NDTV Khabar
होम | फैक्‍ट फाइल

फैक्‍ट फाइल

  • प्रशांत भूषण अवमानना मामले में सुप्रीम कोर्ट आज सुना सकता है सजा, मामले से जुड़ी 10 बड़ी बातें...
    वकील-कार्यकर्ता प्रशांत भूषण, जो भारत के मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे और सुप्रीम कोर्ट की आलोचना करने वाले अपने ट्वीट के लिए अवमानना के दोषी पाए गए हैं, को आज सजा सुनाए जाने की उम्मीद है. 63 वर्षीय प्रशांत भूषण ने यह कहते हुए पीछे हटने या माफी मांगने से इनकार कर दिया कि यह उनकी अंतरात्मा और न्यायालय की अवमानना होगी. उनके वकील ने तर्क दिया है कि अदालत को प्रशांत भूषण की अत्यधिक आलोचना झेलनी चाहिए क्योंकि अदालत के "कंधे इस बोझ को उठाने के लिए काफी हैं." अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने भी सजा के खिलाफ तर्क दिया है. यह देखते हुए कि न्यायाधीश "स्वयं की रक्षा करने या समझाने के लिए प्रेस के पास नहीं जा सकते हैं," अदालत ने प्रशांत भूषण के की प्रतिष्ठा का हवाला देते हुए कहा, "अगर इनकी जगह कोई और होता, तो इसे नजरअंदाज करना आसान होता."
  • मन की बात: चीन को एक और बड़ा झटका देने की तैयारी, PM मोदी ने इन 10 बातों का किया जिक्र
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 68वीं बार अपने रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के तहत देश के लोगों को संबोधित किया. पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कई विषयों पर दिल खोलकर बात की. पीएम मोदी ने आज के अपने कार्यक्रम में कोरोना संकट से लेकर किसानों की स्थितियों तक पर चर्चा की. साथ ही उन्होंने बताया कि चीन को किस तरह एक बार फिर से पटखनी दी जा सकती है. 
  • 1 सितंबर से शुरू होगा Unlock 4, क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद, जानिए 10 बड़ी बातें
    इस साल मार्च में देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार (Centre Govt) ने कई चरणों में लॉकडाउन लगाया था. लॉकडाउन की वजह से देश की आर्थिक गतिविधियां थम गई थीं. बस, ट्रेन, घरेलू व अंतरराष्ट्रीय हवाई सेवाएं बंद कर दी गई थीं. आर्थिक गतिविधियों पर पड़ रहे असर को देखते हुए सरकार ने धीरे-धीरे अनलॉक की प्रक्रिया शुरू की. 1 सितंबर से अनलॉक (Unlock 4) का चौथा चरण शुरू हो रहा है. बीते दिन गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने अनलॉक 4 को लेकर गाइडलाइन जारी की. मंत्रालय ने चौथे चरण की इस अनलॉक में कई छूट दी हैं. हालांकि यह भी साफ किया है कि कंटेनमेंट जोन में 30 सितंबर तक लॉकडाउन सख्ती से लागू रहेगा. गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों से यह भी कहा है कि आप कंटेनमेंट जोन के बाहर अपना लोकल लॉकडाउन अब लागू नहीं कर सकते.
  • Final Year Exams 2020: सुप्रीम कोर्ट का फैसला- देना ही होगा एग्जाम, पढ़ें 10 बड़ी बातें
    Final Year Exams 2020: यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की अंतिम वर्ष की परीक्षाएं कराई जाएंगी या नहीं? इस सवाल का जवाब देशभर के लाखों स्टूडेंट्स और उनके अभिभावक जानना चाहते थे. हर किसी को परीक्षाओं पर सुप्रीम कोर्ट के अंतिम फैसले का इंतजार था. लेकिन अब छात्रों और अभिभावकों का इंतजार खत्म हो गया है, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने अंतिम ईयर की परीक्षाओं को लेकर अपना अंतिम फैसला आज सुना दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि यूनिवर्सिटी और कॉलेजों के फाइनल ईयर के एग्जाम आयोजित कराए जाएंगे. 
