आज के सम्मेलन से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा नई शिक्षा नीति को लेकर कही गई 10 बड़ी बातें.
  • दिल्ली में 169 दिनों बाद मेट्रो सेवा आज से शुरू, सफर के दौरान इन बातों का रखें विशेष ख्याल
    COVID-19 महामारी के चलते पांच महीने से ज्यादा वक्त तक बंद रही दिल्ली मेट्रो ने (Delhi Metro) एक बार फिर आज से तीन चरणों में अपनी सेवाएं बहाल कर दी हैं. हालांकि, DMRC ने लोगों से अपील की है कि वह जरूरी होने की सूरत में ही मेट्रो की सुविधाओं का इस्तेमाल करें. दिल्ली मेट्रो रेल निगम (DMRC) के अधिकारियों ने रविवार को कहा कि कंटेनमेंट जोन में स्थित स्टेशन बंद रहेंगे.गृह मंत्रालय ने हाल ही देश में चरणबद्ध तरीके से मेट्रो सेवाएं बहाल करने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए थे, जिसके बाद दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने कहा था कि वह सात से 12 सितम्बर के बीच तीन चरणों में सेवाएं बहाल करेगा. DMRC के एक अधिकारी ने बताया कि इसके तहत, ‘येलो लाइन’ या ‘लाइन 2’ और ‘रैपिड मेट्रो’ की सेवाएं कुछ सीमित घंटों के लिए बहाल की गई हैं. अधिकारी ने बताया कि प्रथम चरण में मेट्रो सुबह के वक्त चार घंटे, 7 बजे से 11 बजे तक और शाम को चार घंटे 4 से 8 बजे तक चलेगी.
  • 'बिहार में बेरोज़गारी दर 46.6% सबसे अधिक क्यों है'... तेजस्वी के CM नीतीश से 10 तीखे सवाल
    बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान से पहले ही अब राजनीति गरमाने लगी है. कांग्रेस जहां गुरुवार को अपने डिजिटल प्रचार अभियान की शुरुआत करने जा रही है तो नीतीश कुमार की वर्चुअल रैली से पहले आरजेडी नेता तेजस्वी यादव सीएम नीतीश और राज्य सरकार से सवाल पूछने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं. तेजस्वी यादव ने अब सवालों के जरिए सीएम नीतीश कुमार को घेरना शुरू कर दिया है. उन्होंने कहा, ' नीतीश कुमार की विगत 1 मार्च को गाँधी मैदान की Actual रैली का हश्र पूरे देश ने देखा था। ख़ैर वर्चुअल के बहाने हम उन्हें ऐक्चूअल मुद्दों से भागने नहीं देंगे. आशा है आज मुख्यमंत्री हमारे इन सवालों का जवाब देंगे.
  • दिल्ली में कल से कर सकेंगे मेट्रो से सफर, पर इन 8 बातों का रखना होगा विशेष ख्याल
    Covid-19 महामारी की वजह से लगभग पांच महीने बंद रहने के बाद कल से दिल्ली में मेट्रो सेवाएं (Delhi Metro) शुरू होने जा रही हैं. 12 सितम्बर तक तीन चरणों में दिल्ली के मेट्रो स्टेशनों को शुरू किया जाएगा लेकिन कंटेनमेंट जोन के अंतर्गत आने वाले स्टेशनों फिलहाल पाबंदी बनी रहेगी. फिजिकल कॉन्टैक्ट कम से कम हों, इसके लिए पूरी तैयारी की गई है. स्टेशनों पर ऑटोमैटिक थर्मल स्क्रीनिंग-सह-सैनिटाइजर डिस्पेंसर और ‘फुट पेडल संचालित लिफ्टों’ को लगाया गया है. इसके अलावा अगर आप मेट्रो की सुविधा लेना चाहते हैं तो आपको इन नियमों का पालन करना जरूरी होगा.
  • रूस में राजनाथ और चीनी रक्षामंत्री के बीच 2.20 घंटे हुई बातचीत, लद्दाख में तनाव कम करने पर रहा फोकस- 10 बातें
    केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और चीनी रक्षा मंत्री वेई फेंगही के बीच शुक्रवार को हुई बैठक दो घंटे से भी ज्यादा देर तक हुई. जहां पूर्वी लद्दाख में सीमा पर तनाव को कम करने पर ध्यान केन्द्रित रहा. सरकारी सूत्रों ने यह जानकारी दी. पूर्वी लद्दाख में मई में सीमा पर हुए तनाव के बाद से दोनों ओर से यह पहली उच्च स्तरीय आमने सामने की बैठक थी. इससे पहले विदेश मंत्री एस जयशंकर और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल गतिरोध दूर करने के लिए चीनी विदेश मंत्री वांग यी के साथ टेलीफोन पर बातचीत कर चुके हैं. सूत्रों ने बताया कि वार्ता के दौरान सिंह ने पूर्वी लद्दाख में यथा स्थिति को बनाए रखने और सैनिकों को तेजी से हटाने पर जोर दिया.
