NDTV Khabar
होम | फैक्‍ट फाइल

फैक्‍ट फाइल

  • इस Diwali पर नहीं चला पाएंगे रॉकेट और बम, केवल छोड़ सकेंगे ये दो पटाखे, पढ़ें 10 खास बातें
    दीवाली (Diwali) पर हर साल होने वाले प्रदूषण को ध्यान में रखते सुप्रीम कोर्ट ( Supreme Court) ने इस बार सख्त रुख अपनाया है. यही वजह है कि कोर्ट ने दिल्ली में रॉकेट और बॉम्ब सरीखे पटाखों को पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया है. कोर्ट ने इस दीवाली पर सिर्फ ग्रीन पटाखों के ही इस्तेमाल को मंजूरी दी है. कोर्ट ने जिन ग्रीन पटाखों को मंजूरी दी है, उसमें 'अनार' और 'फुलझड़ी' शामिल हैं. बता दें कि केंद्र सरकार ने कुछ दिन पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके दिल्ली और एनसीआर में रहने वाले लोगों से अपील की थी कि वह इस बार दीवाली में सिर्फ ग्रीन पटाखों का ही इस्तेमाल करें. केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने कहा था कि हमें आपका सहयोग चाहिए ताकि हमें प्रदूषण की मात्रा कम किया जा सके. 
  • कर्नाटक- केरल और तमिलनाडु के कई हिस्सों में भारी बारिश ने बढ़ाई परेशानी, बाढ़ जैसे हालात, पढ़ें 10 बड़ी बातें 
    कर्नाटक- केरल और तमिलनाडु के कई इलाकों में भारी बारिश ने एक बार फिर से बाढ़ जैसे हालात बना दिए हैं. भारी बारिश की वजह से कई नदियां उफान पर हैं. सबसे बुरा हाल उत्तरी कर्नाटक और चिकमगलुरु का है. मिली जानकारी के अनुसार बीते कुछ दिनों में उत्तरी कर्नाटक में भारी बारिश ने तबाही मचाई हुई है. इस वजह से कई नदियां, छोटी नदियां और नाले उफान पर हैं, जिससे इस साल अगस्त में आई बाढ़ की यादें ताज़ा हो गई हैं. राज्य के कई प्रभावित जिलों में पानी निचले इलाकों में स्थित घरों और स्कूलों बैंकों समेत सरकारी इमारतों में घुस गया है. बेलगावी दो महीने पहले आई बाढ़ से अब तक उभर भी नहीं पाया था कि एक बार फिर भारी बारिश यहां कहर बनके आई है. मौसम विभाग ने बताया कि बेलगावी में रविवार शाम से सोमवार सुबह तक 58.1 मिमि बारिश दर्ज की गई है. बेलगावी शाहपुर उपनगर में तीन घर ढह गए. वहीं, गांवों को जोड़ने वाली कई सड़कें पानी में डूब गई हैं जिस वजह से यातायात बाधित हो गया है. राष्ट्रीय राजमार्ग चार रविवार रात को बंद दिया गया था. इस वजह से कई गाड़ियां बीच में ही फंस गई हैं. कर्नाटक राष्ट्रीय प्राकृतिक आपदा निगरानी केंद्र के निदेशक जीएस श्रीनिवास रेड्डी ने बताया कि अगले दो-तीन दिनों में कृष्णा और उसकी सहायक नदियों में बारिश का पानी तेजी से बढ़ सकता है. वहीं, केरल के सात जिलों में भारी बारिश की चेतावनी के साथ ‘रेड अलर्ट’ जारी किया गया है. दक्षिणी राज्य के अलग-अलग स्थानों पर अत्यंत भारी बारिश का अनुमान जताया गया है. केरल राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अनुसार सोमवार को तिरुवनंतपुरम, अलप्पुझा, कोट्टायम, एर्नाकुलम, इडुक्की, त्रिशूर और पलक्कड़ में में रेड अलर्ट जारी किया गया है, जबकि चार जिलों में मंगलवार को जारी किया जाएगा.  मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने लोगों से सतर्क रहने को कहा है. रेड अलर्ट जारी होने के बाद जल्द प्रभावित होने वाले क्षेत्रों से लोगों को निकालकर शिविरों में ले जाया जाता है और लोगों को आपातकालीन किट उपलब्ध कराने समेत कई एहतियाती कदम उठाए जाते हैं. 
