NDTV Khabar
होम | फैक्‍ट फाइल

फैक्‍ट फाइल

  • Karunanidhi Death: करुणानिधि को मरीना बीच पर दफनाने को लेकर क्यों है विवाद? 10 बड़ी बातें
    डीएमके प्रमुख और दक्षिण भारत के दिग्गज नेता एम करुणानिधि को मरीना बीच पर दफनाने को लेकर विवाद जारी है. डीएमके की याचिका पर मद्रास हाईकोर्ट में आधी रात को सुनवाई हुई. हालांकि कोर्ट ने मामले को सुबह 8 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया है. इस मामले में तमिलनाडु सरकार ने कोर्ट से जवाब देने के लिए अधिक समय की मांग की है. दरअसल, डीएमके ने करुणानिधि के निधन के बाद मरीना बीच पर उन्हें दफनाने के लिए जमीन की मांग की थी. तमिलनाडु सरकार ने मरीना बीच पर जगह देने से इनकार कर दिया था. सरकार ने करुणानिधि को दफनाने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री सी राजगोपालचारी और के कामराज के स्मारकों के समीप जगह देने की पेशकश की थी. डीएमके इस पर राजी नहीं हुई और इस मामले पर सियासी उठापटक शुरू हो गई. 
  • NDA के उपसभापति पद के उम्मीदवार हरिवंश पत्रकार और बैंकर भी रह चुके हैं, जानिये उनके बारे में 5 बातें...
    राज्यसभा के उपसभापति पद के लिए चुनाव 9 अगस्त को चुनाव होगा. सभापति वेंकैया नायडू ने शून्यकाल में इसकी घोषणा की. उन्होंने कहा कि इसके लिए बुधवार 8 अगस्त को 12 बजे तक नामांकन पत्र दाखिल किया जा सकेगा. एनडीए की तरफ से JDU सांसद हरिवंश नारायण सिंह (Harivansh Narayan Singh) उम्मीदवार होंगे. उपसभापति का पद जेडीयू को देने के पीछे विश्लेषक बिहार में जेडीयू और बीजेपी के बीच जारी गतिरोध को खत्म करने की दिशा में एक कदम के तौर पर देख रहे हैं. खबरों के मुताबिक यह नाम अमित शाह और नीतीश कुमार के बीच बातचीत के बाद ही तय हुआ है. 2019 के लोकसभा चुनाव को देखते हुए इसे बीजेपी द्वारा एनडीए के कुनबे को संगठित रखने की कवायद के रूप में भी देखा जा सकता है. हरिवंश को उम्मीदवार बनाकर BJP यह भी संदेश देना चाहती है कि उसके और JDU के बीच सब कुछ सही है. उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में 30 जून, 1956 को जन्मे हरिवंश को जयप्रकाश नारायण (जेपी) ने सबसे ज्यादा प्रभावित किया. हरिवंश 25 साल से ज्यादा समय तक प्रभात खबर अखबार के प्रधान संपादक रह चुके हैं.
  • दिल्ली मेट्रो: 4 बड़े बाजारों को जोड़ेगी पिंक लाइन, अब साउथ कैंपस-लाजपत नगर का सफर होगा आसान, 7 बातें
    दिल्ली विश्वविद्यालय के दक्षिणी परिसर (साउथ कैंपस) और लाजपत नगर के बीच दिल्ली मेट्रो की पिंक लाइन आज से शुरू हो गई, जिसे ‘कॉरिडर फॉर शॉपर्स’ की तर्ज पर बनाया गया है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और केंद्रीय आवास एवं शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने संयुक्त रूप से इसका उद्घाटन किया. डीएमआरसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘ मेट्रो भवन से रिमोट कंट्रोल का इस्तेमाल कर इसे औपचारिक तौर पर शुरू किया गया. यात्रियों के लिए इसकी सेवाएं शुरू कर दी गई हैं.
