NDTV Khabar
होम | फैक्‍ट फाइल

फैक्‍ट फाइल

  • PM मोदी बोले- कोई ये सोच सकता था कि भारत में 4 सालों में करीब 9 करोड़ शौचालयों का निर्माण हो जाएगा, 10 बड़ी बातें
    स्वच्छता अभियान में लोगों से श्रमदान की अपील करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को कहा कि भविष्य में इस जन आंदोलन के बारे में जब भी लिखा या पढ़ा जाएगा तो सभी स्वच्छाग्रहियों का नाम सुनहरे अक्षरों में आएगा. ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान की शुरूआत करने के बाद नरेन्द्र मोदी एप एवं वीडियो लिंक के जरिये स्वच्छाग्रहियों से संवाद करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘हमारा उत्साह उफान पर है, हमारा विश्वास चरम पर है और हमारा संकल्प सिद्धि के लिए है। आप सभी श्रमदान के लिए तैयार और तत्पर हैं. प्रधानमंत्री ने ब्रह्मकुमारी संस्थान का स्वच्छाग्रह से जुड़ने के लिए आभार प्रकट किया. उन्होंने स्वच्छता अभियान से जुड़ने के लिये अभिनेता अमिताभ बच्चन, उद्योगपित रतन टाटा, श्री श्री रविशंकर, श्री सदगुरू समेत आम लोगों के प्रति आभार जताया. इस मौके पर अमिताभ बच्चन ने कहा कि चार साल पहले पीएम मोदी ने देश में स्वच्छ भारत मिशन की शुरुआत की थी. उसी समय मैंने भी फैसला किया कि मैं भी इसमें हिस्सा लूंगा. मैं कई अभियान में लेता रहा हूं. इसके साथ ही एनडीटीवी के अभियान "बनेगा स्वच्छ इंडिया' के तहत हमने 12 घंटे 'क्लीनथॉन' की शुरुआत की जो हर साल चलता है. मैं स्वच्छ भारत के लिये हमेशा काम करता रहूंगा.
  • एशिया कप : इंग्लैंड से बुरी तरह पस्त टीम इंडिया कैसे करेगी मजबूत पाकिस्तान का मुकाबला, 'छुपारुस्तम' भी सरदर्द, 18 बड़ी बातें
    टीम इंडिया के लिये रन मशीन बन चुके विराट कोहली के बगैर इस बार भारतीय क्रिकेट टीम एशिया कप में पाकिस्तान का मुकाबला करेगी. दोनों टीमों के बीच दो मैच तो तय हैं लेकिन अगर फाइनल पहुंचती हैं तो तीन मुकाबले देखने को मिल सकते हैं. टूर्नामेंट की शुरूआत शनिवार को बांग्लादेश और श्रीलंका के बीच मैच से होगी. भारत और पाकिस्तान के बीच ग्रुप लीग में एक मैच होगा जबकि दूसरा सुपर चार चरण में होगा. लेकिन आयोजक, प्रसारक और समर्थन 28 सितंबर को होने वाले फाइनल में भी दोनों टीमों के पहुंचने की उम्मीद करेंगे. भारत के पास यह देखने का मौका होगा कि टीम कोहली की अनुपस्थिति में दबाव भरे हालात में कैसे खेलेगी. टीम अपना अभियान 18 सितंबर को हांगकांग के खिलाफ शुरू करेगी जिसके बाद उसे अगले दिन पाकिस्तान से भिड़ना है.
  • PM मोदी बोले, कांग्रेस में एक परिवार के लाभ के लिए सर्वश्रेष्ठ लोगों की बलि दी जा रही है, विपक्ष पर किए ये 10 वार
    'नमो ऐप' के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को बूथ कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत की. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि अजेय भारत, अटल भाजपा, यह हम सब की प्रेरणा का बिंदु है. हमारे कार्यकताओं की मेहनत, सामर्थ्य, पुरुषार्थ और संकल्प के कारण ही आज हमें इस मुकाम पर पहुंचे है. पीएम मोदी ने बूथ कार्यकर्ताओं से कहा कि 'जड़ जितनी मजबूत होती है पेड उतना ही फलदाई और ताकतवर होता है'. मेरे लिए ये सौभाग्य का विषय है कि आज भारतीय जनता पार्टी की जड़ को सींचकर उसे एक घने वृक्ष रुपी पार्टी बनाने वाले ऐसे अनेक कार्यकताओं से बात करने का मौका मिला है. उन्‍होंने कहा कि देश के नए बन रहे आधुनिक एक्सप्रेसवे, साफ-स्वच्छ रेलवे स्टेशनों और अनेक शहरों में बन रही मेट्रो में कोई जाति या पंथ पूछकर एंट्री नहीं होगी. हमारे कार्यकताओं की मेहनत, सामर्थ्य, पुरुषार्थ और संकल्प के कारण ही आज हमें इस मुकाम पर पहुंचे है. पीएम मोदी ने क्‍या कहा...