  • NEET-JEE परीक्षा : 6 गैर BJP शासित राज्यों की पुनर्विचार याचिका पर SC में आज सुनवाई, जानें 10 बड़ी बातें
    NEET और JEE  प्रवेश परीक्षा को लेकर बीजेपी और विपक्षी दल आमने-सामने हैं. विपक्षी पार्टियों ने परीक्षाओं को  स्थगित करने की मांग करते हुए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का दरवाजा खटखटाया है. छह गैर-भाजपा शासित राज्यों के मंत्रियों ने परीक्षा कराए जाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर पुनर्विचार याचिका (Review Plea) दाखिल की है. इन याचिकों पर आज सुनवाई होनी है. कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी को देखते हुए परीक्षाएं स्थगित करने की मांग को लेकर दी गई दलीलों को खारिज करते हुए शीर्ष न्यायालय ने परीक्षा पर रोक लगाने से इंकार कर दिया था. 
  • '1.3 अरब भारतीयों का एक ही मिशन है आत्मनिर्भर भारत' - PM मोदी के संबोधन की 10 खास बातें
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने गुरुवार को भारत और अमेरिका के बीच साझेदारी (India-US Relationship) के लिए कार्य करने वाले गैर लाभकारी संगठन अमेरिका-भारत सामरिक साझेदारी फोरम (USISPF) के तीसरे वार्षिक नेतृत्व शिखर सम्मेलन को संबोधित किया. पीएम मोदी ने इस कार्यक्रम को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संबोधित किया.
  • दिल्‍ली में 9 सितंबर से ट्रायल बेस पर बार खोलने की इजाजत, सरकार ने जारी की SOP
    Delhi Coronavirus Update: देश की राजधानी दिल्ली में 9 सितंबर से लेकर 30 सितंबर तक ट्रायल बेसिस पर बार (Bars) खोलने की इजाजत दी गई है. इसके लिए दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने बाकायदा स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (SOP) जारी किएहैं..दिल्ली में होटल/ रेस्टोरेंट/ क्लब में बाहर के लिए दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने जो SOP जारी किए हैं, वे इस प्रकार हैं.
  • कोविड-19 के नियमों के साथ JEE एग्जाम आज से शुरू, 10 प्वाइंट्स में समझें- कैसे किए गए हैं इंतजाम
    तमाम विरोध के बीच नेशनल टेस्ट एजेंसी आज से IIT JEE के एग्जाम कराने जा रही है. जेईई की परीक्षाएं आज से 6 सितंबर तक होंगी जबकि नीट की परीक्षा 13 सितंबर को होनी हैं. संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JEE)- Mains के लिये 8.58 लाख जबकि NEET के लिये 15.97 लाख छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया है. कोविड-19 के बढ़ते मामलों के चलते JEE-Mains और मेडिकल में प्रवेश के लिये ली जाने वाली NEET की परीक्षा टलने के आसार नजर आ रहे थे. बता दें कि इन परीक्षाओं को लेकर 6 राज्य सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. कोर्ट ने याचिकाओं को खारिज करते हुए परीक्षाओं को कराने की मंजूरी दे दी थी. कोर्ट ने कहा कि बच्चों के भविष्य के साथ रिस्क नहीं ले सकते हैं, जीवन चलते रहना चाहिए. बताते चलें कि कोरोना वायरस महामारी के चलते ये परीक्षाएं दो बार टाली जा चुकी हैं. सभी छात्रों से फेस माक्स लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करने की अपील की गई है.
  • Unlock 4: आज से अनलॉक का चौथा चरण शुरू, जानें क्या खुल रहा है और क्या होंगे नए नियम
    देश में फरवरी महीने से नॉवेल कोरोनावायरस से फैली महामारी कोविड-19 के चलते मार्च में पूरे देश में लॉकडाउन लगा दिया गया था. इससे देश में लगभग हर सेक्टर में गतिविधि थम सी गई थी और सामान्य जीवन बुरी तरह से प्रभावित हुआ था. अब सरकार धीरे-धीरे सब कुछ सामान्य करने की कोशिश कर रही है. 1 सितंबर यानी आज से देश में अनलॉक का चौथा चरण शुरू हो रहा है. गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने अनलॉक 4 को लेकर गाइडलाइन जारी की थी, अनलॉक 4 के तहत कहा जा सकता है कि देश में कुछ संस्थानों और सेक्टर को छोड़कर बाकी चीजें सामान्य हो रही हैं. चौथे चरण के इस अनलॉक में कई छूट दिए गए हैं. हां, लेकिन कंटेनमेंट ज़ोन्स के लिए अभी 30 सितंबर तक सख्त नियम रहेंगे.
