NDTV Khabar
होम | फैक्‍ट फाइल

फैक्‍ट फाइल

  • अर्थव्यवस्था को धार और युवाओं को रोजगार, पाकिस्तान के नए पीएम इमरान खान को ये 8 काम तुरंत करने होंगे
    पूर्व क्रिकेटर और पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी (पीटीआई) के नेता इमरान खान आज पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेंगे. वह देश के 22वें प्रधानमंत्री होंगे. इससे पहले शुक्रवार को पाकिस्तानी संसद के निचले सदन नेशनल असेंबली में हुए एकतरफा चुनाव में इमरान खान को देश का नया प्रधानमंत्री चुना गया था. पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री के रूप में इमरान खान के सामने कई समस्याएं मुंह बाए खड़ी हैं. सबसे विकराल समस्या अर्थव्यवस्था की है. जीडीपी की ग्रोथ धीमी है तो देश पर कर्ज का बोझ बढ़ता जा रहा है. पाकिस्तान की बतौर 'ब्रांड' दुनिया में नकारात्मक छवि बन गई है. कट्टरपंथियों का दखल बढ़ा है. वहीं रोजगार सृजन न होने से युवाओं में असंतोष का माहौल है. ये वो 8 काम हैं जो इमरान खान को तुरंत करने होंगे.
  • केरल में भीषण बाढ़ और बारिश से 324 की मौत, लाखों लोग हुए विस्थापित, 10 बातें...
    केरल में भारी बारिश और बाढ़ से जीवन अस्त-व्यस्त है. भारी बारिश और बाढ़ से बीते 9 दिनों में 324 लोगों की मौत हो चुकी है. केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने कहा कि अब तक दो लाख से अधिक लोग विस्थापित हो चुके हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी केरल रवाना हो चुके हैं. वहीं राज्य में अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी और पेट्रोल पंप में ईंधन की कमी से संकट गहराता दिखा. करीब एक सदी में आई इस प्रलयंकारी बाढ़ में 8 अगस्त के बाद से अब तक 300 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. आपदा ने इस प्राकृतिक छटा वाले राज्य को झकझोर कर रख दिया है. इसके चलते इसका पर्यटन उद्योग बर्बाद हो गया है, हजारों हेक्टेयर भूभाग में उपजी फसलें तबाह हो गई हैं और बुनियादी ढांचे को जबरदस्त नुकसान पहुंचा है.
  • राजनीति में अपने 'अटल' फैसलों के लिए पहचाने जाने वाले वाजपेयी के बारे में जानें 15 बातें...
    भारत के सर्वाधिक करिश्माई नेताओं में शुमार अटल बिहारी वाजपेयी का देश के राजनीतिक पटल पर एक ऐसे विशाल व्यक्तित्व वाले राजनेता के रूप में सम्मान किया जाता है, जिनकी व्यापक स्तर पर स्वीकार्यता है और जिन्होंने तमाम अवरोधों को तोड़ते हुए 90 के दशक में राजनीति के मुख्य मंच पर भाजपा को स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. इसे वाजपेयी के व्यक्तित्व का ही आकर्षण कहा जाएगा कि नए सहयोगी दल उस भाजपा के साथ जुड़ते गए, जिसे अपने दक्षिणपंथी झुकाव के कारण उस जमाने, खासतौर से बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद राजनीतिक रूप से 'अछूत' माना जाता था. अपनी वाणी के ओज और 'अटल' फैसले लेने के लिए विख्यात वाजपेयी को भारत-पाकिस्तान मतभेदों को दूर करने की दिशा में ठोस कदम उठाने का श्रेय दिया जाता है. अपने इन ठोस कदमों के साथ वह भाजपा के 'राष्ट्रवादी राजनीतिक एजेंडे' से परे जाकर एक व्यापक फलक के राजनेता के रूप में जाने जाते हैं.
  • पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने 5 बजकर 5 मिनट में ली अंतिम सांस, उनके जीवन से जुड़ी 10 बड़ीं बातें
    भारतीय राजनीति में अजातशत्रु, भीष्म पितामह, शिखर पुरुष जैसे शब्दों से पुकारे जाने वाले अटल बिहारी वाजपेयी देश के 10 वें प्रधानमंत्री थे. उन्होंने देश की बागडोर तीन बार संभाली. पहली बार उन्होंने साल 1996 में 16 मई से 1 जून तक, साल 1998 से 19 मार्च से 26 अप्रैल 1999 तक, फिर 13 अक्टूबर 1999 से 22 मई से 2004 तक. 16 अगस्त को उन्होंने अंतिम सांस ली. वह दो महीने से एम्स में भर्ती थे. प्रधानमंत्री मोदी ने अटल जी को ट्विवटर पर श्रद्धांजलि देते हुये कहा कि हम सबके श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी नहीं रहे. भावनाओं का ज्वार उमड़ रहा है. वहीं बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि अटल जी के विचार, उनकी कविताएं, उनकी दूरदर्शिता और उनकी राजनीतिक कुशलता सदैव हम सबको प्रेरित व मार्गदर्शित करती रहेंगी. भारतीय राजनीति के ऐसे शिखर पुरुष को मैं कोटि-कोटि नमन करता हूँ और ईश्वर से उनकी दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करता हूँ
  • पत्रकारिता छोड़ राजनीति में आए, 4 साल में ही कह दिया अलविदा, आशुतोष से जुड़ी 8 खास बातें
    आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष ने इस्तीफा दे दिया है. हालांकि, आशुतोष ने इस्तीफे के पीछे निजी कारण बताए हैं, लेकिन अटकलें लगाई जा रही हैं कि पार्टी में अनदेखी की वजह से उन्होंने ये कदम उठाया. आशुतोष करीब डेढ़ दशक तक सक्रिय पत्रकारिता के बाद साल 2014 में राजनीति में आए थे. आम आदमी पार्टी का दामन थामने के बाद उन्होंने चांदनी चौक से पार्टी के टिकट पर चुनाव भी लड़ा था, मगर उस चुनाव में उनकी हार हुई थी. राजनीति को अलविदा कहने के बाद अब चर्चा है कि आशुतोष फिर से पत्रकारिता में लौट सकते हैं. आइये जानते हैं आशुतोष से जुड़ी 8 खास बातें.
  • Independence Day 2018 : लाल किले से पीएम मोदी ने देशवासियों को दिखाए ये 10 सपने, जिनको करना चाहते हैं पूरा
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 72वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर बुधवार को लालकिले की प्राचीर से 82 मिनट का भाषण दिया जो 15 अगस्त को दिया गया उनका तीसरा सबसे छोटा संबोधन रहा. प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले साल यानी वर्ष 2017 में स्वतंत्रता दिवस पर अपना सबसे छोटा भाषण दिया था. तब उनका भाषण 54 मिनट का था. देश के 72वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले की प्राचीर से राष्ट्र को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, ‘आज मेरा सौभाग्य है कि इस पावन अवसर पर मुझे देश को एक और खुशखबरी देने का अवसर मिला है. साल 2022, यानि आजादी के 75वें वर्ष में और संभव हुआ तो उससे पहले ही, भारत ‘गगनयान’ के जरिये अंतरिक्ष में तिरंगा लेकर जा रहा है.’ उन्होंने कहा कि आजादी के 75 साल पूरे होने पर, वर्ष 2022 तक भारत का बेटा या बेटी अंतरिक्ष में जाएगी.