  • रेलवे छात्रों को किराये में देता है जमकर छूट, क्या आपको पता है इस सुविधा के बारे में, 5 खास बातें
    प्रतियोगी परीक्षाओं के दौरान अक्सर ट्रेनों में छात्रों की वजह से अच्छी खासी भीड़ हो जाती है. जिसकी वजह से आम यात्रियों और सुरक्षा में तैनात जवानों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. तमाम छात्र बिना टिकट ही यात्रा करते हैं. लेकिन बहुत ही कम लोगों को पता होगा कि रेलवे टिकटों के मामले में छात्रों को कई तरह की छूट देता है. छात्रों की ये सुविधा स्लीपर और 2एस सीट पर मिलता है. इसकी सुविधा ऑनलाइन बुकिंग टिकट के जरिये नहीं उठाई जा सकती है.
  • क्‍या है नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजंस (NRC), सिर्फ असम में ही क्‍यों है लागू, 6 बातें
    असम में सोमवार को जारी राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के मसौदे से कुल 3.29 करोड़ आवेदकों में से 40 लाख से ज्यादा लोगों को बाहर किए जाने से उनके भविष्य को लेकर चिंता पैदा हो गई है और साथ ही एक राष्ट्रव्यापी राजनीतिक विवाद पैदा हो गया है. नागरिकों की मसौदा सूची में 2.89 करोड़ आवेदकों को मंजूरी दी गई है. यह मसौदा असम में रह रहे बांग्लादेशी आव्रजकों को अलग करने का लंबे समय से चल रहे अभियान का हिस्सा है. 10 लाख आवेदकों को नागरिकता देने से इंकार किए जाने के बाद पैदा हुए विवाद पर केंद्र सरकार ने लोगों से भयभीत न होने और विपक्ष से इस मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं करने का आग्रह किया है. मसौदे को जारी करने वाले भारत के रजिस्ट्रार जनरल शैलेश ने कहा कि उन आवेदकों को प्र्याप्त अवसर दिए जाएंगे, जो दावे और आपत्ति करना चाहते हैं. वे 30 अगस्त से 28 सितंबर तक अंतिम सूची तैयार किए जाने से पहले अपने दावे और आपित्त दाखिल कर सकते हैं. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने असम और मोदी सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि जिन लोगों के पास आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र और अन्य दस्तावेज थे, उनको भी छोड़ दिया गया, क्योंकि अधिकारी उन कागजात से संतुष्ट नहीं थे.
  • असम में रहने वाले 40 लाख लोग अवैध नागरिक, NRC में 2.89 करोड़ वैध नागरिक गिने गए
    देश के पूर्वोत्तर राज्य असम में नागरिकता की लिस्ट जारी कर दी गई है, जिसके मुताबिक राज्य में बसे हुए 40 लाख लोग वैध नागरिक नहीं हैं. लिस्ट के मुताबिक, राज्य में रहने वाले 2.89 करोड़ लोग वैध नागरिक हैं. नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिज़नशिप, यानी NRC में उन सभी भारतीय नागरिकों के नाम, पते और फोटोग्राफ हैं, जो 25 मार्च, 1971 से पहले से असम में रह रहे हैं. राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर में यह आश्वासन भी दिया गया है कि जो लोग वैध नागरिक नहीं पाए गए हैं, उन्हें निर्वासित नहीं किया जाएगा. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बहरहाल कानून एवं व्यवस्था को बनाए रखने के लिए समूचे राज्य में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है.