  • लद्दाख में भारत के जवाब के बाद चीन बोला- हमारी फौज उठा रही है जवाबी कदम, 10 बड़ी बातें
    पूर्वी लद्दाख में भारतीय और चीनी सेना (India China Troops clash) के बीच एक बार फिर झड़प की खबरें आईं. सरकार ने सोमवार को कहा कि चीनी सैनिकों ने शनिवार रात को पैंगोग त्सो लेक के पास चीनी सैनिकों ने "उकसावे वाली सैन्य कार्रवाई" की. हालांकि, पहले से पूरी तरह तैयार भारतीय जवानों ने उन्हें रोक दिया. चीनी सैनिकों ने पैंगोंग त्सो के दक्षिणी तट में घुसपैछ की कोशिश की. सरकार ने कहा कि तनाव को कम करने के लिए ब्रिगेड कमांडर स्तर के अधिकारियों की चुशुल में बातचीत जारी है. कहा जा रहा है कि सेना की आवाजाही के लिए लद्दाख-श्रीनगर हाई वे को आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया है. चीनी सैनिकों को जवाब देने के लिए पहले से ही काफी संख्या में भारतीय जवान तैनात हैं. वहीं, चीन ने इस मामले में आक्रामक रुख अपनाते हुए कहा कि उसकी सेना "आवश्यक जवाबी कार्रवाई कर रही है."
  • अंधेरे का फायदा उठाना चाहते थे चीनी, नजरें गड़ाए बैठी थी भारतीय सेना, 8 बड़ी बातें
    बीते 15 जून को हुई झड़प के बाद एक चीन जहां पर शांति और बातचीत से विवाद सुलझाने की बात करता है तो दूसरी ओर चीनी सेना लद्दाख पर नजरें गड़ाए बैठी है. उसके पैंतरे का जवाब देने के लिए भारतीय सेना भी तैयार बैठी है. चीनी के साथ सैन्य स्तर की बातचीत जारी ही थी कि पूर्वी लद्दाख सेक्‍टर में दोनों देशों के सैनिकों के बीच एक बार फिर हालात बिगड़ गए. यह हालात तब बिगड़े जब चीनी सैनिकों ने पैंगांग झील के दक्षिणी किनारे पर भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ करने की कोशिश की. इसके बाद भारतीय जवानों ने उसे रोकने की कोशिश की. भारतीय सेना के मुताबिक चीनी सैनिकों को पीछे धकेला जा चुका है. मौजूदा घटना में यह भी देखा जा सकता है कि अब तक चीन के साथ पैंगोंग सो झील के उत्तरी किनारे पर दिक्कतें थीं तो फिर अब पीएलए ने पैंगोंग सो में दक्षिणी छोर में यह हरकत क्यों की है. ज़ाहिर तौर पर यह घटना पीएलए की मंशा पर बड़े सवाल खड़े करती है. क्योंकि पांच दौर की लेफ्टिनेंट जनरल जनरल स्तर की बातचीत अब तक हो चुकी है. इसके अलावा चीन के साथ विवाद सुलझाने के लिये बातचीत हुई है .इसके बावजूद इसके चीन यथास्थिति में बदलाव करना चाहता है. भारत की ज़मीन कब्जा करना चाहता है. यह सीधे सीधे तनाव का बढ़ावा देने वाली हरकत है. फिलहाल रक्षा मंत्रालय के मुताबिक 29 और 30 अगस्‍त की रात को हुई इस झड़प में कोई घायल हुआ या नहीं, इसकी कोई आधिकारिक जानकारी नहीं मिल सकी है. पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर चीनी सैनिकों की आक्रमक गतिविधि का भारतीय सेना ने विरोध किया.
  • प्रशांत भूषण अवमानना मामले में सुप्रीम कोर्ट आज सुना सकता है सजा, मामले से जुड़ी 10 बड़ी बातें...
    वकील-कार्यकर्ता प्रशांत भूषण, जो भारत के मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे और सुप्रीम कोर्ट की आलोचना करने वाले अपने ट्वीट के लिए अवमानना के दोषी पाए गए हैं, को आज सजा सुनाए जाने की उम्मीद है. 63 वर्षीय प्रशांत भूषण ने यह कहते हुए पीछे हटने या माफी मांगने से इनकार कर दिया कि यह उनकी अंतरात्मा और न्यायालय की अवमानना होगी. उनके वकील ने तर्क दिया है कि अदालत को प्रशांत भूषण की अत्यधिक आलोचना झेलनी चाहिए क्योंकि अदालत के "कंधे इस बोझ को उठाने के लिए काफी हैं." अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने भी सजा के खिलाफ तर्क दिया है. यह देखते हुए कि न्यायाधीश "स्वयं की रक्षा करने या समझाने के लिए प्रेस के पास नहीं जा सकते हैं," अदालत ने प्रशांत भूषण के की प्रतिष्ठा का हवाला देते हुए कहा, "अगर इनकी जगह कोई और होता, तो इसे नजरअंदाज करना आसान होता."
«123456»

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com