  • 'अर्बन नक्सल' पर अमित शाह: देश को टुकड़ों में बांटने की बात करने वाले सलाखों के पीछे होंगे, 10 बातें
    राजस्थान के विधानसभा चुनावों को 2019 के लोकसभा चुनाव का ट्रेलर बताते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी कार्यकर्ताओं से इसके लिए पूरी लगन के साथ जुट जाने की अपील की. साथ ही, उन्होंने राजस्थान में भाजपा की सरकार को अंगद का पांव बताते हुए कहा कि राज्य में इसे कोई उखाड़ नहीं सकता. जयपुर की एक दिन की यात्रा पर आए शाह ने बिड़ला सभागार में स्थानीय निकायों के जनप्रतिनिधियों के सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि ‘ट्रेलर भी अच्छी बनानी है और पिक्चर भी अच्छी बनानी है.’ शाह ने 'शहरी माओवादियों' को दी गयी आजादी पर सवाल उठाया. शाह ने कहा कि जेएनयू में राष्ट्रविरोधी नारे लगाए जाने को अभिव्यक्ति की आजादी नहीं कहा जा सकता. उन्होंने कहा कि देश को टुकड़ों में बांटने की बात करने वालों को सलाखों के पीछे डाला जाएगा.
  • चुनावी तोहफा : पीएम मोदी ने मानदेय बढ़ाने सहित आंगनवाड़ी-आशा कार्यकर्ताओं के लिये किये हैं बड़े ऐलान, 6 खास बातें
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज नमो ऐप के जरिये आंगवाड़ी और आशा कार्यकर्ताओं को संबोधित किया है. इसके साथ ही उन्होंने लोकसभा और चार राज्यों में विधानसभा चुनाव को देखते हुये एक बड़ी सौगात दी है. इस क्षेत्र से जुड़ी महिला कार्यकर्ताओं को बड़ी राहत देते हुये उनके मानदेय बढ़ाने का फैसला कर दिया है जिसकी मांग वह काफी दिनों से कर रही थीं. अपनी मांगों को लेकर ये कार्यकर्ता दिल्ली में प्रदर्शन और संसद का घेराव भी कर चुकी हैं. विभिन्न दलों के सदस्य आशा कर्मियों एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के मानदेय को बढ़ाने की समय समय पर मांग करते रहे हैं. नमो ऐप के जरिये आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुये पीएम मोदी ने उनके काम की जमकर तारीफ भी की है. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ एनीमिया मुक्त भारत के इस संकल्प को आप सभी पूरी ताकत से पूरा करेंगे. एनीमिया से मुक्ति का मतलब लाखों गर्भवती महिलाओं और बच्चों को जीवन दान है.’’ आपको बता दें कि आंकड़ों के मुताबिक देश में इस समय करीब 14 लाख आंगनवाड़ी कार्यकर्ता हैं. इसे पीएम मोदी का एक बड़ा चुनावी तोहफा माना जा रहा है.
  • पीएम मोदी का चुनावी तोहफा, 'आशा' और 'आंगनवाड़ी' कार्यकर्ताओं का बढ़ा मानदेय, 15 बड़ी बातें
    केंद्र सरकार की तरफ से आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को मिलने वाले मनदेय को बढ़ाने का फैसला किया गया है. जिन्हें अभी 3000 रुपये का मानदेय मिलता था, उन्हें अब 4500 रुपये मिलेगा. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आशा, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं से 'नरेंद्र मोदी ऐप' के जरिये संवाद में यह जानकारी दी. प्रधानमंत्री ने बताया कि जिन आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय 2250 रुपये था, उन्हें अब 3500 रुपये मिलेगा. आंगनवाड़ी सहायिकाओं को 1500 रुपये के स्थान पर 2200 रुपये मिलेंगे । यह बढ़ा हुआ मानदेय अलगे माह से लागू होगा. आशा एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को ‘अपने लाखों हाथ’ के रूप में रेखांकित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि सरकार का ध्यान पोषण और गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराने पर है, तथा टीकाकरण की प्रक्रिया तेज गति से चल रही है जिससे महिलाओं और बच्चों को खासी मदद मिलेगी. आपको बता दें कि करीब 14 लाख (2013 के आंकड़ों गणना के मुताबिक) आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को सीधा लाभ मिलेगा.