  • लाल किले से कश्मीर पर बोले पीएम मोदी : हम गोली और गाली के रास्ते नहीं, गले लगाकर आगे बढ़ना चाहते हैं, 10 बातें
    स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि अगर हम साल 2013 की रफ्तार से चलते तो कई काम पूरा करने में दशकों लग जाते, लेकिन चार साल में बहुत कुछ बदला और देश आज बदलाव महसूस कर रहा है. देश के 72वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर ऐतिहासिक लाल किले की प्राचीर से राष्ट्र को संबोधित कर रहे मोदी ने कहा, ‘चार साल में देश बदलाव महसूस कर रहा है. आकाश वही है पृथ्वी वही है, लोग, दफ्तर सब कुछ पहले जैसा है लेकिन अब देश बदल रहा है. साथ ही कश्मीर पर पीएम मोदी ने कहा कि हम गोली और गाली के रास्ते पर नहीं, बल्कि गले लगाकर आगे बढ़ना चाहते हैं.
  • पीएम मोदी ने कहा, हम मक्खन पर लकीर नहीं, पत्थर पर लकीर खींचने वाले हैं, पढ़ें भाषण की 10 खास बातें
    देश के 72वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आज लालकिले पर आयोजित मुख्य समारोह में राजनीतिक दलों के प्रमुख नेताओं, सरकार के मंत्रियों, सेना के शीर्ष अधिकारियों, राजनयिकों और दूसरे क्षेत्रों के प्रमुख लोगों ने शिकरत की. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लालकिले की प्राचीर से संबोधन के दौरान कहा कि जब हौसले बुलंद होते हैं, देश के लिए कुछ करने का इरादा होता है तो बेनामी संपत्ति का कानून भी लागू होता है. हम कड़े फैसले लेने का सामर्थ्य रखते हैं क्योंकि देशहित हमारे लिए सर्वोपरी है. हम मक्खन पर लकीर नहीं, पत्थर पर लकीर खींचने वाले हैं. इस मौके पर पीएम मोदी ने 25 सितंबर को, पंडित दीन दयाल की जयंती पर, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना शुरू कर दिया जाएगा.
  • लाल किले से पीएम मोदी बोले- 2013 की रफ्तार से चलते तो कई योजनाओं को पूरा होने में कई दशक लग जाते
    पीएम नरेंद्र मोदी 72वें स्वतंत्रता दिवस के मौक़े पर पांचवी बार लाल क़िले से देश को संबोधित कर रहे हैं. लोकसभा चुनावों से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लाल क़िले से आख़िरी भाषण है. पीएम मोदी ने कहा कि आप सभी को स्वतंत्रता के इस महान पर्व पर मेरी बहुत-बहुत शुभकामनाएं. देश इस समय नवनिर्माण के आत्मविश्वास से सराबोर है. जब आज की सुबह हर्ष-उल्लास, श्रद्धा और संकल्प की नई रोशनी लेकर आई है. उन्‍होंने कहा कि देश आत्मविश्वास से खड़ा है और नई बुलंदी छू रहा है. देश के बेटियों ने कमाल किया और हमारे दूर-सुदूर के आदिवासी बच्चों ने एवरेस्ट पर तिरंगा फहरा कर इसकी शान को और बढ़ा दिया है. हमारा देश दुनिया की छठी बड़ी अर्थव्यवस्था बना है.
  • उत्कृष्ट सांसद, मजबूत नेता और प्रखर वक्ता, सोमनाथ चटर्जी से जुड़ी 8 बातें
    14वीं लोकसभा के अध्यक्ष रहे और 10 बार सांसद चुने सोमनाथ चटर्जी का निधन हो गया है. वह 89 साल के थे. वह काफी समय से बीमार चल रहे थे और उनका डायलिसिस किया जा रहा था. रविवार को दिल का हल्का दौरा पड़ा था जिसके बाद उनकी स्थिति और बिगड़ गयी. एक निजी अस्पताल के एक चिकित्सक ने बताया कि गुर्दे संबंधी समस्या से जूझ रहे चटर्जी को मंगलवार को गंभीर स्थिति में अस्पताल में भर्ती कराया गया था. पिछले महीने पूर्व लोकसभा अध्यक्ष को मस्तिष्काघात के बाद अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था. अधिकारी ने कहा, “पिछले 40 दिनों से चटर्जी का उपचार चल रहा है. स्वास्थ्य में सुधार के संकेत मिलने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिली थी लेकिन मंगलवार को हालत बिगड़ने के बाद उन्हें फिर से अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था.”