  • कौन हैं सैयद ज़फ़र इस्लाम, जो BJP के इतिहास में सातवें मुस्लिम सांसद होंगे
    भारतीय जनता पार्टी ने अपने राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद ज़फ़र इस्लाम (Syed Jafar Islam) को राज्यसभा उपचुनाव (Rajyasabha Bypolls) के लिए अपना उम्मीदवार चुना है. दरअसल, वरिष्ठ नेता अमर सिंह के निधन के बाद से राज्यसभा में सीट खाली हुई है, जिसके बाद उत्तर प्रदेश की राज्यसभा सीट पर उपचुनाव कराए जा रहे हैं. अगर ज़फ़र इस्लाम चुने गए तो वो बीजेपी के इतिहास में सातवें मुस्लिम सांसद होंगे. दिलचस्प है कि ज़फ़र इस्लाम बीजेपी से पिछले सात सालों से जुड़े हुए हैं और अब उन्हें राज्यसभा भेजा जा रहा है. तो आखिर कौन हैं ज़फ़र इस्लाम, जिनके नाम पर बीजेपी राज्यसभा में दांव खेल रही है?
  • ''असंतुष्टों के ख‍िलाफ कोई दुर्भावना नहीं'': सोनिया गांधी बनी रहेंगी कांग्रेस प्रमुख; जानिए 10 बड़ी बातें  
    नेतृत्व संकट के बीच सोमवार को कांग्रेस कार्यसमिति (CWC) की बैठक में फैसला लिया गया है कि फिलहाल सोनिया गांधी कांग्रेस की अध्यक्ष बनी रहेंगी. सात घंटे तक चली बैठक के शुरुआत में सोनिया गांधी ने कहा था कि वह कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष का पद छोड़ना चाहती हैं और नए अध्यक्ष की तलाश शुरू करने का आग्रह किया था. कांग्रेस के शीर्ष 23 नेताओं की ओर से पूर्णकालिक नेतृत्व की मांग करते हुए लिखे गए पत्र के एक दिन बाद कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक हुई. कहा जा रहा है कि सोनिया गांधी ने बैठक में समापन संबोधन में कहा कि पार्टी के अंदर किसी को लेकर भी उनके अंदर कोई दुर्भावना नहीं है. इसे पत्र लिखने वाले नेताओं के लिए एक संकेत माना जा रहा है. कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के समापन में उन्होंने कहा, "मझे तकलीफ हुई लेकिन सभी सहयोगी हैं. जो हुआ सो हुआ, हमें साथ मिलकर काम करना चाहिए."
  • CWC की बैठक में 'बगावती खत' को लेकर भड़के राहुल, जानिए किसने क्या कहा
    पार्टी नेतृत्व को लेकर कांग्रेस की कार्यसमिति की बैठक में सोमवार को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने इस्तीफे की बात रखी है. लेकिन राहुल गांधी और मनमोहन सिंह जैसे नेताओं ने उनसे पार्टी अध्यक्ष पद पर बने रहने का आग्रह किया है. कांग्रेस के लगभग 20 वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी में पूर्णकालिक अध्यक्ष की मांग की थी और पार्टी में बड़े बदलाव लाने को लेकर एक चिट्ठी भी लिखी थी, जिसको लेकर राहुल गांधी मीटिंग में बहुत गुस्से में नज़र आए. साफ है कि नेतृत्व की मांग को लेकर पार्टी के अंदर दो धड़े बंट चुके हैं. सूत्रों के हवाले से खबर है कि वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए हुई इस मीटिंग में कई नेताओं ने सोनिया से पद पर बने रहने का आग्रह किया है.