  • 'भारत बंद' में खुद मिजोरम प्रदेश कांग्रेस नहीं हुई शामिल, अन्य राज्यों में कितना रहा असर, 11 बड़ी बातें
    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में एकजुट विपक्ष ने पेट्रोल, डीजल की बढ़ी कीमतों के विरोध में आहूत 'भारत बंद' के समर्थन में पैदल मार्च किया. राजघाट और जाकिर हुसैन कॉलेज के बीच 1.8 किलोमीटर लंबा मार्च निकाला गया. जनता दल सेकुलर (जेडी-एस), तृणमूल कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी), राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, (एनसीपी), लोकतांत्रिक जनता दल (एलजेडी), राष्ट्रीय लोक दल, ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट, रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी और आम आदमी पार्टी (आप) उन विपक्षी पाटिर्यों में रहे, जिन्होंने विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया. राजघाट पर राहुल ने महत्मा गांधी की समाधि पर श्रद्धांजलि भी अर्पित की. मार्च समाप्त होने के बाद सभी विपक्षी नेता रामलीला मैदान के पास एक इंडियन ऑयल पेट्रोल पंप के पास एकत्र हो गए, जहां संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (सप्रंग) की अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह मौजूद थे.
  • भारत बंद पर राहुल गांधी का PM मोदी पर वार, कहा- पता नहीं कौन सी दुनिया में हैं भाषण देते रहते हैं, देश उनको देखकर तंग आ गया है
    पेट्रोल-डीजल के दाम में लगातार हो रही बढ़ोतरी पर नरेंद्र मोदी सरकार को घेरने के लिए कांग्रेस की तरफ से बुलाये गए 'भारत बंद' के तहत सोमवार को हुए विरोध प्रदर्शन में कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी की केन्‍द्र सरकार पर कई हमले किए. उन्‍होंने पीएम मोदी की चुप्‍पी पर भी सवाल उठाए और कहा कि पीएम मोदी कुछ नहीं कहते. जो युवा, किसान और महिलाएं सुनना चाहती हैं उस पर कुछ नहीं कहेंगे. वहीं पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार पर वादों को पूरा करने में विफल रहने का आरोप लगाते हुए सभी विपक्षी दलों का 'देश की एकता, अखंडता और लोकतंत्र को बचाने के लिए एकजुट होने का आह्वान किया.'
  • पीएम मोदी ने कहा- लोकसभा चुनाव में BJP के सामने नहीं है कोई चुनौती, अमित शाह बोले- 50 साल तक कोई नहीं हरा सकता, 10 बड़ी बातें
    भाजपा ने रविवार को अगले लोकसभा चुनाव को दिवास्वप्न देख रहे विपक्ष और उसके गठबंधन की लड़ाई के रूप में पेश करते हुए जोर दिया कि एनडीए गठबंधन के नेता नरेन्द्र मोदी की स्वीकार्यता 70 प्रतिशत से अधिक है और सरकार 2022 तक न्यू इंडिया के निर्माण को कृतसंकल्प है. ‘‘आओ मिलकर कमल खिलायें’’ का संकल्प लेते हुए भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारणी की आज खत्म हुई. बैठक में इस बात पर जोर दिया गया कि साल 2019 के लोकसभा चुनाव में जीत के लिये पार्टी के पास ‘‘नेता, नीति और रणनीति’’ है जबकि हताश विपक्ष नकारात्मक राजनीति में लगा हुआ है. प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रीय कार्यकारणी में अपने भाषण में 'अजेय भारत - अटल भाजपा' का नारा दिया. ऐसा लगता है कि बीजेपी ने आज अपने नारे में परिवर्तन किया है क्योंकि कल 'अजेय भाजपा' का नारा सामने आाया था.