  • सियासत की बिसात पर 'अजेय' करुणानिधि ऐसे आए राजनीति में, पढ़ें उनके जीवन से जुड़ी 10 खास बातें
    तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और डीएमके प्रमुख एम. करुणानिधि को तबियत खराब होने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया है. रविवार को कुछ समय के लिए उनकी हालत बिगड़ गई थी, लेकिन इलाज के बाद उनकी स्थिति में सुधार हो रहा है. उनकी सेहत पर विशेषज्ञ डॉक्टरों का पैनल लगातार नजर बनाए हुए है. इस बीच भारी संख्या मे करुणानिधि के समर्थक और पार्टी के कार्यकर्ता कावेरी अस्पताल के बाहर इकट्ठा हो गए हैं. एम. करुणानिधि यानी कि मुत्तुवेल करुणानिधि की लोकप्रियता यूं ही नहीं है, जिसके लिए प्रशंसक तीन दिन से भूखे-प्यासे अस्पताल के बाहर डटे हैं. मात्र 14 साल की उम्र में राजनीति के मैदान में उतरे करुणानिधि को आज तक सियासत की पिच पर कोई भी हरा नहीं पाया है. द्रविड़ आंदोलन से अपनी पहचान बनाने वाले करुणानिधि ने तमिल फिल्म इंडस्ट्री में खास मुकाम हासिल किया है. उनकी फिल्मों और नाटकों पर ज्यों-ज्यों प्रतिबंध लगे उनकी लोकप्रियता और बढ़ती गई. सिने प्रेमियों ने उन्हें दिल में जगह दी, तो मतदाताओं ने सत्ता की कुर्सी पर बैठाया. करुणानिधि के जीवन से जुड़ी 10 खास बातें :
  • मन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कवि गोपाल दास नीरज को दी श्रद्धांजलि, 15 बड़ी बातें
    पीएम मोदी ने रेडियो पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रम में मन की बात में कवि गोपाल दास नीरज को श्रद्धांजलि दी है. पीएम मोदी ने 46वीं बार मन की बात कार्यक्रम में देश को संबोधित किया है. उन्होंने कहा कि पिछले दिनों हमारे देश के प्रिय कवि नीरज जी हमें छोड़कर चले गए. नीरज जी की एक विशेषता रही थी, आशा, भरोसा, दृढसंकल्प, स्वयं पर विश्वास हर बात प्रेरणा दे सकती है. नीरज जी को आदरपूर्वक श्रद्धांजलि देता हूं. इसके बाद पीएम ने कहा कि जुलाई और अगस्त का महीना किसानों और सभी नौजवानों के लिए बहुत महत्वपूर्ण होते हैं.
  • बाढ़ और बारिश से अब तक 537 की मौत, दिल्ली से लेकर पहाड़ी राज्यों तक अलर्ट, 15 बड़ी बातें
    इस बार मानसून आने के बाद से जारी बारिश से 6 राज्यों में आई बाढ़ और वर्षा जनित घटनाओं में अब तक कम से कम 537 लोगों की मौत हो चुकी है.  वहीं हरियाणा ने हथिनीकुंड बैराज से जो 5 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा है जिससे दिल्ली में बाढ़ का खतरा बढ़ता जा रहा है. इस मुद्दे पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इमरजेंसी बैठक बुलाई. यमुना नदी ख़तरे के निशान से 47 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है. दिल्ली सरकार ने इसके लिए एक इमरजेंसी नंबर जारी किया है. किसी भी तरह की परेशानी के लिए 1077 पर कॉल किया जा सकता है.
  • दिल्ली-NCR में रात से लगातार हो रही है बारिश से जगह-जगह पानी भरा, गाजियाबाद में बंद किये गये स्कूल, 8 बड़ी बातें
    पहाड़ों में हो रही भारी बारिश के चलते हथनीकुंड बैराज से 1.31 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने के बाद दिल्ली में यमुना नदी का जलस्तर चेतावनी के स्तर को छू सकता है. एक अधिकारी ने बताया कि दिल्ली सरकार के बाढ़ एवं सिंचाई विभाग को अंदेशा है कि छोड़ा गया पानी कल तक राष्ट्रीय राजधानी पहुंच जाएगा जिसे लेकर एक अलर्ट जारी किया गया है. अधिकारी ने बताया कि यमुना में आज जलस्तर 203.65 था जो इस मौसम में सामान्य माना जाता है. अधिकारी ने बताया, “शुक्रवार को जलस्तर के 204 पर पहुंचने का अंदेशा है जो चेतावनी का स्तर है.
