NDTV Khabar
होम | फैक्‍ट फाइल

फैक्‍ट फाइल

  • तबाही मचा सकता है चक्रवात 'फानी', तीन राज्यों में दिखेगा 'जल का कहर', ओडिशा के 11 जिलों से हटी आचार संहिता, 10 बड़ी बातें
    Fani Cyclone: चक्रवाती तूफान 'फानी' के 'बेहद तीव्र' होने की आशंका है, जिससे आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल और ओडिशा (Cyclone in Odisha) में गुरुवार तक भारी वर्षा होगी. भारत मौसम विभाग (IMD) ने मंगलवार शाम इस बारे में आगाह किया. आईएमडी ने चेतावनी दी है कि चक्रवात से घरों, संचार और बिजली नेटवर्क और रेल व सड़क अवसंरचना को नुकसान होने की संभावना है. ‘फानी’ के भारतीय पूर्वी तट की ओर बढ़ने पर नौसेना (Navy) और तटरक्षक बल (Indian Coast Guard) के जहाज तथा हेलीकॉप्टर, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की राहत टीमें को महत्वपूर्ण स्थानों पर तैनात किया गया है जबकि सेना और वायु सेना (Indian Air Force) की टुकड़ियों को तैयार रखा गया है. आपात स्थितियों से निपटने के लिए देश की शीर्ष संस्था राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) ने मंगलवार को दूसरी बार बैठक की और चक्रवाती तूफान से पैदा होने वाली स्थिति से निपटने के लिए राज्यों और केंद्र सरकार के संबंधित विभागों की तैयारी की समीक्षा की.
  • वो 8 बातें जिनकी वजह से मायावती और कांग्रेस के बीच शुरू हो सकती है तगड़ी जंग, किस ओर जाएंगे दलित
    ऐसा लग रहा है कि देश में दलित वोटों को लेकर कांग्रेस और बीएसपी के बीच बड़ी जंग होने वाली है जो इस लोकसभा चुनाव से शुरू होगी और उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा तक चरम पर पहुंच जाएगी. इंदिरा गांधी के समय कभी दलित, सवर्णों में ब्राह्णण कांग्रेस का कोर वोट बैंक हुआ करते थे. लेकिन अब ऐसा लग रहा है कि कांग्रेस उत्तर प्रदेश में क्षत्रपों के बजाए अपने दम पर खड़े होने की कोशिश कर रही है यही वजह है कि लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस ने भले ही प्रियंका गांधी को महासचिव बनाकर पूर्वांचल की जिम्मेदारी दी है लेकिन एक कार्यकर्ता से बातचीत में उन्होंने जब पूछा कि चुनाव की तैयारी कैसे चल रही है तो कार्यकर्ता का जवाब था कि सब ठीक है, तो प्रियंका ने दोबारा कहा, 'इस चुनाव की नहीं, 2022 की.' उनका इशारा साफ था कि वह उत्तर प्रदेश में दूर की रणनीति बनाकर आई हैं. और हो सकता है कि कांग्रेस विधानसभा का चुनाव प्रियंका के ही चेहरे पर लड़े. महागठबंधन में जगह न मिलने के बाद कांग्रेस ने भी सभी सीटों पर प्रत्याशी उतारने का ऐलान कर दिया. बीते दो-तीन महीने में कई ऐसी बातें रही हैं जो बीएसपी सुप्रीमो मायावती और कांग्रेस के बीच सीधे टकराव की वजह बन सकती हैं.