  • राजस्थान में राहुल का PM पर हमला, कहा- अगर आपका नाम अनिल अंबानी नहीं तो रोजगार नहीं मिलेगा, भाषण की 5 बातें...
    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने एक दिन के दौरे के दौरान राजस्थान में चुनावी बिगुल फूंक दिया. राहुल ने दौरे के दौरान पीएम मोदी पर राफेल सौदा, किसानों की खुदकुशी और रोजगार के मुद्दे पर जमकर हमला बोला. राहुल ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के सामने संसद में जब भ्रष्टाचार से जुड़े सवाल पूछे जाते हैं तो वह डेढ़ घंटे के भाषण के दौरान एक मिनट भी इस पर नहीं बोलते. राहुल ने राफेल सौदे को लेकर भी पीएम पर तंज कसा और कहा कि यूपीए सरकार ने 126 हवाई जहाज के लिए फ्रांस की कंपनी डसॉल्ट से करार किया था. यह सौदा 520 करोड़ एक हवाई जहाज के लिए था. वहीं, पीएम ने 1600 करोड़ रुपये का एक हवाई जहाज के लिए करार किया है. उन्होंने रोजगार के मुद्दे पर कहा कि अगर आपका नाम अनिल अंबानी है तभी आपको रोजगार मिलेगा.
  • ममता बनर्जी के गढ़ में बोले अमित शाह- TMC के शासन को बंगाल से उखाड़ फेंकना है
    बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के कोलकाता दौरे से एक दिन पहले ही शहर के मध्य मायो रोड स्थित उनके रैली स्थल के आसपास ऐसे पोस्टर लगे दिखे जिन पर ‘‘भाजपा बंगाल छोड़ो’’ लिखा है. प्रदेश भाजपा ने आरोप लगाया कि ‘‘भाजपा बंगाल छोड़ो’’ और ‘‘बंगाल विरोधी भाजपा वापस जाओ’’ संदेश वाले पोस्टर तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा लगाये गए हैं.  हालांकि इस आरोप से पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने इनकार किया. पश्चिम बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, ‘‘इससे पता चलता है कि तृणमूल कांग्रेस कल होने वाली हमारी रैली से भयभीत है. राज्य के लोग भाजपा के सुशासन का इंतजार कर रहे हैं.’’ भाजपा के एक अन्य नेता ने कहा कि बंगाल तृणमूल कांग्रेस की ‘‘निजी सम्पत्ति’’ नहीं है, पार्टी को ऐसी मांगें करने का कोई अधिकार नहीं है. 
  • केरल में बाढ़ से अब तक 37 की मौत, 31 हजार से अधिक लोग राहत शिविर में रहने को मजबूर, 10 बातें
    भारतीय वायु सेना(आईएएफ) ने केरल के बारिश प्रभावित इलाके में राहत व बचाव अभियान के लिए पांच एन-32 परिवहन विमान, दो एमआई-17 वी5 हेलीकॉप्टर और एक उन्नत हल्का हेलीकॉप्टर(एएलएच) तैनात किया है. आईएएफ के एक प्रवक्ता ने कहा, "पांच एन-32 परिवहन विमानों को राष्ट्रीय आपदा मोचन बल(एनडीआरएफ) की टीम व उनके सामानों को अरक्कोनम से कालीकट ले जाने के लिए तैनात किया गया है." प्रवक्ता ने कहा, "एनडीआरएफ की दो टीम को विजयवाड़ा और आर्मी इंजीनियर ग्रुप की दो टीम को बेंगलुरु व हैदराबाद से कालीकट भेजा गया है. "उन्होंने कहा कि एमआई-17 वी5 को राहत सामग्रियों के वितरण के लिए तैनात किया गया है. प्रवक्ता ने कहा, "आईएएफ स्थिति के सामान्य होने तक सहायता करना जारी रखेगा." राज्य में पिछले 48 घंटों में भारी बारिश और भूस्खलन के कारण कुल 37 लोगों की मौत हो चुकी है. 31 हजार से अधिक लोग राहत शिविर में रहने को मजबूर हैं.