  • पाकिस्‍तान चुनाव: मशहूर क्रिकेटर से नेता बने इमरान खान को विरोधी कहते हैं 'तालिबान खान', 8 बातें
    पाकिस्तान आम चुनाव में पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ 114 सीटों पर आगे चल रही है जबकि उसकी मुख्य प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) 67 सीटों पर बढत बनाए हुए है. रूझानों की मानें तो किसी को सरकार बनाने के लिए 172 का जादुई आंकड़ा नहीं मिलेगा और त्रिशंकु संसद की स्थिति बनेगी. प्रधानमंत्री पद तक के लिए इमरान खान का सफर उतार-चढ़ाव वाला रहा. इमरान अपने शुरुआती दिनों में एक शानदार क्रिकेटर से जानी मानी हस्ती और अब एक ऐसे शख्स हैं जो मज़हबी रूढिवादी है, करप्शन के खिलाफ लड़ रहा है.
  • पाकिस्‍तान में अबकी बार इमरान सरकार? हाफिज सईद को करारा झटका, 10 बातें
    पाकिस्तान का नया प्रधानमंत्री कौन होगा? इस सवाल का जवाब जल्द ही मिल जाएगा. मतगणना के तुरंत बाद से ही वोटों की गिनती चल रही है. रुझानों में इमरान ख़ान की पार्टी तहरीक़-ए-इंसाफ़ आगे चल रही है. वहीं नवाज़ शरीफ़ की पार्टी PML-N दूसरे नंबर पर और बिलावल भुट्टो की पार्टी पीपीपी तीसरे नंबर पर चल रही है. इमरान ख़ान की पार्टी को बढ़त पर पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ के भाई शहबाज़ शरीफ़ ने चुनाव में धांधली का आरोप लगाया है. नतीजों में देरी को लेकर शहबाज़ शरीफ़ ने सेना पर धांधली के आरोप लगाए हैं. उनका कहना है कि हमारे पोलिंग एजेंट को बाहर कर दिया गया है. वहीं चुनाव आयोग ने इस तरह के आरोपों को सिरे से ख़ारिज किया है. चुनाव आयोग का कहना है कि तकनीकि खामियों से नतीजों में देरी हुई है. पाकिस्तान चुनाव आयोग इमरान ख़ान और शहबाज़ शरीफ़ पर कार्रवाई करने की तैयारी में है. चुनाव आयोग ने ऑन कैमरा मतदान करने और उसके बाद मीडिया को संबोधित करने के मामले में संज्ञान लिया है. चुनाव आयोग ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन बताया है.
  • शाहजहांपुर में PM मोदी बोले- मेरा गुनाह यही है कि मैं भ्रष्टाचार और परिवारवाद के खिलाफ खड़ा हूं, 15 खास बातें
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज उत्तर प्रदेश के शहाजहांपुर में किसान कल्याण की रैली को संबोधित किया है. उन्होंने अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनवाते हुये कहा कि 70 साल में अगर 4 करोड़ लोगों तक बिजली नहीं पहुंची है तो ये जिम्मेदारी किसकी है. पीएम ने कहा किसानों के लिये शुरू की गई योजनाओं के बारे में बताते हुये कहा कि अब किसानों को यूरिया के लिये लाठी नहीं खानी पड़ती है. नीम कोटिंग के बाद से यूरिया का काम खेती के कामों में हो रहा है. फैले इसका इस्तेमाल अवैध रूप से फैक्टरियों में किया जाता था.
  • पीएम मोदी ने राहुल गांधी से कहा- हम आपकी आंखों में आंखें कैसे डाल सकते हैं, 20 बड़ी बातें
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को लोकसभा में विपक्षी दलों पर जोरदार हमला बोला. उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस जनता से कट गई है और जो दल कांग्रेस के साथ हैं वे भी डूबने वाले हैं. मोदी लोकसभा में सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के दौरान परिचर्चा में हिस्सा लेते हुए विपक्ष के सवालों का जवाब दे रहे थे. प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र में 30 साल के बाद पूर्ण बहुमत की सरकार बनी है, लेकिन विपक्ष में शामिल दल सरकार के खिलाफ बहुमत जुटाने में विफल होने को लेकर आश्वस्त होने के बावजूद सरकार गिराने की कोशिश में जुटे हैं. मोदी ने शायरी के जरिए विपक्ष पर निशाना साधा और कहा- "मांझी ना रहबर ना कह में हवाएं .. है कश्ती भर जर्जर ये कैसा है सफर." उन्होंने कहा, "मेरे बारे में कहा गया कि प्रधानमंत्री को संसद में बोलने दिया जाए तो वह 15 मिनट भी नहीं बोल पाएंगे लेकिन मैं खड़ा भी हूं और चार साल के अपने काम के बल पर अड़ा भी हूं." पीएम मोदी ने 2024 में विपक्ष को अविश्वास प्रस्ताव लाने की बात कहकर यह संदेश देने का प्रयास भी किया कि 2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर राजग को कोई चिंता नहीं है. लगभग डेढ घंटे के अपने भाषण में प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष द्वारा लगाये गए तमाम आरोपों का बिंदुवार जवाब दिया.