  • LPG सिलेंडर फटने से महिला गंभीर रूप से घायल, दुर्घटना रोकने के लिए इन 8 बातों का हमेशा रखें ध्यान
    उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर के एक गांव में एक गैस सिलेंडर फटने से एक महिला गंभीर रूप से घायल हो गई. क्षेत्राधिकारी राम मोहन शर्मा ने बताया कि खुशीनगर गांव में शशिकला अपने घर में खाना बना रही थी, तभी यह हादसा हुआ. उन्होंने बताया कि गैस सिलेंडर फटने से लगी आग में एक भैंस जल कर मर गई. इसके अलावा 45 हजार रुपए के नोट जल कर खाक हो गए. गौरतलब है कि गैस सिलेंडर फटने की घटनाएं पहले भी हो चुकी हैं. इसके पहले यहां सब्जी मंडी में मंगलवार को गैस सिलेंडर में रिसाव होने से आग लग गई जिससे चाय की दुकान चलाने वाले पिता-पुत्र झुलस गए. पुलिस प्रवक्ता पवन कपूर ने बताया कि ओम नगर निवासी रामभगत और उसका बेटा संदीप सब्जी मंडी में चाय की दुकान चलाते हैं। दोपहर को गैस सिलेंडर में रिसाव होने से आग लग गई जिससे पिता-पुत्र झुलस गये. उन्होंने बताया कि दोनों को सामान्य अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उनकी गंभीर हालत देखकर उन्हें पीजीआई रोहतक के लिए रेफर कर दिया. इनमें ज्यादातर घटनाएं लापरवाही की वजह से होती हैं. किसी भी मौसम में एलपीजी सिलेंडर का इस्तेमाल करते समय अगर कुछ बातों का ध्यान दिया जाए तो ऐसी दुर्घटनाओं से बचा जा सकता है. भारतीय पेट्रोलियम कॉरपोरेशन की ओर से रसोई गैस उपयोगकर्ताओं के लिए कुछ सुझाव दिए गए हैं जिनको जानना बेहद जरूरी है.
  • Voting Percentage 2019: पहला चरण- 69.50, दूसरा चरण- 69.44, तीसरा चरण-63.24, चौथे चरण में धीमा मतदान, इशारा किस ओर?
    लोकसभा चुनाव के चौथे चरण का मतदान आज शाम खत्म हो जाएगा. इसके साथ ही आज थोड़ी तस्वीर साफ हो जाएगी कि केंद्र में किसकी सरकार बनने जा रही है. चौथे चरण के मतदान में पूरे देश की नजर पश्चिम बंगाल और बिहार की बेगूसराय की सीट पर है. पश्चिम बंगाल के आसनसोल में हिंसा की खबर है. आसनसोल से केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो चुनावी मैदान में हैं. वहीं बिहार की बेगूसराय सीट पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता गिरिराज सिंह, आजेडी के तनवीर हसन और जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार मैदान में हैं. कन्हैया कुमार के पक्ष में प्रचार करने के लिए बॉलीवुड से जुड़े लोग भी बेगूसराय की धरती पर पहुंचे थे. यह चरण बीजेपी के लिए भी काफी अहम है क्योंकि आज जिन 72 सीटों पर मतदान हो रहा है. उनमें से 45 सीटों पर 2014 में बीजेपी का क़ब्ज़ा था. ऐसे में बीजेपी के लिए ये चरण बेहद अहम है.
  • Indian General Election, 2019 : आज की वोटिंग बीजेपी के लिए क्यों है अहम, 10 बड़ी बातें
    लोकसभा चुनाव (Indian general election, 2019) की शुरुआती तीन चरणों में 303 सीटों पर चुनाव ख़त्म हो चुका है. आज 9 राज्यों की 72 सीटों पर आज मतदान हो रहा है. आज महाराष्ट्र की 17, राजस्थान और उत्तर प्रदेश की 13-13, पश्चिम बंगाल की आठ, मध्य प्रदेश और ओडिशा की छह-छह, बिहार की पांच और झारखंड की तीन सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं. मतदान सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक होगा. जम्मू-कश्मीर की अनंतनाग सीट पर भी वोटिंग है. यहां चार चरणों में वोटिंग है. इससे पहले तीन चरणों में वोट डाले जा चुके हैं. इसके बाद पांचवें चरण में भी मतदान होना है. यहां शाम 4 बजे तक मतदान होना है.