  • BJP की बैठक में बोले अमित शाह- अगले 7 महीने सिर्फ़ दो चीज़ें याद रखें 'भारत माता' और 'कमल का फूल', 10 बड़ी बातें
    बीजेपी ने 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए कमर कस ली है. अमित शाह की अध्यक्षता में ही बीजेपी अगला लोकसभा चुनाव लड़ा जाएगा. खबरों के मुताबिक पार्टी संगठन का चुनाव एक साल के लिए टाल दिया जाएगा क्योंकि अमित शाह का कार्यकाल बतौर बीजेपी अध्यक्ष जनवरी 2019 में खत्म हो रहा है. ऐसे में आम चुनाव के मद्देनज़र संगठन चुनाव को टाला जाएगा. दिल्ली में आज से शुरू हुई बीजेपी की दो दिनों की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में अमित शाह ने कहा है कि SC-ST क़ानून पर भ्रम फैलाया जा रहा है और बीजेपी इसका डटकर मुक़ाबला करेगी. इसके साथ ही शाह ने कहा है अगले सात महीने सिर्फ़ दो चीज़ें याद रखें भारत माता और कमल का फूल. अमित शाह ने कहा ओडिशा और बंगाल में सरकार बनाने का संकल्प लें.
  • Section 377 पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा, जबरन बनाए गए संबंध, बच्चों और पशुओं के साथ यौनाचार अब भी अपराध, 10 बातें
    सुप्रीम कोर्ट की पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने गुरूवार को एकमत से 158 साल पुरानी आईपीसी की धारा 377 (Section 377) के उस हिस्से को निरस्त कर दिया जिसके तहत परस्पर सहमति से अप्राकृतिक यौन संबंध अपराध था. प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली संविधान पीठ ने अप्राकृतिक यौन संबंधों को अपराध के दायरे में रखने वाली धारा 377 (Section 377) के हिस्से को तर्कहीन, सरासर मनमाना और बचाव नहीं किये जाने वाला करार दिया. संविधान पीठ के अन्य सदस्यों में न्यायमूर्ति आर एफ नरिमन, न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर, न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड़ और न्यायमूर्ति इन्दु मल्होत्रा शामिल हैं. संविधान पीठ ने धारा 377 (Section 377) को आंशिक रूप से निरस्त करते हुये इसे संविधान में प्रदत्त समता के अधिकार का उल्लंघन करने वाला करार दिया. पीठ ने चार अलग अलग परंतु परस्पर सहमति के फैसले सुनाये.
  • समलैंगिकता अपराध है या नहीं? सुप्रीम कोर्ट में धारा 377 पर सबसे बड़ा फैसला थोड़ी देर में, 10 अहम बातें
    समलैंगिकता को अवैध बताने वाली IPC की धारा 377 की वैधता पर सुप्रीम कोर्ट आज फैसला सुनाएगा. पांच जजों की संविधान पीठ यह तय करेगी कि सहमति से दो व्यस्कों द्वारा बनाए गए यौन संबंध अपराध के दायरे में आएंगे या नहीं. संविधान पीठ में मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा, जस्टिस रोहिंटन नरीमन, जस्टिस एएम खानविलकर, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस इंदु मल्होत्रा शामिल हैं. शुरुआत में संविधान पीठ ने कहा था कि वो जांच करेंगे कि क्या जीने के मौलिक अधिकार में 'यौन आजादी का अधिकार' शामिल है, विशेष रूप से 9-न्यायाधीश बेंच के फैसले के बाद कि 'निजता का अधिकार' एक मौलिक अधिकार है.
  • बीते 3 साल में कोलकाता में दूसरा पुल हादसा, 10 बातें... 
    दक्षिणी कोलकाता के माजेरहाट (Majerhat Bridge collapses) में मंगलवार शाम एक पुल गिर गया (Bridge collapses in Kolkata). हादसे में 1 की मौत हो गई वहीं, 19 लोग घायल हो गए, जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है. बता दें कि बीते 3 साल में कोलकाता में यह दूसरा फ्लाइओवर हादसा है. इससे पहले 2016 में भी उत्तरी कोलकाता के भीड़-भाड़ वाले बड़ा बाजार इलाके में निर्माणाधीन विवेकानंद पुल गिर गया था. हादसे में 26 लोगों की मौत हो गई थी और 90 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे. इस बीच बीजेपी ने पुल हादसे के लिए राज्य सरकार और ममता बनर्जी को जिम्मेदार ठहराया है.