  • सोनिया ही रहेंगी या राहुल-प्रियंका संभालेंगे कांग्रेस की कमान, आज CWC बैठक में होगा फैसला - 10 बातें
    CWC Meet: कांग्रेस में नेतृत्व के मुद्दे पर चल रही चर्चा के बीच पार्टी की कांग्रेस कार्य समिति (CWC) की बैठक आज वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से होगी. बैठक की शुरुआत 11 बजे होगी. बैठक से पहले सोनिया गांधी ने कहा कि वो कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में वो पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे देंगी. इसके बाद से पार्टी को लेकर सवाल पैदा हो गए हैं, कि क्या राहुल गांधी दोबारा अध्यक्ष बनने के लिए तैयार होंगे या प्रियंका गांधी के साथ मिलकर कांग्रेस को दोबारा पटरी पर लाने की राह में कोशिश करेंगे या फिर गांधी परिवार के अतिरिक्त किसी नेता को पार्टी की जिम्मेदारी दी जाएगी. सूत्रों ने बताया है कि सोनिया गांधी ने पार्टी के अन्य नेताओं से नया अध्यक्ष ढूंढने को कहा है. पार्टी के 20 से ज्यादा नेताओं ने चिट्ठी ल‍िखकर पूर्णकालिक अध्यक्ष बनाए जाने की मांग की है.
  • अवमानना केस : क्या माफी मांगेंगे प्रशांत भूषण या फिर सजा को हैं तैयार? 10 बड़ी बातें
    सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के जाने-माने वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण (Prashant Bhushan) से जुड़े अदालत की अवमानना मामले में बहस के बाद शीर्ष अदालत ने बीते गुरुवार अपना आदेश सुरक्षित रख लिया था. सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि 24 अगस्त तक प्रशांत भूषण चाहें तो बिना शर्त माफीनामा दाखिल कर सकते हैं. कोर्ट ने कहा कि अगर वह माफीनामा दाखिल करते हैं तो 25 अगस्त को इस पर विचार किया जाएगा. अगर वह माफीनामा दाखिल नहीं करते हैं तो अदालत सजा पर फैसला सुनाएगी. इस सुनवाई से एक हफ्ते पहले ही भूषण को उनके दो ट्वीट को लेकर कोर्ट की अवमानना का दोषी करार दिया गया था. आज (सोमवार) अदालत द्वारा दी गई डेडलाइन का आखिरी दिन है.
  • गुजरात में मूसलाधार बारिश से सामान्य जनजीवन प्रभावित, बिहार में बाढ़ से हालात गंभीर, 10 बड़ी बातें...
    गुजरात के कई इलाकों में रविवार को मूसलाधार बारिश के कारण नदियां उफान पर रहीं और 100 से अधिक बांधों को लेकर हाई अलर्ट जारी किया गया. वहीं बिहार में शनिवार से किसी नये इलाके में बाढ़ का प्रकोप सामने नहीं आया लेकिन राज्य में इस आपदा से हालात गंभीर हैं.
  • चिट्ठी विवाद के बाद सोनिया गांधी ने सहयोगियों से कहा, मैं पद पर नहीं रहूंगी: 10 बड़ी बातें
    सोमवार को कांग्रेस कार्य समिति (Congress Working Committee) की बैठक होने वाली है जिसे लेकर सूत्रों के हवाले से महत्वपूर्ण खबर सामने आ रही है. कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने कहा है कि सोमवार को होने वाली कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में वो पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे देंगी. सूत्रों ने बताया है कि सोनिया गांधी ने पार्टी के अन्य नेताओं से नया अध्यक्ष ढूंढने को कहा है. पार्टी के 20 से ज्यादा नेताओं ने चिट्ठी ल‍िखकर पूर्णकालिक अध्यक्ष बनाए जाने की मांग की है. चिट्ठी लिखने वालों में आनंद शर्मा, गुलाम नबी आजाद, कपिल सिब्बल, विवेक तनखा, पृथ्वीराज च्वहाण, वीरप्पा मोइली, शशि थरूर, भूपेंद्र हुड्डा, राज बब्बर, मनीष तिवारी, मुकुल वासनिक समेत कई पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भी शामिल हैं.