  • BJP की कड़ी परीक्षा! जिन 72 सीटों पर आज हो रहा मतदान, 2014 में उनमें से NDA ने जीती थीं 56 सीटें, 10 बड़ी बातें
    लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के चौथे चरण में नौ राज्यों की 72 संसदीय सीटों पर मतदान जारी है. भाजपा (BJP) और उसकी सहयोगी पार्टियों के लिए चुनावों का यह चरण काफी अहम माना जा रहा है, क्योंकि 2014 के लोकसभा चुनाव में इन 72 में से 56 सीटों पर उन्हें जीत मिली थी. बाकी बची 16 सीटों में से दो पर कांग्रेस (Congress) को जीत मिली थी जबकि शेष सीटें तृणमूल कांग्रेस (छह) और बीजद (छह) जैसी विपक्षी पार्टियों के खाते में गई थी. सोमवार को महाराष्ट्र (Maharashtra Election) की 17, राजस्थान (Rajasthan Election) और उत्तर प्रदेश (UP Election) की 13-13, पश्चिम बंगाल (West Bengal Election) की आठ, मध्य प्रदेश एवं ओड़िशा की छह-छह, बिहार (Bihar Election) की पांच और झारखंड की तीन सीटों पर मतदान किया जा रहा है. इसके अलावा, जम्मू-कश्मीर की अनंतनाग लोकसभा सीट पर भी वोट डाले जा रहे हैं. अनंतनाग सीट पर तीन चरणों में मतदान कराया जा रहा है. राजस्थान और मध्य प्रदेश की कुल 54 सीटों पर मतदान की शुरुआत चौथे चरण से हुई है. साल 2014 में इन दोनों राज्यों की कुल 54 सीटों में से 52 पर भाजपा को जीत मिली थी. पिछले साल इन दोनों राज्यों की सत्ता में वापसी कर कांग्रेस ने अपनी स्थिति 2014 के मुकाबले काफी मजबूत कर ली है.
  • पीएम मोदी के नामांकन में एनडीए ने दिखाई ताकत, वाराणसी पहुंचे गठबंधन के दिग्गज, 5 बड़ी बातें
    उत्तर प्रदेश की वाराणसी संसदीय सीट से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नामांकन दाखिल कर दिया है. गुरुवार को प्रधानमंत्री मोदी ने वाराणसी पहुंचे थे और 7 किलोमीटर लंबा रोड शो किया. माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस रोड शोर के जरिए पूर्वांचल की 26 और बिहार की 6 सीटों पर अपना प्रभाव छोड़ना चाहते हैं. उनका यह प्रयोग 2014 के लोकसभा चुनाव में भी रहा है. एनडीए ने वाराणसी से सटी 32 में से 31 सीटें जीत ली थीं. प्रधानमंत्री ने नामांकन से पहले कार्यकर्ताओं को संबोधित किया और काल भैरव के दर्शन किए. पीएम मोदी के नामांकन में हिस्सा लेने के लिए एनडीए के बड़े नेता मौजूद थे. कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, हमें अखबारों और टीवी चैनलों के स्क्रीन ने बड़ा नहीं बनाया है, हमें कार्यकर्ताओं ने बनाया है. पोलिटिकल पंडितों को इस बार फिर से माथापच्ची करनी पड़ेगी, मगर जनता ने मूड बना लिया है'. उन्होंने कृष्ण के गोवर्धन पर्वत  उठाने का संदर्भ देते हुए कहा कि यह चुनाव मोदी नहीं छोटे-छोटे ग्वालों ने अपना हाथ लगाया है, उसके कारण जीतेंगे. पीएम मोदी ने कहा कि कल सोशल मीडिया पर लोगों ने मुझे बहुत डांटा कि रोड शो बंद कर दीजिए, अपनी सुरक्षा का ध्यान रखिए.लेकिन मोदी का कोई ध्यान रखता है तो इस देश की करोड़ों माताएं. वे शक्ति बनकर मेरी सुरक्षाकवच बनती हैं.उन्होंने कहा कि मेरी एक इच्छा है जो मैं गुजरात में भी पूरा नहीं कर पाया. क्या बनारस वाले मेरी वो इच्छा पूरी कर सकते हैं क्या ?मैं चाहता हूं कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं का मतदान 5% ज्यादा होना चाहिए
  • राहुल वायनाड के मैदान में, लेकिन वाराणसी में नहीं उतरीं प्रियंका, रणनीति की 10 बड़ी बातें
    वाराणसी से प्रियंका गांधी को न उतारकर ऐसा लग रहा है कि कांग्रेस ने बड़ी गलती कर दी है क्योंकि ऐसा प्रियंका गांधी के उतरने से पूर्वांचल की करीब 26 और बिहार की 6 सीटों पर असर पड़ता है लेकिन कांग्रेस यह बड़ा दांव खेलने से पीछे हट गई है. माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश और बिहार में कांग्रेस की जो स्थिति उस माहौल में प्रियंका को उतारना ठीक नहीं लगा वैसे भी खुद प्रियंका गांधी भी रायबरेली में कार्यकर्ताओं से पूछ चुकी हैं कि 2022 में होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारी कैसी चल रही है. मतलब प्रियंका गांधी भी विधानसभा चुनाव को लेकर ही फोकस कर रह हैं. कांग्रेस की रणनीति है कि उत्तर प्रदेश में अब प्रियंका के चेहरे के दम पर पार्टी को मजबूत किया जाए. उत्तर प्रदेश का असर बिहार में भी पड़ेगा. वहीं उत्तर भारत की राजनीति में स्थानीय क्षत्रपों से निपटने के लिए पार्टी के पास एक मजबूत चेहरा होना चाहिए. बात करें लोकसभा चुनाव की तो उत्तर भारत में हुए नुकसान की भरपाई के लिए कांग्रेस इस समय दक्षिण भारत की ओर आस लगा रही है. यही वजह है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने केरल की वायनाड सीट से पर्चा भरा है.