  • कैसा है महाराष्ट्र और हरियाणा का सियासी गणित, जहां आज हो रहे हैं मतदान, पढ़ें- 10 खास बातें
    महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए आज मतदान होने जा रहा है. बीजेपी और उसकी सहयोगी पार्टियां दोनों ही राज्यों में सत्ता बरकरार रखने कोशिश में जुटी हुई हैं, जबकि विपक्षी दल सत्ता विरोधी लहर का फायदे उठाते हुए इसे अपने पक्ष में करने जुगत में है. आज इन दो राज्यों में विधानसभा चुनाव के साथ-साथ 51 विधानसभा सीटों और दो लोकसभा सीटों के लिए उपचुनाव भी हो रहा है. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में मुख्य मुकाबला बीजेपी की अगुवाई वाले महागठबंधन या फिर कहें 'महायुति' और कांग्रेस एनसीपी गठबंधन यानी कि 'महा अघाड़ी' (मोर्चा) के बीच है. इस चुनाव में 4,28,43,635 महिला मतदाताओं सहित कुल 8,98,39,600 मतदाता मतदान के लिए योग्य हैं. महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों के लिए 235 महिलाओं समेत 3,237 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. मतदान के लिए 96,661 मतदान केंद्र बनाये गए हैं जिन पर साढ़े छह लाख कर्मचारी तैनात किये गए हैं. इसी तरह हरियाणा में भी सत्तारूढ़ बीजेपी और कांग्रेस के बीच मुख्य मुकाबला नजर रहा है. दोनों राज्यों में शांतिपूर्वक और निष्पक्ष तरीके से चुनाव कराने के लिए इलेक्शन कमीशन ने भी कमर कसी है. केंद्रों पर भारी संख्या में सुरक्षाबल तैनात किये गए हैं. आइये आपको बताते हैं चुनाव से जुड़ी 10 खास बातें....
  • कमलेश तिवारी हत्याकांड में यूपी पुलिस का बड़ा खुलासा, कहा- गुजरात से जुड़े हैं हत्या के तार, पढ़ें 10 बड़ी बातें
    हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड में यूपी पुलिस ने कई बड़े खुलासे किए हैं. यूपी पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह ने इस हत्याकांड को लेकर शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने इस दौरान हत्या के पीछे कमलेश तिवारी द्वारा दिया गया एक बयान को बताया जा रहा है. डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि कमलेश तिवारी हत्याकांड मामले में अभी तक तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है. पुलिस ने जिन लोगों को हिरासत में लिया है उसमें मौलाना मोहसिन शेख सहित तीन हिरासत में लिया गया है. हिरासत में लिए गए तीनों लोग सूरत के रहने वाले हैं. पुलिस फिलहाल इन सभी से पूछताछ कर रही है. डीजीपी ओपी सिंह ने आगे कहा, ''उनकी (कमलेश तिवारी) की हत्या दुर्भाग्यपूर्ण है. जांच के लिए स्पेशल टीम बनाई गई है. 
  • नीतीश कुमार पर अमित शाह के बयान से बिहार की राजनीति में हो सकती हैं ये 10 बड़ी बातें
    बिहार में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के कार्यक्रम की घोषणा पर सबकी निगाहें टिकी थीं लेकिन एक सवाल यह भी राजनीति के गलियारे में तैर रहा था कि एनडीए में आखिकार नेता कौन होगा और क्या बीजेपी नीतीश कुमार का नेतृत्व स्वीकार कर लेगी. दोनों सवालों का जवाब BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने एक वाक्य में दे दिया है कि गठबंधन अटल है और BJP वर्तमान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही चुनाव लड़ेगी और वही बिहार NDA का चेहरा होंगे. इस घोषणा के बाद नीतीश कुमार ने भी बृहस्पतिवार को अपनी चुनावी जनसभाओं में भरोसा दिलाया कि बिहार में गठबंधन एकजुट है और कुछ लोग अख़बार में छपने के लिए बयान देते रहते हैं जिस पर उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं से अपील की कि वो उसको ज़्यादा तरजीह ना दे. अमित शाह के इस बयान के बाद बिहार की राजनीति में यह 10 असर देखने को मिल सकते हैं.