  • केरल में भारी बारिश के बाद बाढ़ की तबाही, इडुक्की बांध के पांचों गेट खुले : 10 बातें
    केरल में भारी बारिश के बाद बाढ़ ने भयंकर तबाही मचाई है. बाढ़ के ख़तरे से बचने के लिए 22 बांधों को खोला गया है. हालात का अंदाज़ा इससे लगाया जा सकता है कि एशिया के सबसे बड़े इडुक्की बांध के दरवाज़े 26 साल के बाद खोलने की नौबत आई है. कहा जा रहा है कि 45 साल पुराने इडुक्की बांध में इतना पानी कभी नहीं भरा. इडुक्की बांध के पांचों गेट खोल दिए गए हैं. जगह-जगह लैंडस्लाइड की वजह से 26 लोगों की मौत हुई है. कई लोग लापता हैं. कन्नूर, इडुक्की, कोझिकोड, वायनाड, मल्लपुरम सबसे प्रभावित इलाक़े हैं. एर्नाकुलम, अलप्पुझा और पलक्कड़ ज़िले भी प्रभावित हैं. कई इलाक़ों में रेड अलर्ट जारी किया गया है.
  • आज राज्यसभा में पेश होगा ट्रिपल तलाक बिल, पास न होने पर यह है BJP का प्लान-B, 10 बातें
    मोदी कैबिनेट ने ट्रिपल तलाक बिल (triple talaq bill) में संशोधन को मंजूरी दे दी है और आज मोदी सरकार ट्रिपल तलाक संशोधन बिल संसद के मॉनसून सत्र के आखिरी दिन राज्यसभा में पेश करेगी. अगर विधेयक ऊपरी सदन में पारित हो जाता है तो इसे संशोधन पर मंजूरी के लिए वापस लोकसभा में पेश करना होगा. सूत्रों की मानें तो ट्रिपल तलाक संशोधन बिल को आज राज्यसभा की कार्यवाही में टॉप एजेंडे के तौर पर शामिल कर लिया गया है. मोदी कैबिनेट की इस ट्रिपल तलाक संशोधन बिल में जमानत जैसे कुछ संरक्षणात्मक प्रावधानों को मंजूरी दी गई है. यानी अब ये तय किया गया है कि संशोधित बिल में दोषी को ज़मानत देने का अधिकार मेजिस्ट्रेट के पास होगा.
  • Karunanidhi Death: करुणानिधि के निधन से देश भर में शोक की लहर, जानें शोक संदेश में किसने क्या कहा
    डीएमके यानी द्रमुक प्रमुख और तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि (M Karunanidhi) का मंगलवार की शाम निधन हो गया. उनके निधन की सूचना मिलते ही समर्थकों में शोक की लहर दौड़ पड़ी. करुणानिधि के निधन पर राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री सहित तमाम नेताओं ने शोक जताते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है. इसके अलावा उनके निधन पर शोक जताने और श्रद्धांजलि देने वालों की भीड़ है. करुणानिधि को दफनाने को लेकर विवाद हो गया है. इसे लेकर मद्रास हाईकोर्ट में फिर सुनवाई होगी.
  • Karunanidhi Death: करुणानिधि को मरीना बीच पर दफनाने को लेकर क्यों है विवाद? 10 बड़ी बातें
    डीएमके प्रमुख और दक्षिण भारत के दिग्गज नेता एम करुणानिधि को मरीना बीच पर दफनाने को लेकर विवाद जारी है. डीएमके की याचिका पर मद्रास हाईकोर्ट में आधी रात को सुनवाई हुई. हालांकि कोर्ट ने मामले को सुबह 8 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया है. इस मामले में तमिलनाडु सरकार ने कोर्ट से जवाब देने के लिए अधिक समय की मांग की है. दरअसल, डीएमके ने करुणानिधि के निधन के बाद मरीना बीच पर उन्हें दफनाने के लिए जमीन की मांग की थी. तमिलनाडु सरकार ने मरीना बीच पर जगह देने से इनकार कर दिया था. सरकार ने करुणानिधि को दफनाने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री सी राजगोपालचारी और के कामराज के स्मारकों के समीप जगह देने की पेशकश की थी. डीएमके इस पर राजी नहीं हुई और इस मामले पर सियासी उठापटक शुरू हो गई. 