  • आज भी मां देती हैं पैसे, चाय की है आदत, गुस्सा नहीं करता: जानें पीएम मोदी की जिंदगी के 10 अनसुने पहलू
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अभिनेता अक्षय कुमार के साथ बुधवार को ‘निष्पक्ष और पूरी तरह से गैर राजनीतिक’ बातचीत की. पीएम मोदी ने इस दौरान पीएम मोदी ने अपनी जिंदगी से जुड़ी उन सभी पहलुओं को साझा किया, जिससे आमतौर पर कम ही लोक वाकिफ हैं. पीएम मोदी ने अपने बचपन से लेकर रियाटरमेंट तक की बातें कीं. इतना ही नहीं, उन्हें किस चीज की तलब है, उनके अकाउंट में कितना पैसा है, वह गुस्सा करते हैं या नहीं, इन तमाम प्रश्नों का बेबाकी से जवाब दिया. पढ़ें अभिनेता अक्षय कुमार के संग पीएम मोदी के बातचीत की 10 खास बातें...
  • पीएम मोदी की जिंदगी से जुड़ी वे 5 अनकही बातें, जिन्हें अक्षय कुमार के साथ किया साझा
    लोकसभा चुनाव 2019 के चुनावी कार्यक्रम से इतर पीएम मोदी ने पहला गैरराजनीतिक इंटरव्यू दिया. अभिनेता अक्षय कुमार के साथ बातचीत में पीएम मोदी ने अपने जिंदगी के कुछ अनछुए पहलुओं को साझा किया और काफी हल्के अंदाज में अपने जीवन के कई पहलुओं पर प्रकाश डाला. पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री बनने की बात से लेकर आम खाने की बात तक पर अपने विचारों को साझा किया. जानें पीएम मोदी और अक्षय कुमार के बीच बातचीत की प्रमुख 5 बातें...
  • Lok Sabha Election 2019 3rd Phase: लोकसभा चुनाव 2019 के लिए क्यों सबसे अहम हैं यह तीसरा चरण, 5 बातें
    लोकसभा चुनाव 2019 के सातों चरणों में आज हो रहे तीसरे चरण का चुनाव काफी अहम है. यूं कहें कि भारत के सात चरण वाले चुनाव में तीसरा चरण का चुनाव भारतीय राजनीति की दिशा और दशा तय करने वाला है. देश की दो सबसे बड़ी पार्टी के मुखिया और एक दूसरे के प्रतिद्वंदी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह इस चुनावी अखाड़े में हैं, जहां आज वोटिंग के जरिए ये भाग्य आजमा रहे हैं. करीब 18 करोड़ से अधिक मतदाता यानी ब्रिटेन की आबादी से लगभग तीन गुना अधिक, 13 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों में, जिनमें गुजरात, केरल और कर्नाटक के आधे भाग शामिल हैं, अपने भाग्य का फैसला करने के लिए लाइन में लगेंगे. 