  • Ayodhya Case: कैसा है अयोध्या का माहौल, 10 प्वाइंट्स में जानिए
    सुप्रीम कोर्ट, अयोध्या मामले (Ayodhya Case Hearing) में बुधवार को आखिरी सुनवाई करेगा. मंगलवार को हुई सुनवाई के दौरान एक हिन्दू पक्ष ने दलील दी कि भारत विजय के बाद मुगल शासक बाबर द्वारा करीब 433 साल पहले अयोध्या में भगवान राम के जन्म स्थान पर मस्जिद का निर्माण कर ‘ऐतिहासिक भूल' की गयी थी और अब उसे सुधारने की आवश्यकता है. अयोध्या मामले अभी तक 39 दिन सुनवाई चली है. बता दें, सीजेआई रंजन गोगोई ने उम्मीद जताई थी कि 17 अक्टूबर तक इस मामले में सुनवाई पूरी कर ली जाएगी और 17 नवंबर को अयोध्या मसले पर फैसला सुना दिया जाएगा. 17 नवंबर को ही सीजेआई रंजन गोगोई रिटायर हो रहे हैं.
  • IMF का भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर बड़ा दावा, कहा- 2019 में 7.3 से घटकर 6.1 रह जाएगी वृद्धि दर , पढ़े 10 बड़ी बातें 
    अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने भारत की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) वृद्धि दर का अनुमान 2019 के लिए मंगलवार को घटाकर 6.1 प्रतिशत कर दिया है. यह उसके अप्रैल के अनुमानों से 1.2 प्रतिशत कम है. तब उसने 2019 में देश की वृद्धि दर 7.3 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया था. इसी के साथ IMF ने 2019 के लिए वैश्विक आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान भी घटाकर तीन प्रतिशत कर दिया है. IMF ने अपनी नवीनतम विश्व आर्थिक परिदृश्य रिपोर्ट में भारत की आर्थिक वृद्धि दर 2019 में 6.1 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया है. हालांकि उसे उम्मीद है कि 2020 में इसमें सुधार होगा और तब देश की आर्थिक वृद्धि दर सात प्रतिशत पर रह सकती है. यह वर्ष 2018 में भारत की वास्तविक आर्थिक वृद्धि दर 6.8 प्रतिशत से भी कम है. विश्वबैंक ने भी रविवार को अपनी दक्षिण एशिया आर्थिक परिदृश्य की नवीनतम रिपोर्ट में भारत की आर्थिक वृद्धि दर 2019 में गिरकर छह प्रतिशत रहने का अनुमान जताया था. जबकि 2018 में यह 6.9 प्रतिशत थी.