  • सुप्रीम कोर्ट में कैसे होती है चीफ जस्टिस की नियुक्ति, कौन होता है योग्य, जानें सब कुछ
    प्रधान न्‍यायाधीश दीपक मिश्रा ने जस्टिस रंजन गोगोई का नाम अगले CJI के लिए केंद्र सरकार को भेजा है. जस्टिस गोगोई का देश का अगला चीफ जस्टिस बनना तय है. लॉ मिनिस्ट्री ने CJI दीपक मिश्रा को पत्र लिखकर अगले चीफ जस्टिस के नाम का प्रस्ताव मांगा था. इसके बाद CJI दीपक मिश्रा ने मंत्रालय को अपने बाद बनने वाले चीफ जस्टिस का नाम भेजा है. आइये आपको बताते हैं कि भारत में प्रधान न्यायाधीश या चीफ जस्टिस के चयन की प्रक्रिया क्या होती है और कौन इसके लिए योग्य होता है. 
  • जब जस्टिस दीपक मिश्रा ने की आधी रात को सुनवाई, ये हैं उनके 5 ऐतिहासिक फैसले
    चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा दो अक्टूबर को रिटायर होने जा रहे हैं. उन्होंने जस्टिस रंजन गोगोई का नाम अगले CJI के लिए केंद्र सरकार को भेजा है. जस्टिस दीपक मिश्रा ने 14 फरवरी 1977 को उड़ीसा हाई कोर्ट में वकालत की प्रैक्टिस शुरू की थी. इसके बाद 1996 में उन्हें उड़ीसा हाई कोर्ट का एडिशनल जज बनाया गया और बाद में उनका ट्रांसफर मध्य प्रदेश हाई कोर्ट  कर दिया गया. इसके बाद वे दिसंबर 2009 में पटना हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस बने. 24 मई 2010 में दिल्ली हाई कोर्ट में बतौर चीफ जस्टिस उनका ट्रांसफर हुआ और 10 अक्टूबर 2011 को उन्हें सुप्रीम कोर्ट का जज बनाया गया. पिछले साल 28 अगस्त को उन्होंने बतौर चीफ जस्टिस कार्यभार ग्रहण किया. सुप्रीम कोर्ट में अपने कार्यकाल के दौरान जस्टिस दीपक मिश्रा ने कई ऐतिहासिक फैसले सुनाये. बहुचर्चित निर्भया कांड में दोषियों की सजा को बरकरार रखने का उनका फैसला लैंडमार्क माना गया. तो वहीं आतंकी याकूब मेमन की फांसी से ऐन पहले आधी रात को सुनवाई की और सजा बरकरार रखी. आइये आपको चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के ऐसे ही पांच ऐतिहासिक फैसलों के बारे में बताते हैं. 
  • केरल के बाद अब उत्तर प्रदेश में भारी बारिश ने मचाई तबाही, अब तक 254 की मौत, 10 बड़ी बातें
    उत्तर प्रदेश में जानलेवा बनी बारिश की वजह से पिछले 24 घंटे के दौरान 16 की मौत हो गयी है और 12 जख्मी हो गये हैं. ये जानकारी राहत आयुक्त कार्यालय से प्राप्त रिपोर्ट से मिली है. इनमें शाहजहांपुर में सबसे ज्यादा छह लोगों की मौत हो गयी. इसके अलावा सीतापुर में तीन, अमेठी तथा औरैया में दो-दो और लखीमपुर खीरी, रायबरेली एवं उन्नाव में एक-एक व्यक्ति की वर्षाजनित दुर्घटनाओं में मौत हुई है. पूरे प्रदेश में ऐसे हादसों में 12 लोग जख्मी भी हुए हैं. इसके अलावा कुल 461 मकान अथवा झोपड़ियां भी क्षतिग्रस्त हुई हैं.  उत्तर प्रदेश में इस साल मानसून की बारिश में 254 लोगों की मौत हो चुकी है. पूरे देश में मानसून के दौरान 1400 से ज्यादा लोगों की गई जान गई है जिसमें सबसे ज्यादा केरल (488) में लोगों की मौत हुई है.