  • अविश्‍वास प्रस्‍ताव: लोकसभा में राहुल गांधी ने PM मोदी पर राफेल, JIO, MSP को लेकर किए ये 15 वार
    कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा में अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर चर्चा के दौरान पीएम मोदी पर कई वॉर किए. उन्‍होंने कहा कि मैं दिल से कहता हूं मैं प्रधानमंत्री, बीजेपी और आरएसएस का दिल से आभारी हूं कि इन्होंने मुझे कांग्रेस का, हिंदुस्तानी होने का, हिंदू होने का मतलब सिखाया और मैं इसके लिये अंदर से धन्यवाद करना चाहता हूं. आपके अंदर मेरे लिये नफरत है और इसे मैं प्यार से आपके अंदर से निकालूंगा. हम और पूरा विपक्ष मिलकर प्रधानमंत्री जी को चुनाव में हराने जा रहे हैं. राहुल गांधी ने भाषण खत्‍म करने के बाद पीएम मोदी को गले भी लगाया.
  • बीजेपी सासंद राकेश सिंह का हमला: कांग्रेस ने 'स्कैम की राजनीति' की, हमने ने 'स्कीम' की, 12 बातें
    संसद के मॉनसून सत्र के तीसरे दिन मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर सरकार और विपक्ष में बहस जारी है. लोकसभा में चर्चा होने के बाद शाम में वोटिंग होगी. मगर उससे पहले एक दूसरे के खिलाफ सदन में जुबानी जंग जारी है. अविश्वास प्रस्ताव पर मोदी सरकार की ओरर से बोलते हुए बीजेपी सांसद राकेश सिंह ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने सिर्फ स्कैम्स की राजनीति की और सिर्फ परिवार की राजनीति की, मगर मोदी सरकार ने स्कीम्स की राजनीति की है. उन्होंने कई मुद्दों पर कांग्रेस पर बारी-बारी से हमला किया. तो चलिए जानते हैं राकेश सिन्हा के सदन में दिये गये भाषण के महत्वपूर्ण बातों को....
  • मोदी सरकार की पहली 'अग्नि परीक्षा': अविश्वास प्रस्ताव पर बहस के लिए BJP को 3.30 घंटे, कांग्रेस को 38 मिनट का समय, 10 बातें
    2019 लोकसभा चुनाव से पहले आज मोदी सरकार की अग्निपरीक्षा है. सरकार के ख़िलाफ़ विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव पर आज लोकसभा में बहस होगी. सुबह 11 बजे से शाम 6 बजे तक यानी सात घंटे अविश्वास प्रस्ताव पर बहस चलेगी. बहस का जवाब प्रधानमंत्री देंगे. इस दौरान लोकसभा में दूसरा कोई और काम नहीं होगा. 545 सदस्यों की लोक सभा में अभी दस सीटें खाली हैं. इसलिए बहुमत का आंकड़ा 268 का है.