  • NDA के उपसभापति पद के उम्मीदवार हरिवंश पत्रकार और बैंकर भी रह चुके हैं, जानिये उनके बारे में 5 बातें...
    राज्यसभा के उपसभापति पद के लिए चुनाव 9 अगस्त को चुनाव होगा. सभापति वेंकैया नायडू ने शून्यकाल में इसकी घोषणा की. उन्होंने कहा कि इसके लिए बुधवार 8 अगस्त को 12 बजे तक नामांकन पत्र दाखिल किया जा सकेगा. एनडीए की तरफ से JDU सांसद हरिवंश नारायण सिंह (Harivansh Narayan Singh) उम्मीदवार होंगे. उपसभापति का पद जेडीयू को देने के पीछे विश्लेषक बिहार में जेडीयू और बीजेपी के बीच जारी गतिरोध को खत्म करने की दिशा में एक कदम के तौर पर देख रहे हैं. खबरों के मुताबिक यह नाम अमित शाह और नीतीश कुमार के बीच बातचीत के बाद ही तय हुआ है. 2019 के लोकसभा चुनाव को देखते हुए इसे बीजेपी द्वारा एनडीए के कुनबे को संगठित रखने की कवायद के रूप में भी देखा जा सकता है. हरिवंश को उम्मीदवार बनाकर BJP यह भी संदेश देना चाहती है कि उसके और JDU के बीच सब कुछ सही है. उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में 30 जून, 1956 को जन्मे हरिवंश को जयप्रकाश नारायण (जेपी) ने सबसे ज्यादा प्रभावित किया. हरिवंश 25 साल से ज्यादा समय तक प्रभात खबर अखबार के प्रधान संपादक रह चुके हैं.
  • दिल्ली मेट्रो: 4 बड़े बाजारों को जोड़ेगी पिंक लाइन, अब साउथ कैंपस-लाजपत नगर का सफर होगा आसान, 7 बातें
    दिल्ली विश्वविद्यालय के दक्षिणी परिसर (साउथ कैंपस) और लाजपत नगर के बीच दिल्ली मेट्रो की पिंक लाइन आज से शुरू हो गई, जिसे ‘कॉरिडर फॉर शॉपर्स’ की तर्ज पर बनाया गया है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और केंद्रीय आवास एवं शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने संयुक्त रूप से इसका उद्घाटन किया. डीएमआरसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘ मेट्रो भवन से रिमोट कंट्रोल का इस्तेमाल कर इसे औपचारिक तौर पर शुरू किया गया. यात्रियों के लिए इसकी सेवाएं शुरू कर दी गई हैं.
  • रेलवे छात्रों को किराये में देता है जमकर छूट, क्या आपको पता है इस सुविधा के बारे में, 5 खास बातें
    प्रतियोगी परीक्षाओं के दौरान अक्सर ट्रेनों में छात्रों की वजह से अच्छी खासी भीड़ हो जाती है. जिसकी वजह से आम यात्रियों और सुरक्षा में तैनात जवानों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. तमाम छात्र बिना टिकट ही यात्रा करते हैं. लेकिन बहुत ही कम लोगों को पता होगा कि रेलवे टिकटों के मामले में छात्रों को कई तरह की छूट देता है. छात्रों की ये सुविधा स्लीपर और 2एस सीट पर मिलता है. इसकी सुविधा ऑनलाइन बुकिंग टिकट के जरिये नहीं उठाई जा सकती है.
«1234567»

Advertisement