  • पीएम मोदी VS प्रियंका गांधी : सबसे बड़े मुकाबले की तैयारी? वाराणसी में किसका पलड़ा भारी, 10 बड़ी बातें
    कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने कहा है कि अगर उनके भाई और पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी कहते हैं तो वह पीएम मोदी के खिलाफ वाराणसी में चुनाव लड़ने को तैयार हैं. केरल के वायनाड लोकसभा क्षेत्र में राहुल गांधी के समर्थन में चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने यह बात कही. वायनाड लोकसभा क्षेत्र में राहुल गांधी के समर्थन में प्रचार के लिए दो दिवसीय दौरे पर यहां पहुंचीं थीं प्रियंका गांधी. बता दें कि राहुल गांधी अपनी पारंपरिक सीट अमेठी के अलावा वायनाड से भी चुनाव लड़ रहे हैं. प्रियंका गांधी ने कहा, 'अगर राहुल गांधी कहेंगे तो मैं चुनाव लड़ने के लिए तैयार हूं और मैं वाराणसी से लड़ूंगी.' इसमें कोई दो राय नहीं है कि अगर पीएम मोदी के खिलाफ प्रियंका गांधी चुनाव लड़ती हैं तो भारत के चुनावी इतिहास का सबसे बड़ा मुकाबला माना जाएगा क्योंकि एक ओर बीजेपी की ओर से पीएम पद के प्रत्याशी नरेंद्र मोदी होंगे और दूसरी ओर गांधी परिवार का बड़ा चेहरा और कांग्रेस की ट्रंप कार्ड मानी जा रहीं प्रियंका गांधी होंगी. प्रियंका अगर वाराणसी से चुनाव लड़ती हैं तो हो सकता है कि कांग्रेस को इसका फायदा वाराणसी की आसपास सीटों पर हो सकता है. लेकिन इस मुकाबले के लिए वाराणसी कितना है और स्थानीय समीकरण क्या कहते हैं इस पर भी नजर होगी.
  • Sri Lanka Blast: सीरियल ब्लास्ट में 5 भारतीय समेत 290 की मौत, 10 प्वाइंट में जानें कैसे धमाकों से दहला कोलंबो
    Sri Lanka Blast: श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर हुए सिलसिलेवार बम धमाकों (Sri Lanka Bomb Blast) में 5 भारतीय नागरिकों की भी मौत हुई है. श्रीलंका में गिरजाघरों और पांच-सितारा होटलों में रविवार को ईस्टर के मौके पर हुए आत्मघाती हमलों समेत आठ बम धमाकों में 290 लोगों की मौत हो गयी जबकि करीब 500 अन्य लोग घायल हो गये. दरअसल यह धमाका उस समय हुआ, जब ईस्टर की प्रार्थना के लिए लोग चर्च में एकत्रित हुए थे. चर्च के बाहर भीड़ थी. धमाके में कई विदेशी नागरिकों की मौत हुई है. सीरियल बम धमाकों को देखते हुए रविवार को कर्फ्यू लगा दिया गया था. मगर अब सुबह 6 बजे इस कर्फ्यू को हटा दिया गया है. श्रीलंका ने इन आतंकवादी हमलों के मद्देनजर देशव्यापी कर्फ्यू घोषित कर दिया था. इतना ही नहीं, श्रीलंका ने सोशल मीडिया पर भी प्रतिबंध लगा दिया है, जिससे फर्जी खबरों पर रोक लगाई जा सके. हालांकि, इसे लेकर अब तक कोई सूचना नहीं है. वहीं सोमवार की सुबह कोलंबो एयरपोर्ट पर बम मिले, जिसे एयरफोर्स ने निष्क्रिय कर दिया. पुलिस ने कहा कि अब तक 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.
  • लोकसभा चुनाव 2019 : बिहार में कौन किस पर पड़ रहा है भारी - 10 बातें
    बिहार में मतदान के दो चरण हो चुके हैं. इन दोनों चरणों के मतदान के रुझान के बाद NDA हो या फिर महागठबंधन दोनों पक्षों के नेताओं ने अपने-अपने गठबंधन के बेहतर प्रदर्शन का दावा किया है. हालांकि इस बार साल 2014 के चुनाव की तुलना में राजनीतिक गणित बिल्कुल अलग है. इस बार नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाईटेड बीजेपी के साथ गठबंधन में है और पिछली बार के बीजेपी के साथी अब लालू यादव की आरजेडी के साथ हैं. बिल्कुल अलहदा बात यह भी है कि बीजेपी इस बार बिहार में उतनी ही सीटों पर चुनाव लड़ रही है जितनी सीटों पर जेडीयू चुनाव मैदान में है. जहां तक प्रचार अभियान की बात है तो जमीन पर एक ही मुद्दा हावी है. जहां मोदी समर्थकों के लिए मोदी को फिर वापस लाना है, वहीं मोदी विरोधियों के लिए मोदी को किसी भी हाल में रोकना है. लेकिन 2014 में एक ही मुद्दा था एक बार मोदी को आजमाकर देखो. बिहार में एनडीए और महागठबंधन के नेता हों या कार्यकर्ता दोनों अपने-अपने पक्ष में जीत की उम्मीद में पीठ थपथपा रहे हैं. हालांकि किसका दावा सही है, इसका पता 23 मई को ही चल पाएगा.