  • प्रशांत भूषण के वकील बोले, इतिहास बीते वर्षों को बार-बार देखेगा, तो SC ने कहा - हम ज्योतिषी नहीं
    वकील प्रशांत भूषण के खिलाफ कोर्ट की अवमानना मामले में सुप्रीम कोर्ट में गुरुवार को सुनवाई हुई. एक हफ्ते पहले ही भूषण को कोर्ट के अवमानना का दोषी घोषित किया गया था. कोर्ट ने उन्हें आज की सुनवाई में उन्हें अपने लिखित बयान पर पुनर्विचार करने के लिए दो दिन का वक्त दिया है. भूषण ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि उनको सजा दिए जाने का दुख नहीं है, उन्हें इस बात का दुख है कि उन्हें गलत समझा जा रहा है. उन्होंने अपने हलफनामे पर विचार न किए जाने के कोर्ट के फैसले पर निराशा जताई. उनके वकील राजीव धवन ने कहा कि 'इतिहास इन वर्षों को बार-बार देखेगा'. इसपर मामले की सुनवाई कर रहे जस्टिस अरुण मिश्रा ने कहा कि 'हम ज्योतिषी नहीं है, यह कोर्ट तय करेगा'.
  • सुप्रीम कोर्ट की अवमानना मामले में प्रशांत भूषण की सजा पर सुनवाई आज, 10 बड़ी बातें
    सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के मशहूर वकील प्रशांत भूषण (Prashant Bhushan) दो ट्वीट के आधार पर अदालत की अवमानना के मामले में दोषी करार दिए गए थे. शीर्ष अदालत ने उन्हें दोषी करार दिया था. जस्टिस अरूण मिश्रा, जस्टिस बीआर गवई और जस्टिस कृष्ण मुरारी की बेंच ने यह फैसला सुनाया था. आज यानी 20 अगस्त को इस मामले में सजा पर सुनवाई होगी.
  • सुशांत सिंह केस में पटना में FIR दर्ज करना सही, महाराष्ट्र सरकार इस फैसले को चुनौती नहीं दे सकती : SC
    सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को सुशांत सिंह राजपूत केस में फैसला सुनाते हुए मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी है. कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार की ओर से की गई अपील के खिलाफ फैसला सुनाते हुए कहा कि मामले की जांच सीबीआई करेगी. कोर्ट ने कहा कि इस बारे में कोई भ्रम नहीं होना चाहिए कि यह केस अब सीबीआई के पास है. शीर्ष अदालत ने पटना में सुशांत के परिवार की ओर से दर्ज एफआईआर को सही ठहराया है और कहा है कि बिहार सरकार की ओर से सीबीआई जांच के लिए की गई अनुशंसा भी सही थी. कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को फैसले को चुनौती देने की अनुमति भी नहीं दी है.
  • सुशांत सिंह राजपूत केस : SC देगी CBI को जांच की मंजूरी? रिया चक्रवर्ती की याचिका पर फैसला आज
    Sushant Singh Rajput Death Case: बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के सिलसिले में पटना में दर्ज केस मुंबई ट्रांसफर करने के लिये एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) आज फैसला सुनाएगा. दो राज्यों के बीच उलझे इस मामले पर आज 11 बजे फैसला जस्टिस हृषिकेश रॉय की बेंच सुनाएगी. जस्टिस रॉय ने 11 अगस्त को इस याचिका पर सुनवाई पूरी की थी. आज के इस मामले में सुप्रीम कोर्ट को ये तय करना है कि इसकी जांच आगे कौन करेगा. केस की जांच CBI को दी जा चुकी है और CBI ने FIR दर्ज तक जांच शुरु कर दी है. बताते चलें कि सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को मुंबई के अपने घर में मृत अवस्था में पाए गए थे.
  • 'फेसबुक और नफरत फैलाने वाले भाषण' : इस बड़े विवाद की 10 अहम बातें
    सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने भारत में केंद्र में सत्तारूढ़ दल का समर्थन करने के आरोपों के बीच सोमवार को सफाई कि उसके मंच पर नफरत या द्वेष फैलाने वालों ऐसे भाषणों और सामग्री पर अंकुश लगाया जाता है, जिनसे हिंसा फैलने की आशंका रहता है. इसके साथ ही कंपनी ने कहा कि उसे ये नीतियां वैश्विक स्तर पर लागू की जाती हैं और इसमें यह नहीं देखा जाता कि यह किस राजनीतिक दल से संबंधित मामला है. फेसबुक के पक्षपातपूर्ण रवैये को लेकर सत्ताधारी भाजपा और विपक्षी कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्योरोप चल रहे हैं. इन घटनाक्रम के बीच फेसबुक का यह बयान आया है.