  • भारत-चीन संबंधों में उतार-चढ़ाव के बीच पीएम मोदी और शी चिनफिंग की मुलाकात अहम, 10 प्रमुख बातें
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के बीच शनिवार को अनौपचारिक बातचीत होगी. भारत-चीन के संबंधों में आते उतार-चढ़ाव के बीच इन दोनों नेताओं के बीच बातचीत काफी महत्वपूर्ण हैं. यह इन दोनों देशों के बीच आर्थिक और क्षेत्रीय संबंधों के लिहाज से भी महत्वपूर्ण मुलाकात साबित होगी. चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग शुक्रवार को चेन्नई पहुंचे और वहां से मामल्लापुरम गए तो लोक नर्तकों और भरतनाट्यम कलाकारों ने तमिल सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के साथ उनका स्वागत किया. बड़ी संख्या में बच्चों ने भारतीय और चीनी झंडे लहराकर उनका अभिवादन किया. चिनफिंग से पहले हेलीकॉप्टर से मामल्लापुरम पहुंचे प्रधानमंत्री ने अर्जुन तपस्या स्मारक पर चीनी नेता की अगवानी की. परंपरागत तमिल परिधान धोती, अंगवस्त्रम और शर्ट पहने प्रधानमंत्री ने शी चिनफिंग से हाथ मिलाकर उनका स्वागत किया. दोनों नेताओं ने एक दूसरे का हालचाल पूछा. मोदी और चिनफिंग शनिवार को अनौपचारिक शिखर वार्ता करेंगे. शुक्रवार को हुई दोनों नेताओं की मुलाकात की 10 प्रमुख बातें-
  • PM Modi और राष्ट्रपति Xi Jinping की मुलाकात: न कोई समझौता होगा और न जारी होंगे बयान, पढ़ें 10 बड़ी बातें
    चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग (Xi Jinping) आज भारत आएंगे और वह दूसरी बार पीएम मोदी (PM Modi) के साथ अनौपचारिक बैठक करेंगे. पहली बार यह मुलाकात चीन के वुहान में बीते साल अप्रैल में हुई थी. उस दौरान पीएम मोदी ने चीनी राष्ट्रपति को भारत आने का न्यौता दिया था. दोनों नेताओं की इस मुलाकात के दौरान कई कार्यक्रम होंगे. दोनों नेता महाबलिपुरम मंदिर जाएंगे. अनौपचारिक- डेलीगेशन स्तर की बात करेंगे और साथ में लंच और डिनर करेंगे. चीनी राष्ट्रपति ने हालही में पाकिस्तान के पीएम इमरान खान से भी मुलाकात की है. इस दौरान इमरान और उनके बीच कश्मीर के मुद्दे पर भी बात हुई और चीन ने यूएन चार्टर का हवाला दिया. बीजिंग ने बीते महीने यूएन जनरल असेंबली में भी कश्मीर के मुद्दे पर भारत की आलोचना की थी.
  • इमरान खान के साथ बैठक में जम्मू-कश्मीर को लेकर सामने आई चीन की  'मंशा', भारत ने भी दिया जवाब, 12 बड़ी बातें
    11 अक्टूबर को चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) भारत के दौरे पर आने वाले हैं लेकिन इसी बीच जम्मू-कश्मीर पर दिया उनका एक एक बयान पर भारत को नागवार गुजरा है. भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है, 'भारत के आंतरिक मामलों पर किसी अन्य देश को टिप्पणी करने का कोई हक नहीं है. चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से बुधवार को कहा कि कश्मीर में स्थिति पर चीन 'करीबी नजर रखे हुए' है और 'यह बात स्पष्ट' है. साथ ही, उन्होंने उम्मीद जताई कि 'संबंद्ध पक्ष' शांतिपूर्ण वार्ता के जरिए इस मामले को सुलझा सकते हैं. चीनी राष्ट्रपति ने इमरान खान को बैठक के दौरान भरोसा दिलाया कि अंतरराष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय हालात में बदलावों के बावजूद चीन और पाकिस्तान के बीच मित्रता अटूट तथा चट्टान की तरह मजबूत है.
  • विधानसभा चुनाव 2019 से पहले कैबिनेट ने किए ये 4 बड़े फैसले, सरकारी कर्मचारियों को DA का दीवाली तोहफा
    सरकार ने बुधवार को केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते को 5 प्रतिशत बढ़ाने का निर्णय किया है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इस आशय का निर्णय किया गया. बैठक के बाद सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने संवाददाताओं को बताया, ‘आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते को 5 प्रतिशत बढ़ने का निर्णय किया गया. इससे 50 लाख केंद्रीय कर्मचारियों और इसके अलावा 65 लाख पेंशनधारियों को फायदा होगा.’ इस तरह से 5 प्रतिशत वृद्धि से यह बढ़कर 17 प्रतिशत हो गया है.