  • मथुरा से हेमा मालिनी, तो फतेहपुर सीकरी से राज बब्बर ठोंक रहे हैं ताल, दूसरे चरण में इन दिग्गजों की किस्मत दांव पर
    आज लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में 95 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं. दूसरे चरण में 11 राज्य और एक केंद्र शासित प्रदेश के मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहे हैं. दूसरे चरण में एक दर्जन से ज्यादा दिग्गज चेहरों की चेहरों की किस्मत दांव पर लगी है. इनमें पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा, बीजेपी नेता और अभिनेत्री हेमा मालिनी, कांग्रेस नेता वीरप्पा मोइली, डीएमके नेता कनिमोई, यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष राजबब्बर, कांग्रेस नेता सुशील कुमार सिंदे और नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फ़ारूक़ अब्दुल्ला शामिल हैं. इन नेताओं की किस्मत आज EVM में बंद हो जाएगी. आपको बता दें कि दूसरे चरण में पहले 97 सीटों पर वोट डाले जाने थे लेकिन इनमें से एक वेल्लोर सीट पर चुनाव रद्द कर दिया गया है. वहां पैसे बांटने की शिकायतें मिली थीं, इसके अलावा क़ानून-व्यवस्था को देखते हुए ईस्ट त्रिपुरा का चुनाव टाल दिया गया है. अब वहां 18 अप्रैल यानी आज की बजाय 23 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे.  
  • Lok Sabha Elections 2019 Phase 2: 95 सीटों पर 1635 उम्मीदवारों की किस्मत EVM में हो जाएगी कैद, 10 बड़ी बातें
    लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019 Phase 2) के दूसरे दौर के लिए गुरुवार को मतदान होगा. इस चरण में पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा (HD Deve Gowda), केन्द्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह और द्रमुक नेता डी राजा सहित अन्य प्रमुख नेता चुनाव मैदान में किस्मत आजमा रहे हैं. दूसरे चरण (Lok Sabha Election 2019 Phase 2) के मतदान के लिये 13 राज्यों की 97 सीटों पर मतदान होना था, लेकिन हाल ही में आयोग द्वारा त्रिपुरा की पूर्वी त्रिपुरा और तमिलनाडु की वेल्लोर सीट पर मतदान स्थगित किये जाने के कारण अब 11 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश की 95 सीटों पर मतदान होगा. लोकसभा की 543 सीटों के लिये सात चरणों में चुनाव होना है. पहले चरण में 11 अप्रैल को हुए चुनाव में 20 राज्यों की 91 सीटों पर मतदान हो चुका है. मतगणना 23 मई को होगी.
  • जलियांवाला बाग हत्‍याकांड : वह जगह, जहां अब भी मौजूद हैं निहत्थों पर बरसाई गई गोलियों के निशां, 10 खास बातें
    आज जालियांवाला बाग की 100वीं बरसी है. देश जालियांवाला बाग की 100वीं बरसी पर शहीदों को याद कर रहा है. साल 1919 में अमृतसर में हुए इस नरसंहार में हजारों लोग मारे गए थे लेकिन ब्रिटिश सरकार के आंकड़ें में सिर्फ 379 की हत्या दर्ज की गई है. जलियांवाला बाग हत्‍याकांड ब्रिटिश भारत के इतिहास का काला अध्‍याय है. आज से 99 साल पहले 13 अप्रैल, 1919 को अंग्रेज अफसर जनरल डायर ने अमृतसर के जलियांवाला बाग में मौजूद निहत्‍थी भीड़ पर अंधाधुंध गोलियां चलवा दी थीं. इस हत्‍याकांड में 1,000 से ज़्यादा लोग मारे गए थे, जबकि 1,500 से भी ज़्यादा घायल हुए थे. जिस दिन यह क्रूरतम घटना हुई, उस दिन बैसाखी थी. इसी हत्‍याकांड के बाद ब्रिटिश हुकूमत के अंत की शुरुआत हुई. इसी के बाद देश को ऊधम सिंह जैसा क्रांतिकारी मिला और भगत सिंह के दिलों में समेत कई युवाओं में देशभक्ति की लहर दौड़ गई. जानिए, जलियांवाला बाग हत्‍याकांड से जुड़ी 10 खास बातें...