  • मॉनसून सत्र: लोकसभा में भगोड़ा आर्थिक अपराध बिल पर होगी चर्चा, राज्‍यसभा में आज RTI संशोधन बिल होगा पेश
    मोदी सरकार का पहला इम्तिहान संसद का मॉनसून सत्र शुरू हो गया है. मोदी सरकार मॉनसून सत्र के दौरान होने वाली 18 सिटिंग में ज़्यादा से ज़्यादा विधेयकों की पास कराना चाहती है. एजेंडे में 46 बिल पेश करने की तैयारी थी, लेकिन सत्र के पहले ही दिन मोदी सरकार के ख़िलाफ़ पहला अविश्वास प्रस्ताव लाया गया जिसे स्पीकर सुमित्रा महाजन ने स्वीकार कर लिया. सरकार के 4 साल के कार्यकाल में ये पहला अविश्वास प्रस्ताव है. 2019 से पहले विपक्ष सरकार को घेरने की कोशिश कर रहा है, हालांकि नंबर गेम के मामले में सरकार को कोई ख़तरा नहीं. ऐसे में ये अविश्वास प्रस्ताव सरकार के ख़िलाफ़ महज़ सांकेतिक विरोध भर है.
  • संसद का मॉनसून सत्र भी हंगामेदार रहने के आसार, विपक्ष की मॉब लिंचिंग समेत कई दूसरे मुद्दों पर सरकार को घेरने की तैयारी, 10 बातें
    आज से संसद का मॉनसून सत्र शुरू हो रहा है जो 10 अगस्त तक चलनेवाले इस सत्र के काफ़ी हंगामेदार रहने के आसार हैं. मॉब लिंचिंग समेत कई दूसरे मुद्दों पर विपक्ष सरकार को घेरने की तैयारी में है. हालांकि मंगलवार को सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी ने सभी दलों से संसद की सुचारू कार्रवाई की अपील की है. सरकार ने दावा किया कि विपक्षी दलों ने संसद की कार्यवाही सुचारू रूप से चलाने में सहयोग का आश्वासन दिया है. बैठक के बाद संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने संवाददाताओं से कहा, ‘प्रधानमंत्री ने संसद के सुचारू और सार्थक सत्र के लिये सभी राजनीतिक दलों का सहयोग मांगा है. लोग उम्मीद करते हैं कि संसद में कामकाज हो और हम सभी को यह सुनिश्चित करना चाहिए.’ बैठक के दौरान विपक्षी दलों ने उच्च शिक्षण संस्थानों में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति को आरक्षण नहीं प्रदान करने के विषय को उठाया. समाजवादी पार्टी के नेता रामगोपाल यादव ने कहा, ‘जब तक सरकार उच्च शिक्षा में अनुसूचित जाति, जनजाति के लिए आरक्षण लागू करने का सदन में आश्वासन नहीं देती है तब तक हम सदन नहीं चलने देंगे.’ आप नेता संजय सिंह ने दिल्ली की आप सरकार के साथ कथित भेदभाव के विषय को उठाया.
  • मॉनसून सत्र: राज्‍यसभा उपसभापति के चुनाव को लेकर कांग्रेस का ये है 'प्‍लान', सरकार का इन विधेयकों को पारित कराने पर होगा जोर, 10 बातें
    संसद का मॉनसून सत्रबुधवार से शुरू हो रहा है. जहां सरकार सत्र को सुचारू रूप से चलाने और सत्र में हंगामे की आशंकाओं को देखते हुए सरकार ने विपक्षी दलों से तीन तलाक विधेयक, पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा प्रदान करने संबंधी विधेयक, बलात्कार के दोषियों को सख्त दंड के प्रावधान वाले विधेयक समेत कई महत्वपूर्ण विधेयकों को पारित कराने में सहयोग मांगा है. वहीं कांग्रेस ने मानसून सत्र की रणनीति तैयार करने के लिए सोमवार (आज) विपक्षी दलों की बैठक बुलाई है. इस बैठक में वे बुधवार से शुरू हो रहे मानसून सत्र के लिए अपनी रणनीति पर विचार-विमर्श करेंगे. वहीं टीडीपी ने 18 जुलाई से शुरू हो रहे मॉनसून सत्र में भी मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का फैसला किया है. बजट सत्र में ये प्रस्ताव स्वीकार नहीं किया गया था. इसको लेकर आज टीडीपी के सांसद डीएमके, एआईडीएमके और जेडीएस के नेताओं से मुलाकात करेंगे.
«12345678»

Advertisement