  • Jai Prakash Narayan: कौन थे जयप्रकाश नारायण? जानिए उनसे जुड़ी 10 बातें
    लोकनायक जयप्रकाश नारायण (Lok Nayak Jai Prakash Narayan) की पुण्यतिथि 8 अक्टूबर को मनाई जाती है. जयप्रकाश नारायण (Jai Prakash Narayan) भारतीय स्वतंत्रता सेनानी और राजनेता थे. देश में आजादी की लड़ाई से लेकर वर्ष 1977 तक तमाम आंदोलनों में जेपी का अहम रोल रहा है. जेपी (JP Narayan) को पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के विरोध के लिए जाना जाता था. कहा जाता है कि उनके आंदोलन की वजह से इंदिरा गांधी के हाथ से सत्ता तक छिन गई थी. लोकनायक जयप्रकाश नारायण ने भारतीय जनमानस पर अपना अमिट छाप छोड़ी है. जयप्रकाश जी का समाजवाद का नारा आज भी गूंज रहा है. देश की आजादी के लिए स्वतंत्रता संग्राम में शामिल हुए जेपी को तरह-तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ा लेकिन उन्होंने अंग्रेज़ों के सामने घुटने नहीं टेके. आइये जानते हैं जयप्रकाश नारायण के जीवन से जुड़ी 10 बातें.
  • IAF का 87वां स्थापना दिवस: दुनिया देखेगी भारतीय वायुसेना का दम, 8 बड़ी बातें
    भारतीय वायुसेना आज यानी आठ अक्टूबर को अपना 87वां स्थापना दिवस मना रहा है. इस मौके पर गाजियाबाद के पास हिंडन एयरफोर्स स्टेशन में कई तरह के विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है. यह दिन इसलिए भी खास है क्योंकि ही फ्रांस रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को आज ही पहला लड़ाकू विमान राफेल सौंपेगा. स्थापना दिवस के खास मौके पर हिंडन एयरफोर्स स्टेशन में आयोजित कार्यक्रम में हेलीकॉप्टर, फाइटर जेट्स और कई अन्य प्लेन ने हिस्सा ले रहे हैं. इस खास मौके पर वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया भी मौजूद हैं. वायुसेना के स्थापना दिवस पर देश के वीर जवानों को सलाम करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एक ट्वीट भी किया. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि आईएएफ साहस और दृढ़निश्चय का दूसरा नाम है. नीली यूनिफॉर्म में देश के वीर जवानों आसमान छूने की क्षमता रखते हैं.
  • भारत को आज मिलेगा पहला राफेल जेट विमान, रक्षामंत्री Rajnath Singh फ्रांस में ही करेंगे 'शस्त्र पूजन', पढ़ें 10 बड़ी बातें
    रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) विजयादशमी के शुभ अवसर पर मंगलवार को फ्रांस (France) की राजधानी पेरिस में भारतीय परंपरा के अनुसार शस्त्र पूजा करेंगे. विधिवत शस्त्र पूजा के बाद रक्षामंत्री फ्रांस की कंपनी दसॉ से खरीदे गए लड़ाकू विमान राफेल (Rafale Aircraft) का अधिग्रहण करेंगे और विमान में उड़ान भी भरेंगे. राफेल उन्नत प्रौद्योगिकी से लैस लड़ाकू विमान है. दसॉ के साथ हुए सौदे की पहली खेप में भारत विजयादशमी के मौके पर 36 राफेल विमान हासिल करेगा. भारत में शस्त्र पूजा की परंपरा अनादिकाल से चली आ रही है. महाराणा प्रताप की इस धरती पर राजपूत राजा दुश्मनों को रणभूमि में छक्के छुड़ाने से पहले अस्त्र-शस्त्र की पूजा करते रहे हैं. इसी परंपरा का पालन करते हुए भारतीय सेना में भी विजयादशमी के दिन शस्त्र पूजा की जाती है. शायद इसी परंपरा को निभाने के लिए राफेल विमान का अधिग्रहण विजया दशमी के दिन हो रहा है.