  • लोकसभा चुनाव : बंगाल में सबसे ज्यादा मतदान, बिहार में सबसे कम, पहले चरण के मतदान की 10 बड़ी बातें
    लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिये बृहस्पतिवार को 20 राज्यों की 91 सीटों के लिये मतदान लगभग शांति पूर्ण रहा. हालांकि, कुछ राज्यों से छिटपुट हिंसा की खबरें सामने आईं. शाम पांच बजे तक के आंकड़ों के अनुसार सबसे कम बिहार में 50 प्रतिशत और पश्चिम बंगाल में 81 प्रतिशत मतदान हुआ. वहीं उत्तर प्रदेश के चुनाव आयुक्त उमेश सिन्हा ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि पहले चरण के चुनाव में मतदान का स्तर सामान्य रहा. सिन्हा ने कहा कि अंतिम आंकड़े आने तक यह स्तर पिछले चुनाव की तुलना में लगभग बराबर ही होगा. उन्होंने कहा कि सभी 20 राज्यों की मतदान वाली सीटों पर सामान्य रूप से शांतिपूर्ण मतदान रहा. कुछ इलाकों में हिंसा और बाधा पहुंचाने की शिकायतें जरूर मिली जिन्हें तत्काल दूर कर दिया गया. उन्होंने बताया कि पहले चरण में 91 सीटों पर कुल 1239 उम्मीदवार चुनाव मैदान में है. आंध्र प्रदेश की 25 लोकसभा और 175 विधानसभा सीटों पर शाम छह बजे तक 74 प्रतिशत मतदान हुआ और तेलंगाना की 17 सीटों पर 60 प्रतिशत मतदान हुआ. जबकि संयुक्त आंध्र प्रदेश में 2014 के चुनाव में 76.64 प्रतिशत मतदान हुआ था.
  • 1st Phase Lok Sabha Elections 2019 : लोकसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान और 10 बड़ी बातें
    17वीं लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिए मतदान जारी है. 545 सीटों में से 91 सीटों के लिए आज वोट डाले जाएंगे. इनमें 18 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेश शामिल हैं. आंध्र और तेलंगाना समेत 8 राज्यों में आज ही वोटिंग पूरी हो जाएगी. पहले चरण में क़रीब 14 करोड़ मतदाता 1279 उम्मीदवारों की क़िस्मत का फ़ैसला करेंगे. इस चरण में 1190 पुरुष और 89 महिला उम्मीदवार मैदान में हैं. नितिन गडकरी, किरेन रिजीजू, हंसराज अहीर, सत्यपाल सिंह, महेश शर्मा, वीके सिंह, चिराग पासवान, अजय टम्टा समेत कई दिग्गज उम्मीदवारों की क़िस्मत आज ईवीएम में क़ैद हो जाएगी. आंध्र, ओडिशा, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश में आज ही विधानसभा चुनाव के लिए भी वोटिंग है.. शांतिपूर्ण मतदान के लिए कड़े सुरक्षा इंतज़ाम किए गए हैं. यह पहला मौक़ा है जब सभी पोलिंग बूथ पर VVPAT का इस्तेमाल हो रहा है.. सात चरणों के मतदान के बाद 23 मई को नतीजे आएंगे.
  • चुनाव से पहले मोदी सरकार को झटका, सुप्रीम कोर्ट 'चोरी' किए गए दस्तावेजों की करेगा जांच: मामले की 10 बातें
    राफेल डील मामले में केंद्र की मोदी सरकार को सुप्रीम कोर्ट की ओर से बड़ा झटका लगा है. सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार की उन प्रारंभिक आपत्तियों को खारिज कर दिया, जिसमें सरकार ने याचिका के साथ लगाए दस्तावेजों पर विशेषाधिकार बताया था. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि राफेल मामले में रक्षा मंत्रालय से फोटोकॉपी किए गोपनीय दस्तावेजों का परीक्षण करेगा. केंद्र सरकार ने कहा था कि गोपनीय दस्तावेजों की फोटोकॉपी या चोरी की गई कॉपी पर कोर्ट भरोसा नहीं कर सकता. यह फैसला सुप्रीम कोर्ट के तीन जजों की बैंच ने सहमति से सुनाया है. बता दें, केंद्र सरकार की ओर से कहा गया था कि दस्तावेज याचिका के साथ दिए गए हैं, वो गलत तरीके से रक्षा मंत्रालय से लिए गए हैं, इन दस्तावेजों पर कोर्ट भरोसा नहीं कर सकता.
«1234567»

Advertisement