  • Independence Day 2020: कोरोना से आत्मनिर्भर भारत तक - PM मोदी के संबोधन की बड़ी बातें
    Independence Day 2020 Speech: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज लाल किले की प्राचीर से स्वतंत्रता दिवस के इस मौके पर लगातार 7वीं बार देश को संबोधित किया. पीएम मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत स्वतंत्रता सेनानियों को नमन करते हुए की. पीएम मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत स्वतंत्रता सेनानियों को नमन करते हुए की. उन्होंने कोरोना वॉरियर्स को नमन करते हुए कहा कि इस कोरोना के काल में कई परिवार प्रभावित हुए हैं. अपने भाषण में उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम से लेकर, कोरोना संकट और आत्मनिर्भर भारत तक का आह्वान किया. इससे पहले उन्होंने राजघाट जाकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधि पर श्रद्धाजंलि अर्पित की, अपने सरकारी आवास से निकलने के बाद वह सीधे राजघाट पहुंचे और बापू की समाधि पर श्रद्धासुमन अर्पित किए. बता दें कि Covid-19 महामारी के साये में लाल किले पर आयोजित होने वाले स्वतंत्रता दिवस समारोहों के लिए चार हजार से अधिक लोगों को आमंत्रित किया गया था जिनमें अधिकारी, राजनयिक और मीडियाकर्मी शामिल थे. इसके मद्देनजर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए थे. 
  • 74th Independence Day: 15 अगस्त 1947 के आसपास हुए कुछ अहम घटनाक्रमों के रोचक तथ्य
    भारत आज अपना स्वतंत्रता दिवस मना रहा है. 15 अगस्त 1947 को भारत एक देश के रूप में स्वतंत्र हुआ था. 1947 में 20 फरवरी को ब्रिटेन के तत्कालीन प्रधानमंत्री क्लेमेंट एटली ने भारत को अलग राष्ट्र के रूप में स्वीकार किया था. जिसके बाद ब्रिटेन ने भारत को 30 जून, 1948 तक का समय नयी सरकार बनाने के लिए दिया था. 14 और 15 अगस्त 1947 को भारत और पाकिस्तान के रूप दो नए राष्ट्र का उदय हुआ था. लेकिन भारत और पाकिस्तान की आजादी अपने साथ कई समस्याओं को भी साथ लेकर आयी थी. भारतीय स्वतंत्रता से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें. 
  • स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का देश के नाम संबोधन, 10 खास बातें
    राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) ने 74वें स्वतंत्रता दिवस (74th Independence Day) की पूर्व संध्या पर देश के नाम संबोधन दिया. राष्ट्रपति ने सबसे पहले हिंदी और फिर अंग्रेजी में देश को संबोधित किया. इस साल कोरोनावायरस महामारी के बीच स्वतंत्रता दिवस मनाया जा रहा है.
  • पायलट की
    Rajasthan Floor Test: करीब एक महीने तक चली सियासी खींचतान (Rajasthan Crisis) और बगावत के थमने के बाद राजस्थान विधानसभा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के नेतृत्‍व वाली कांग्रेस सरकार ने आज बहुमत साबित कर दिया है. मुख्यमंत्री गहलोत और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच सुलह के बाद विश्वास प्रस्ताव (Confidence Motion) पेश किया गया. शुक्रवार को विधानसभा का सत्र शुरू होने से ठीक पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने ट्वीट में लिखा, "विधानसभा का सत्र आज से शुरू हो गया है. इसमें राजस्थान के लोगों और कांग्रेस विधायकों की एकता की जीत होगी. यह सच की जीत होगी. सत्यमेव जयते." 
«1234567»

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com