  • Mumbai's Aarey case: सुप्रीम कोर्ट ने कहा, इलाके का एक या 2 फीसदी भी वन क्षेत्र  में आता है तो पेड़ नहीं काटे जा सकते हैं, 5 बड़ी बातें
    सुप्रीम कोर्ट ने मुंबई की आरे कॉलोनी में ‘मेट्रो कार शेड’ बनाने के लिए पेड़ काटे जाने पर फिलहाल रोक लगा दी है और इस संबंध में दायर याचिका पर सुनवाई के लिए 21 अक्टूबर की तारीख नियत की है. इस इलाके में करीब 2700 पेड़ों को काटने से बचाने के लिए प्रदर्शन भी हुआ था जिसके समर्थन में बॉलीवुड इंडस्ट्री के लोग भी खड़े थे. इस मामले में बीजेपी जहां विकास के नाम पर पेड़ों के काटने के पक्ष में खड़ी थी और दावा कर रही थी बदले में कई पेड़ लगाए गए हैं तो शिवसेना सरकार के इस फैसले खिलाफ थी. प्रदर्शन के दौरान शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी सहित 29 लोगों को हिरासत में लिया गया था. इससे पहले हाईकोर्ट ने यहां पर पेड़ों को काटने से रोकने से इनकार कर दिया था और दो दिन के भीतर ही करीब कई पेडों के काटे जाने की खबर है. इसी बीच छात्रों के एक संगठन ने इस मामले में सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाई है.
  • आरे मामला: आज सुप्रीम कोर्ट करेगा पेड़ कटाई के खिलाफ याचिका पर सुनवाई, पढ़ें 10 बड़ी बातें
    मुंबई की ऑरे कॉलोनी में जंगल कटाई का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है. दरअसल, बंबई हाईकोर्ट द्वारा पेड़ कटाई रोकने को लेकर दी गई याचिका को खारिज करने के बाद छात्रों ने इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है. अपनी याचिका में छात्रों ने कहा कि है कि जिस तरह से पर्यावरण को दरकिनार कर बड़े स्तर पर पेड़ों की कटाई की जा रही है उसे समय रहते रोका जाना जरूरी है. बता दें ऑरे कॉलोनी में मुंबई मेट्रो शेड के लिए तीन हजार के करीब पेड़ों को काटा जाना है. राज्य सरकार के इस फैसले का शुरू से पर्यावरण विद और अन्य स्थानीय लोग विरोध कर रहे हैं. 
  • कोर्ट के आदेश के बाद पेड़ों की कटाई शुरू, बीजेपी-शिवसेना में मतभेद, कई प्रदर्शनकारी हिरासत में लिए गए, पढ़ें 10 बड़ी बातें
    मुंबई के आरे में पेड़ों की कटाई जारी है.पेड़ों को काटने का काम कल रात को शुरू किया गया है.जैसे ही पेड़ों की कटाई का काम शुरू हुआ लोगों ने इसका विरोध शुरू कर दिया.जिसके बाद पुलिस ने देर रात इन लोगों को हिरासत में ले लिया गया.हिरासत में कई महिलाओं को भी हिरासत में लिया गया. इसके बाद पूरी रात पेड़ों की कटाई हुई है.सुबह भी लोग प्रदर्शन करने की तैयारी में हैं लेकिन लोगों को पुलिस ने आरे के बाहर रोक दिया है.आरे की ओर जाने वाले रास्तों पर पुलिस ने नाकेबंदी कर दी गई है. लोगों को इस इलाके में आने से रोका जा रहा है.आरे और उसके आसपास भारी संख्या में पुलिसबल की तैनाती की गई है.आरे के आसपास धारा 144 लगाई दी गई है. सामाजिक कार्यकर्ता योगेन्द्र यादव ने भी आरे में पेड़ों की कटाई शुरू होने का विरोध किया साथ ही स्थति को चिंताजनक बताया है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि ऐसे समय में जब जलवायु परिवर्तन से होने वाले गंभीर संकट सामने दिख रहे हैं. जब महाराष्ट्र सरकार की ओर पेड़ों को काटने और मेट्रो शेड के लिए दूसरी जगह न देखने की ज़िद काफी डराने वाली है ये पृथ्वी को लेकर एक अदूरदर्शिता है जो आगे हमे परेशान करेगी.