  • गुड़गांव जमीन सौदा मामले में रॉबर्ट वाड्रा और भूपिंदर  सिंह हुड्डा पर क्या हैं आरोप? 10 बड़ी बातें
    हरियाणा के गुरुग्राम में एक जमीन खरीद-फरोख्त के मामले में कांग्रेस की वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी के दामाद राबर्ट वाड्रा और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है. इस मामले में डीएलएफ का भी नाम दर्ज किया गया है. वहीं रॉबर्ट वाड्रा ने एनडीटीवी से कहा है कि ये चुनावों और तेल के बढ़े दामों से ध्यान हटाने की कोशिश है. मानेसर के पुलिस उपायुक्त राजेश कुमार ने बताया कि हुड्डा, वाड्रा और दो कंपनियों - डीएलएफ तथा ओंकारेश्चर प्रोपर्टीज के खिलाफ गुड़गांव के खेडकी दौला पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है.
  • Jain Muni Tarun Sagar: देश के कई मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय रखने वाले जैन मुनि तरुण सागर से जुड़ी 8 बातें
    बीते कुछ दिनों से बीमार चल रहे जैन मुनि तरुण सागर (Jain Muni Tarun Sagar) का आज 51 साल की उम्र में निधन हो गया. दरअसल, जैन मुनि तुरुण सागर पिछले कुछ दिनों से पीलिया से पीड़ित थे, जिसकी वजह से उनका इलाज एक निजी अस्पताल में चल रहा था और उन्होंने दिल्ली के शाहदरा के कृष्णानगर में शनिवार सुबह 3:18 बजे अंतिम सांस ली. दरअसल, मुनि तरुण सागर एक दिगंबर भिक्षु थे. तरुण सागर ने 'कड़वे प्रवचन' के नाम से एक बुक सीरीज स्टार्ट की थी, जिसके लिए वो काफी चर्चित रहे. क्योंकि वह अपने प्रवचन में अंधविश्वासों, मान्यताओं और गलत अभ्यासों की आलोचना किया करते थे.
  • पीएम मोदी ने नेपाल-भारत मैत्री पशुपतिनाथ धर्मशाला को समर्पित कर कहा- अपनेपन की ऐतिहासिक साझेदारी, 10 बड़ी बातें
    नेपाल के प्रधानमंत्री के. पी. शर्मा ओली द्वारा बिम्स्टेक की अध्यक्षता श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सीरीसेना को सौंपे जाने के साथ ही संगठन का चौथा शिखर सम्मेलन आज समाप्त हो गया. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और बिम्स्टेक के अन्य सदस्य देशों के शीर्ष नेताओं ने नेपाल की राजधानी काठमांडो में आयोजित इस दो दिवसीय शिखर सम्मेलन में हिस्सा लिया. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया, ‘'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य नेताओं की बिम्स्टेक प्रक्रिया को पुनर्जीवित करने की प्रतिबद्धता के साथ यह शिखर सम्मेलन सफलतापूर्वक समाप्त हो गया.'' बिम्स्टेक के मौजूदा अध्यक्ष ओली ने काठमांडो घोषणापत्र का मसौदा पेश किया जिसे सभी सदस्यों ने सर्वसम्मति से स्वीकार कर लिया. इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पशुपतिनाथ के दर्शन किये और भारत-नेपाल के रिश्तों को रेखांकित करते हुये वहां भारत के सहयोग से बने एक धर्मशाला को समर्पित किया.
  • राहुल गांधी जिस राफेल सौदे को लेकर मोदी सरकार पर उठाते रहते हैं सवाल, जानिये इस सौदे से जुड़ी हर बात
    राफेल सौदे को लेकर कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला करती रही है. इतना ही नहीं राफेल मुद्दे पर कांग्रेस ने हमला और भी तेज कर दिया है और मोदी सरकार के खिलाफ में जनआंदोलन करने का मूड बनाया है. कांग्रेस के नेता देश भर में राफेल मुद्दे पर मोदी सरकार के खिलाफ हल्ला बोलेंगे. आपको बता दें कि राहुल गांधी संसद में भी इस मामले को उठा चुके हैं और कांग्रेस पार्टी मॉनसून सत्र के दौरान भी संसद परिसर में प्रदर्शन कर चुकी है. कांग्रेस ने राफेल सौदे को नरेंद्र मोदी सरकार का एक घोटाला करार दे चुके है. पर क्‍या है ये राफेल सौदा और जानें इससे जुड़ी हर बात...
«123456789»

Advertisement