  • Honey Trap Case: एसआईटी प्रमुख को हटाने से पहले कमलनाथ ने किसे किया था तलब और किसने कहा सरकार झेल नहीं पाएगी खुलासे
    मध्य प्रदेश में पकड़े गए हाई प्रोफाइल हनी ट्रैप (Honey Trap Case) मामले में 'दाल में कुछ ज्यादा ही काला नजर' आ रहा है. इस मामले की जांच कर रही विशेष जांच टीम (एसआईटी) के चीफ को कमलनाथ सरकार ने तीसरी बार बदला है. सबसे पहले मामले की जांच श्रीनिवास वर्मा को सौंपी गई थी लेकिन 24 घंटे के अंदर ही उनसे यह जिम्मेदारी ले ली गई और संजीव शामी को एसआईटी हेड बना दिया गया. लेकिन अब राजेंद्र कुमार को यह जिम्मेदारी दे दी गई. अब इस नए घटनाक्रम के बाद सवाल उठ रहा है कि क्या सरकार अंदर ही इस मामले में पर्दा डालने की कोशिश कर रही है. क्योंकि अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक इस हनी ट्रैप मामले में कांग्रेस-बीजेपी के कई बड़े नेता, अधिकारी भी फंसे हुए हैं और महाराष्ट्र के एक बड़े नेता का भी नाम सामने आ रहा है.
  • पश्चिम बंगाल में गरजे अमित शाह, कहा- ममता बनर्जी NRC पर लोगों को गुमराह कर रहीं, भाषण की 10 खास बातें
    पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) सरकार पर जमकर हमला बोला. अमित शाह ने आरोप लगाया कि ममता बनर्जी वोट के लिए अवैध प्रवासियों की हिमायत कर रही हैं. बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा नागरिक संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) लाएगी.  अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि आज देश में भाजपा (BJP) की पूर्ण बहुमत की सरकार बनी है तो इसमें बंगाल का भी बहुत बड़ा योगदान है. उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल की जनता अगर परिवर्तन नहीं करती तो भाजपा 300 सीटों से ज्यादा जीतने का लक्ष्य पूरा नहीं कर पाती. इस लोकसभा चुनाव में बंगाल में भाजपा को 18 सीटों पर जीत मिली है. अब आने वाले चुनाव में यहां निश्चित रूप से भाजपा की सरकार बनने वाली है.
  • Lal Bahadur Shastri: कई मील नंगे पांव चलकर स्कूल जाते थे लाल बहादुर शास्त्री, जानिए उनसे जुड़ी 10 बातें
    Lal Bahadur Shastri Jayanti: देश के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री (Lal Bahadur Shastri) की जयंती 2 अक्टूबर (2 October) को मनाई जाती है. लाल बहादुर शास्त्री ने अपना पूरा जीवन गरीबों की सेवा में समर्पित कर दिया था. शास्त्री का जन्म उत्तर प्रदेश के मुगलसराय में दो अक्टूबर, 1904 को शारदा प्रसाद और रामदुलारी देवी के घर हुआ था. देश की आजादी में लाल बहादुर शास्त्री (Lal Bahadur Shastri)  का खास योगदान है. साल 1920 में शास्त्री (Shastri) भारत की आजादी की लड़ाई में शामिल हो गए थे. स्वाधीनता संग्राम के जिन आंदोलनों में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही उनमें 1921 का असहयोग आंदोलन, 1930 का दांडी मार्च और 1942 का भारत छोड़ो आंदोलन उल्लेखनीय हैं. शास्त्री ने ही 'जय जवान, जय किसान' का नारा दिया था. आइये जानते हैं लाल बहादुर शास्त्री से जुड़ी 10 बातें....
«1234567»

Advertisement